X close
X close

IPL 2020: मुंबई इंडियंस ने केकेआर को 8 विकेट से रौंदा, नए कप्तान इयोन मोर्गन को पहले ही मैच में मिली हार

By IANS News
Oct 17, 2020 • 00:07 AM

कप्तानी में बदलाव कोलकाता नाइट राइडर्स को शुक्रवार को जीत नहीं दिला सका। मुंबई इंडियंस ने शेख जाएद स्टेडियम में खेले गए मैच में कोलकाता को आठ विकेट से हरा इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 13वें सीजन में अपनी लगातार छठी जीत दर्ज की। 

दिनेश कार्तिक ने शुक्रवार को दिन में ही कप्तानी से इस्तीफा दे दिया था और इंग्लैंड के इयोन मोर्गन को कप्तान बनाया। 

Also Read: IPL 2020: कमिंस, मोर्गन के दम पर कोलकाता नाइट राइडर्स ने मुंबई इंडियंस को दिया 149 रनों के लक्ष्य

मोर्गन ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया। लेकिन बल्लेबाजों ने उन्हें निराश किया पैट कमिंस (नाबाद53रन,36गेंद,5चौके,2छक्के) और मोर्गन (नाबाद39रन,29गेंद,दौचौके,दोछक्के) की मदद से किसी तरह 20 ओवरों में पांच विकेट के नुकसान पर 148 रन बनाए।

मुंबई ने शुरू से ही तेज बल्लेबाजी की और इस लक्ष्य को 16.5 ओवरों में हासिल कर लिया।

कप्तान रोहित शर्मा(35) और क्विंटन डी कॉक (नाबाद78रन,44गेंदें,9चौके,3छक्के) ने टीम को तेज शुरुआत दी। दोनों ने पहले विकेट के लिए 94 रन बनाए। 10वें ओवर की तीसरी गेंद पर शिवम मावी ने रोहित को आउट कर कोलकाता को पहला विकेट दिलाया। लेकिन अब काफी देर हो चुकी थी। डी कॉक अपना अर्धशतक पूरा कर चुके थे और पैर जमा चुके थे।

मुंबई को जीत के लिए यहां से 54 रन ही चाहिए थे और उसकी पूरी बल्लेबाजी बची हुई थी।

वरुण चक्रवर्ती ने सूर्यकुमार(10) को आउट कर मुंबई को दूसरा झटका दिया। इसके बाद हार्दिकपांड्या(नाबाद21रन,11गेंद) ने डी कॉक के साथ मिलकर टीम को जीत की सीमा पार कराई। 

कोलकाता के बड़े से बड़े बल्लेबाजों का बल्ला चल नहीं सका। चला तो पैट कमिंस का जिन्होंने अपने टी-20 करियर का पहला अर्धशतक जमाया और नए कप्तान मोर्गन के साथ छठे विकेट के लिए 87 रनों की साझेदारी की। इन दोनों के बीच यह साझेदारी बेहद अहम समय आई। टीम ने 61रनों पर ही पांच विकेट खो दिए थे। 

राहुल त्रिपाठी(7) के रूप में कोलकाता ने अपना पहला विकेट खोया। ट्रेंट बोल्ट की गेंद पर सूर्यकुमार यादव ने उनका शानदार कैच पकड़ा। दूसरे सलामी बल्लेबाज शुभमन गिल राहुल चहर की गेंद पर केरन पोलार्ड के हाथों बाउंड्री पर लपके गए। 

चहर ने ही पूर्व कप्तान दिनेश कार्तिक(4) को आउट किया। दोगें दों पर लगातार दो विकेट लेने वाले चहर हैट्रिक पूरी नहीं कर पाए। कार्तिक के जाने के बाद मोर्गन और रसेल के पास एक बार फिर मौका था कि वह अपनी टीम को मजबूत स्कोर प्रदान करें और संकट से निकालें, मोर्गन तो कुछ कामयाब रहे लेकिन रसेल एकबार फिर विफल रहे।

मोर्गन और रसेल दोनों खतरनाक बल्लेबाज हैं और इसलिए रोहित ने अपने सबसे सफल गेंदबा जजसप्रीत बुमराह को बुलाया और बुमराह,रसेल का विकेट निकालने में सफलर हे। रसेल सिर्फ 12 रनही बना सके। 

इसके बाद मोर्गन और कमिंस ने टीम को संभाला और विकेट के हिसाब अच्छा स्कोर दिया।