X close
X close
टॉप 10 क्रिकेट की ख़बरे

भारत ने 10 साल बाद न्यूजीलैंड में सीरीज जीती, कोहली, रोहित शर्मा और मोहम्मद शमी ने किया कमाल

by Vishal Bhagat Jan 28, 2019 • 16:48 PM

28 जनवरी। भारत ने एक और संतुलित हरफनौला प्रदर्शन के दम पर सोमवार को यहां माउंट माउंगानुई में खेले गए तीसरे वनडे मैच में न्यूजीलैंड को सात विकेट से हरा दिया। इसी के साथ भारत ने पांच मैचों की सीरीज में 3-0 की अजेय बढ़त लेते हुए जीत पक्की कर ली है। भारत ने न्यूजीलैंड के खिलाफ उसके घर में 10 साल बाद कोई द्विपक्षीय सीरीज अपने नाम की है। इससे पहले 2009 में महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में भारत ने कीवी टीम को हराया था।

न्यूजीलैंड ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला लिया लेकिन भारतीय गेंदबाजों ने उसे बड़ा स्कोर नहीं करने दिया और मेजबान टीम को 49वें ओवर में ही 243 रनों पर ढेर कर दिया। न्यूजीलैंड के लिए ने रॉस टेलर सबसे ज्यादा 93 रन बनाए और टॉम लाथम ने 51 रनों की पारी खेली। इन दोंनों के बीच तीसरे विकेट के लिए हुई 119 रनों की साझेदारी के दम पर भी किवी टीम इस स्कोर तक पहुंच सकी। 

भारत के लिए मैन ऑफ द मैच मोहम्मद शमी ने सबसे अधिक तीन विकेट लिए। वहीं भुवनेश्वर कुमार, युजवेंद्र चहल और हार्दिक पांड्या को दो-दो सफलताएं मिलीं।

इस लक्ष्य को हासिल करने उतरी भारतीय टीम को 39 के स्कोर पर शिखर धवन (28) के रूप में अपना पहला विकेट गंवाना पड़ा। धवन को ट्रैंट बाउल्ट ने टेलर के हाथों कैच आउट कर पवेलियन की राह दिखाई। 

इसके बाद, रोहित और विराट ने दूसरे विकेट के लिए 113 रनों की शतकीय साझेदारी से टीम की पारी को संभाला और उसे 152 के स्कोर तक पहुंचाया। इसी स्कोर पर मिशेल सैंटनर की गेंद पर रोहित टॉम लाथम के हाथों स्टम्प पर आउट हो गए। 

रोहित और विराट के बीच हुई यह साझेदारी वनडे क्रिकेट में दो बल्लेबाजों द्वारा सबसे अधिक बार शतकीय साझेदारी करने वाली सूची में चौथे स्थान पर है। इस सूची में सचिन तेंदुलकर और सौरव गांगुली की जोड़ी पहले स्थान पर है। दोनों वनडे क्रिकेट में 26 बार शतकीय साझेदारी की है। 

रोहित ने अपनी पारी में 77 गेंदों का सामना किया और तीन चौके तथा दो छक्के लगाए। उनके आउट होने के बाद कोहली ने अंबाती रायडू (नाबाद 40) के साथ 16 रन ही जोड़े थे कि बाउल्ट ने कोहली को हैनरी निकोल्स के हाथों कैच आउट कर भारत का तीसरा विकेट गिराया। 

रायडू ने इसके बाद, इस मैच के लिए चोटिल महेंद्र सिंह धोनी के स्थान पर अंतिम एकादश में शामिल किए गए दिनेश कार्तिक (नाबाद 38) के साथ मिलकर टीम का कोई और विकेट नहीं गिरने दिया और टीम के लिए जरूरी 77 रन हासिल कर टीम को लक्ष्य तक पहुंचाया और सात विकेट से जीत हासिल की।

इससे पहले, न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी का फैसला किया। शमी ने 10 के कुल स्कोर पर कोलिन मुनरो (7) को पवेलियन भेजा। भुवनेश्वर कुमार ने मार्टिन गुप्टिल (13) को 26 के कुल स्को पर कार्तिक के हाथों कैच करा अपनी टीम को दूसरी सफलता दिलाई। 

कप्तान केन विलियमसन (28) को चहल की गेंद पर हार्दिक पांड्या ने शानदार कैच पकड़ भारत को तीसरी सफलता दिलाई। किवी टीम संकट में थी और अपने तीन विकेट 59 रनों पर ही खो चुकी थी। यहां से टेलर और लाथम ने शतकीय साझेदारी कर टीम को संभाला। इन दोनों ने हालांकि काफी धीमी बल्लेबाजी की लेकिन इस पारी ने न्यूजीलैंड को सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचने की उम्मीद रख दी थी। 

चहल ने लाथम को आउट कर इस साझेदारी की। लाथम ने 64 गेंदों का सामना किया और एक चौका और एक छक्का मारा। उनके जाने के बाद टेलर अकेले पड़ गए। टेलर भी 222 के कुल स्कोर पर शमी की गेंद पर कार्तिक के हाथों लपके गए। टेलर के रूप में किवी टीम ने अपना सांतवां विकेट खोया। उन्होंने अपनी पारी में 106 गेंदों का सामना किया और नौ चौके मारे। 

239 के कुल स्कोर पर किवी टीम ने ईश सोढ़ी (12) और डग ब्रैसवेल (15) के विकेट खो दिए। भुवनेश्वर ने बाउल्ट (2) को आउट कर किवी टीम की पारी का अंत किया। 


TAGS