X close
X close
Indibet

आईपीएल फाइनल में ट्रॉफी देने के विवाद पर डायना इडुल्जी ने तोड़ी चुप्पी,अपनी बात रखी सामनें

Saurabh Sharma
By Saurabh Sharma
May 16, 2019 • 16:34 PM View: 1438

इडुल्जी ने कहा, "मैंने यहां तक कहा था कि राय फाइनल में मौजूद रहेंगे तो वह ट्रॉफी देंगे लेकिन राय ने कहा था कि वह नहीं आएंगे। इसके बाद मैंने फाइनल के लिए थोड़गे और मेरा नाम सुझाया। हम दोनों में से कोई ट्रॉफी दे सकता था।"

पूर्व भारतीय खिलाड़ी के मुताबिक, खन्ना ने फाइनल से कुछ दिन पहले एक मेल किया था जिससे उन्होंने प्लान बदलने को लेकर सवाल किए थे लेकिन वहीं खन्ना ने उस मेल का जवाब नहीं दिया था कि क्यों बीसीसीआई अध्यक्ष ने फिरोज शाह कोटला मैदान पर हुए भारत और आस्ट्रेलिया के बीच अंतिम मैच में ट्रॉफी नहीं दी। 

Trending


उन्होंने कहा, "फाइनल से कुछ दिन पहले खन्ना ने कार्यकारी अधिकारी अमिताभ चौधरी का 2017 में लिखा गया एक मेल फॉरवर्ड किया था जिसमें कहा गया था कि

बीसीसीआई अध्यक्ष ही ट्रॉफी देंगे। खन्ना का 2017 का मेल दोबारा भेजना ओछी हरकत थी। वह 2018 में आईपीएल फाइनल में ट्रॉफी दे चुके थे। लगता है कि वह भूल गए थे कि दिल्ली के फिरोज शाह कोटला मैदान पर खेले गए भारत और आस्ट्रेलिया के मैच के दौरान उन्होंने अपने ट्रॉफी देने के अधिकार का त्याग कर दिया था।"

इडुल्जी ने कहा, "अभी तक, कार्यकारी सचिव ने खन्ना को इस बाबत कई मेल किए कि उन्होंने किस आधार पर डीडीसीए अध्यक्ष को अपनी मौजूदगी में ट्रॉफी देने दी, लेकिन इस तरह के मेल का अभी तक खन्ना ने कोई जबाव नहीं दिया है।"

इडुल्जी ने बताया कि फाइनल के दौरान खन्ना ने किस तरह मुसीबत खड़ी की और राई का पहाड़ बनाया। 

इडुल्जी ने कहा, "फाइनल के दिन उनका हमेशा की तरह ध्यान ट्रॉफी देने पर था। वह अपनी जेब में 2017 के मेल की कॉपी लेकर घूम रहे थे। मेरा मानना था कि मुझे या जनरल को ट्रॉफी देने चाहिए क्योंकि दिल्ली में खन्ना ने परंपरा का पालन नहीं किया था।"

इडुल्जी ने कहा, "अगर मेरा मकसद सिर्फ ट्रॉफी देना होता तो मैं पहले दो संस्करणों में भी इस पर जोर देती जहां मैं फाइनल में मौजूद थी। एक पूर्व भारतीय खिलाड़ी होने के नाते मैं अपने खेलने के दिनों में हमेशा से ट्रॉफी लेने के लिए प्रेरित होती थी। ट्रॉफी देना ऐसी चीज नहीं है जो मुझे प्रेरित करे। मेरा सिर्फ इतना मानना था कि खन्ना ने दिल्ली में अपनी जिम्मेदारी नहीं निभाई थी।"

इडुल्जी ने कहा, "कुछ अधिकारियों के मुताबिक, जिन्होंने आधी जानकारी दी है और तिल का ताड़ बनाया है, इसकी वजह असुरक्षा की भावना हो सकती है।" 
 



 
Article