Advertisement

धोनी और पंत की वजह से खत्म हुआ करियर, क्रिकेट छोड़ बन गया वकील

एमएस धोनी और ऋषभ पंत की वजह से एक क्रिकेटर ने वकील बनने का फैसला किया।

Shubham Yadav
By Shubham Yadav June 19, 2022 • 21:28 PM
Cricket Image for धोनी और पंत की वजह से खत्म हुआ करियर, क्रिकेट छोड़ बन गया वकील
Cricket Image for धोनी और पंत की वजह से खत्म हुआ करियर, क्रिकेट छोड़ बन गया वकील (Image Source: Google)
Advertisement

भारत में क्रिकेट को धर्म माना जाता है और टीम इंडिया के लिए खेलने का सपना लगभग हर भारतीय देखता है। लेकिन टीम इंडिया के लिए खेलना हर किसी की किस्मत में नहीं होता क्योंकि कई खिलाड़ी ऐसे होते हैं जो दशकों तक अपनी पोजिशन बनाए रखते हैं जिसके चलते कई युवा खिलाड़ी डोमेस्टिक क्रिकेट तक ही सीमित रह जाते हैं।

आज हम आपको एक ऐसे ही क्रिकेटर की कहानी बताने जा रहे हैं जिसका करियर एमएस धोनी और ऋषभ पंत की वजह से खत्म हो गया। धोनी ने एक दशक से अधिक समय तक खेल खेला और अपने करियर की शुरुआत में उन्होंने इतना अच्छा प्रदर्शन किया कि जब तक वो टीम में रहे कोई दूसरा खिलाड़ी उनकी जगह ही नहीं ले पाया।जब धोनी ने रिटायरमेंट ली तो उनकी जगह ऋषभ पंत ने ले ली। 

Trending


यही कारण था कि उत्तर प्रदेश के युवा खिलाड़ी एकलव्य द्विवेदी ने क्रिकेट छोड़कर वकील बनने का फैसला किया। घरेलू क्रिकेट में एकलव्य शानदार प्रदर्शन कर रहे थे और उन्होंने 43 प्रथम श्रेणी मैच खेलने के साथ-साथ 2016 में इंडियन प्रीमियर लीग में भी भाग लिया। हालांकि, जब इस विकेटकीपर बल्लेबाज़ को अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में भारत का प्रतिनिधित्व करने का कोई मौका नहीं मिला तो क्रिकेटर ने अपना पेशा बदलने का फैसला किया और परिवार की विरासत को जारी रखते हुए वकील बनने पर ध्यान केंद्रित किया।

न्यूज 18 के साथ बातचीत के दौरान द्विवेदी ने कहा, "ये अपने आप में एक कहानी है। मैंने कुछ समय के लिए क्रिकेट खेला है, जैसा कि आप जानते होंगे। मूल रूप से, मेरे पास कानून की पारिवारिक पृष्ठभूमि है। मेरे पास काम करने के लिए एक नींव थी। देखिए, क्रिकेट खेलने के पीछे का विचार यह था कि मैं देश के लिए खेलूंगा और जब मैंने देखा कि मौका हाथ से फिसल रहा था क्योंकि मैं उस समय तक पहले से ही तीस साल का था और एमएस (धोनी) अभी भी खेल रहा था और फिर ऋषभ (पंत) सीन में आ रहा था।”

आगे बोलते हुए द्विवेदी ने कहा, “इसलिए, मुझे अपने करियर में अगला कदम क्या होना चाहिए, इसके बारे में एक गणनात्मक कदम उठाना पड़ा। मैं घरेलू क्रिकेट और आईपीएल के और 4-5 साल और खेल सकता था, लेकिन तब मेरे लिए क्रिकेट से कानून की ओर जाना बहुत मुश्किल होता। जबकि अभी भी समय था, मैंने अपना पेशा बदलने का फैसला किया।"

Advertisement

Cricket Scorecard

Advertisement
Advertisement