X close
X close
Indibet

लाजवाब करियर के बावजूद 'क्रिकेट के भगवान' को जिंदगी भर रहेगा इन 2 बातों का पछतावा, सचिन ने खुद खोला राज

Shubham Shah
By Shubham Shah
May 30, 2021 • 13:46 PM View: 417

वर्ल्ड क्रिकेट के सबसे महान बल्लेबाज भारत के सचिन तेंदुलकर ने मैदान पर कई कारनामे किए है। उन्होंने  भारत के लिए कई ऐसी पारियां खेली है जो क्रिकेट फैंस के मन में आज भी है।

संन्यास लेने से पहले उन्होंने 463 वनडे मुकाबले, 200 टेस्ट मैच खेला है जिसमें उनके नाम 34,000 से भी ज्यादा रन शामिल है। सचिन ने इस दौरान 100 इंटरनेशनल भी ठोके है।

Trending


इतना बेहतरीन क्रिकेट करियर रहने के बाद सचिन तेंदुलकर ने हाल ही में एक इंटरव्यू के दौरान एक ऐसी चीज का खुलासा किया जिसका पछतावा उन्हें पूरी जिंदगी रहेगा।

महान बल्लेबाज ने Cricket.com से एक खास बातचीत में कहा कि उन्हें अपनी पूरी जिंदगी भारत के महान बल्लेबाज लिटिल मास्टर यानी सुनील गावस्कर और वेस्टइंडीज के सबसे धाकड़ बल्लेबाज सर विवियन रिचर्ड्स के साथ ना खेलने का दुख रहेगा।

तेंदुलकर ने कहा," मुझे दो बातों के लिए पछतावा है। पहला ये कि मैं सुनील गावस्कर के साथ नहीं खेल पाया। मिस्टर गावस्कर मेरे हीरो थे और मैं उन्हें देखकर बड़ा हुआ पर उनके साथ ना खेलने का मलाल हमेशा रहेगा। मेरे डेब्यू से कुछ साल पहले ही उन्होंने संन्यास ले लिया।"

आगे सचिन ने कहा,"दूसरा दुख ये है कि मैं अपने बचपन के हीरो सर विवियन रिचर्ड्स के साथ नहीं खेल पाया। लेकिन मैंने काउंटी क्रिकेट में उनके खिलाफ खेला है। लेकिन मुझे इंटरनेशनल क्रिकेट में उनके खिलाफ ना खेलने का दुख है। हालांकि रिचर्ड्स ने 1991 में संन्यास लिया लेकिन इसके बीच कभी ऐसा नहीं हुआ जब दोनों को एक दूसरे के खिलाफ खेलने का मौका मिलें।"

 


Win Big, Make Your Cricket Prediction Now