X close
X close
Indibet

क्या होती है सरोगेसी? जिससे 46 साल की उम्र में मां बनीं पंजाब किंग्स की मालकिन प्रीति जिंटा

Prabhat  Sharma
By Prabhat Sharma
November 18, 2021 • 18:11 PM View: 1162

आईपीएल टीम पंजाब किंग्स की मालकिन प्रीति जिंटा सरोगेसी से 46 साल की उम्र में मां बनी हैं। प्रीति जिंटा के घर जुड़वा बच्चों का आगमन हुआ है। जुड़वा बच्चों में एक लड़का और एक लड़की है। प्रीति जिंटा ने पोस्ट शेयर करते हुए इस बारे में जानकारी दी है। आइए जानते हैं कि आखिर सरोगेसी होती क्या है?

सरोगेसी के माध्यम से शादीशुदा कपल बच्चा पैदा करने के लिए किसी महिला की कोख किराए पर लेते हैं। सरोगेसी से बच्चा पैदा करने के पीछे कई कारण हो सकते हैं- जैसे किसी कारणवश कपल के अपने बच्चे नहीं हो पा रहे हों, महिला की जान को खतरा है या कोई महिला खुद बच्चा पैदा करना चाहती ही नहीं। ऐसे में जो औरत अपनी कोख में दूसरे का बच्चा पालती है, उसे सरोगेट मदर कहते हैं।

Trending


सरोगेसी भी दो तरह की होती है। पहली ट्रेडिशनल सरोगेसी जिसमें पिता का स्पर्म सरोगेसी अपनाने वाली महिला के एग्स से मैच कराया जाता है। इस सरोगेसी में जैनिटक संबंध सिर्फ पुरुष से ही होता है। दूसरा होता है जेस्टेशनल सरोगेसी जिसमें माता-पिता के स्पर्म और एग्स को मेल टेस्ट ट्यूब के जरिए मेल कराने के बाद इसे सरोगेट मदर के यूट्रस में प्रत्यारोपित कर दिया जाता है।

Also Read: T20 World Cup 2021 Schedule and Squads

बता दें कि यह पूरी तरह से कानूनी प्रक्रिया होती है जिसमें सरोगेसी मदर और बच्चे की चाह रखने वाले कपल के बीच एग्रीमेंट होता है। प्रीति जिंटा ही नहीं बॉलीवुड के कई सेलेब्स जैसे शाहरुख खान, आमिर खान, करण जौहर भी सरोगेट पैरेंटस बन चुके हैं।


Win Big, Make Your Cricket Prediction Now

Koo