X close
X close

IPL 2020: कोहली सेना के आगे ढेर हुए धोनी के धुरंधर, चेन्नई को मिली एक और हार 

By Saurabh Sharma
Oct 11, 2020 • 00:06 AM

तीन बार की विजेता चेन्नई सुपर किंग्स का इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 13वें सीजन में खराब प्रदर्शन जारी है। दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम में शनिवार को खेले गए मैच में चेन्नई को रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने 37 रनों से हरा दिया। (23:54) 

बैंगलोर ने पहले बल्लेबाजी करते हुए कप्तान विराट कोहली (नाबाद 90 रन, 52 गेंदें, 4 चौके, 4 छक्के) की बेहतरीन पारी के दम पर 20 ओवरों में चार विकेट खोकर 169 रन बनाए। चेन्नई पूरे ओवर खेलने के बाद भी आठ विकेट खोकर 132 रन ही बना पाई।

Also Read: IPL 2020: दिनेश कार्तिक ने केकेआर की रोमांचक जीत के बाद की इस खिलाड़ी की तारीफ,बताया स्पेशल क्रिकेटर

कोहली जानते थे कि जीत के लिए उन्हें चेन्नई के इन-फॉर्म बल्लेबाज शेन वाटसन और फाफ डु प्लेसिस के विकेट शुरुआत में ही चाहिए होंगे। उन्होंने इसके लिए चौथे ओवर में वॉशिंगटन सुंदर को बुलाया और सुंदर ने डु प्लेसिस (8) को आउट कर दिया। सुंदर ने फिर अपने अगले ओवर में वाटसन (14) का मिडिल स्टम्प उड़ा दिया।

दो इनफॉर्म बल्लेबाज खोने के बाद चेन्नई की हालत खराब हो गई थी। 10 ओवरों में वह सिर्फ 47 रन ही बना पाई थी।

अब जिम्मेदारी अंबाती रायडू (42) और एन. जगदीशन (33) पर थी। दोनों ने 64 रन जोड़ लिए थे। इस बीच जगदीशन लापरवाही में रन आउट हो गए। उनका विकेट 89रनों पर गिरा।

अब रायडू के साथ कप्तान महेंद्र सिंह धोनी थे और चेन्नई को पांच ओवरों में 14.80 की औसत से 74 रनों की जरूरत थी। लेकिन धोनी (10) को लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल ने पवेलियन भेज दिया। अगले ओवर में सैम कुरैन (0) भी आउट हो गए और अंत में चेन्नई के हिस्से इस सीजन की पांचवीं हार आई। बैंगलोर की यह चौथी जीत है।

बैंगलोर के लिए एक बार फिर कोहली का बल्ला चला। एरॉन फिंच (2) के आउट होने के बाद मैदान पर आए कोहली ने शानदार फॉर्म में चल हे देवदत्त पडिकल के साथ मिलकर लगातार रन बनाए। शुरुआत में दोनों थोड़ी धीमी बल्लेबाजी कर रहे थे।

पडिकल की कोशिश एक और अर्धशतक जमाने की थी, लेकिन शार्दूल ठाकुर ने उन्हें 33 रनों से आगे नहीं जाने दिया। एबी डिविलियर्स खात भी नहीं खोल पाए।

बैंगलोर के लिए राहत की बात यह थी कि कोहली टिके हुए थे और पैर जमाने के बाद उन्होंने अपने शॉट्स लेने शुरू किए। इस बीच सुंदर (10) का विकेट भी बैंगलोर ने खो दिया। उनकी जगह आए शिवम दुबे (नाबाद 22) आखिरी तक कोहली के साथ खड़े रहे। दोनों ने 76 रनों की साझेदारी की और टीम को अच्छा स्कोर दिया जिसे बचाने में बैंगलोर सफल रही।