Advertisement
Advertisement

मछुआरे की तरह बीच समंदर लंगर डाले टिक गए थे एंड्रयू सायमंड्स, 'गुलाबी सर्दी' में पाकिस्तानियों के छूटे थे पसीने

एंड्रयू सायमंड्स (1975-2022): 2003 और 2007 वर्ल्ड कप में एंड्रयू सायमंड्स के योगदान को कोई भूला नहीं सकता। एंड्रयू सायमंड्स ने गुलाबी सर्दी में पाकिस्तानी गेंदबाजों के पसीने छुड़ाए थे।

Prabhat  Sharma
By Prabhat Sharma May 15, 2022 • 14:23 PM
Cricket Image for Andrew Symonds Brilliant Knock At 2003 World Cup Against Pakistan
Cricket Image for Andrew Symonds Brilliant Knock At 2003 World Cup Against Pakistan (Andrew Symonds vs pakistan)
Advertisement

वसीम अकरम, वक़ार यूनुस और शोएब अख्तर आग उगल रहे थे। ऑस्ट्रेलिया ने 86 रन पर चार विकेट गंवा दिए थे तब क्रीज पर आता है एंड्रयू सायमंड्स (Andrew Symonds) और गुलाबी सर्दियों में पाकिस्तानी गेंदबाजों के पसीने छूट जाते हैं। हम बात कर रहे हैं 2003 वर्ल्ड कप के उस मैच की जिसमें एंड्रयू सायमंड्स ने पाकिस्तानी गेंदबाजो की धज्जियां उड़ा दी थी। 11 फरवरी 2003 बेबस हालात में डिफेंडिंग चैंपियंस ऑस्ट्रेलिया ने इस टूर्नामेंट का अपना पहला मैच पाकिस्तान के खिलाफ खेला।

बेबस हालात हम इसलिए कह रहे हैं क्योंकि 2003 वर्ल्ड कप की शुरुआत से पहले शेन वॉर्न डोपिंग टेस्ट में फेल होकर वापस ऑस्ट्रेलिया लौट चुके थे। शेन वॉटसन चोटिल थे इसके अलावा माइकल बेवन और डैरेन लीमन भी टीम के साथ नहीं थे। पाकिस्तान के खिलाफ पहले मैच में वसीम अकरम, वक़ार यूनुस और शोएब अख्तर ने उनकी हालत खराब कर दी।

Trending


लेकिन, तब स्क्रीन पर एंट्री होती है हीरो की। ये हीरो थे एंड्रयू सायमंड्स जिनका 2003 वर्ल्ड कप खेलना ही तय नहीं था। सायमंड्स 2003 वर्ल्ड कप केवल और केवल रिकी पोंटिंग की वजह से खेल पाए थे। रिकी पोंटिंग को छोड़कर सायमंड्स पर किसी को भरोसा नहीं था। इससे पहले एंड्रयू सायमंड्स के नाम वनडे में 23 की एवरेज से कुल 762 रन ही थे।

लेकिन, उस दिन एंड्रयू सायमंड्स क्रीज पर टिक गए और उन्होंने रिकी पोंटिंग के भरोसे का कर्ज उतार दिया। एंड्रयू सायमंड्स जिन्हें कई मौके पर ये कहते हुए सुना जा चुका है कि अगर वो क्रिकेटर ना होते, तो निश्चित तौर पर मछुआरे या किसान होते। उस दिन वो पिच पर किसी मछुआरे की तरह बीच समंदर लंगर डाले टिक गए।

86 रन पर चार विकेट गंवाने के बाद एंड्रयू सायमंड्स ने 22 गज की पिच पर किसी मछुआरे की तरह मछलियों का इंतजार किया। यानी कि कब गेंदबाज की धुनाई करनी है। एंड्रयू सायमंड्स सधे हुए किसान की तरह फसल पकने का इंतजार करते रहे और वक्त आने पर वसीम अकरम, वक़ार यूनुस और शोएब अख्तर तीनों की धज्जियां उड़ा दी। सायमंड्स ने 125 बॉल पर 143 रन की नॉटआउट पारी खेली और ऑस्ट्रेलिया ने 50 ओवर्स में 310 रन बनाए और मैच जीत लिया।

यह भी पढ़ें: अपने पीछे इतने करोड़ की संपत्ति छोड़ गए एंड्रयू साइमंड्स, जानें लोग क्यों कहते थे उन्हें 'रॉय'

एंड्रयू सायमंड्स को वाइट बॉल क्रिकेट का दिग्गज कहा जाता था। एंड्रयू सायमंड्स ने ऑस्ट्रेलिया के लिए 26 टेस्ट, 198 वनडे और 12 T-20 मैच खेल हैं। टेस्ट में उनके नाम 1462, वनडे में 5088 और टी20 में 337 रन है। 2003 और 2007 वर्ल्ड कप में ऑस्ट्रेलिया की जीत में एंड्रयू सायमंड्स के योगदान को कोई भूला नहीं सकता।

Advertisement

Cricket Scorecard

Advertisement
Advertisement
Advertisement