X close
X close
Indibet

INDvENG: 'बिजली से भी तेज निकला थर्ड अंपायर', 'चेट्टिथोडी शमशुद्दीन' ने अंपायरिंग से किया हैरान

Prabhat  Sharma
By Prabhat Sharma
February 26, 2021 • 13:23 PM View: 1319

India vs Englandभारत और इंग्लैंड के बीच 4 टेस्ट मैचों की सीरीज खेली जा रही है। इस सीरीज में स्पिन गेंदबाजों के अलावा अंपायरिंग ने भी काफी सुर्खियां बटोरी हैं। पिंक बॉल टेस्ट के दौरान थर्ड अंपायर चेट्टिथोडी शमशुद्दीन (Chettithody Shamshuddin) काफी चर्चा में रहे। शमशुद्दीन के कुछ फैसलों को लेकर जहां विवाद गरमाया वहीं फैंस ने जमकर उनकी अंपायरिंग का लुफ्त उठाया।

बिना वक्त गंवाए फैसला सुनाते हुए दिखे चेटिथोडी शमशुद्दीन: थर्ड अंपायर शमशुद्दीन के अंपायरिंग की खास बात यह रही कि वह बिना वक्त गंवाए जल्द से जल्द फैसला सुनाते हुए नजर आए थे। हालांकि उन्होंने एक फैसला इतनी जल्दी सुना दिया कि इंग्लैंड के खिलाड़ी भी मैदान पर हंस पड़े थे। इसके अलावा उनका बोलने का अंदाज भी लोगों को काफी भाया था।

Trending


2 रिप्ले देखकर ही सुनाया फैसला: टीम इंडिया की पहली पारी के दौरान स्लिप में खड़े स्टोक्स ने शुभमन गिल का कैच पकड़ा था जिसे ऑनफील्ड अंपायर द्वारा आउट करार दिया गया था। फील्ड अंपायर को इस कैच पर संदेह हुआ तो उन्होंने मामले को थर्ड अंपायर की ओर बढ़ा दिया। चेटिथोडी शमशुद्दीन ने सिर्फ दो रिप्ले देखकर ही भांप लिया कि स्टोक्स ने कैच नहीं पकड़ा है और अपना फैसला सुनाते हुए गिल को नॉट आउट करार दिया।

ऑनफील्ड अंपायर अनिल चौधरी के फैसले को कुछ ही सेंकड में दिया था बदल: मैच के दौरान ऑन-फील्ड अंपायर अनिल चौधरी ने जो रूट को Lbw करार दिया। ऑनफील्ड अंपायर के इस फैसले के बाद रूट ने रिव्यू लेने का फैसला किया। बल्ला गेंद के काफी करीब था लेकिन फिर भी थर्ड अंपायर ने ऑन-फील्ड अंपायर के फैसले को उलट दिया और कुछ ही सेंकड में रूट को नॉटआउट करार दिया। 

2013 में तीसरे अंपायर की श्रेणी में किए गए थे नियुक्त: आईसीसी के इंटरनैशनल पैनल ने 2013 में  भारतीय प्रतिनिधि के रूप में चेट्टिथोडी शमशुद्दीन को नियुक्त किया था। शमशुद्दीन ने भारत और इंग्लैंड के बीच खेले गए ट्वेंटी-20 मैच के जरिए इंटरनैशनल मैच में अपना डेब्यू किया था। 


Win Big, Make Your Cricket Prediction Now

 
LivePools