Advertisement
Advertisement

'थाला धोनी' के वो 3 शर्मनाक रिकॉर्ड, खुद भी नहीं रखना चाहेंगे याद

एमएस धोनी के वो 3 शर्मनाक रिकॉर्ड जिन्हें वो खुद भी याद नहीं रखना चाहेंगे।

Shubham Yadav
By Shubham Yadav June 16, 2022 • 16:30 PM
Cricket Image for 'थाला धोनी' के वो 3 शर्मनाक रिकॉर्ड, खुद भी नहीं रखना चाहेंगे याद
Cricket Image for 'थाला धोनी' के वो 3 शर्मनाक रिकॉर्ड, खुद भी नहीं रखना चाहेंगे याद (Image Source: Google)
Advertisement

पूर्व भारतीय कप्तान और विकेटकीपर बल्लेबाज एमएस धोनी को इतिहास के सबसे महान कप्तानों में से एक माना जाता है। हालांकि, कैप्टन कूल के इंटरनेशनल करियर में कुछ ऐसे रिकॉर्ड भी बने जिन्हें ना तो वो खुद याद रखना चाहेंगे और ना ही उनके फैंस इन रिकॉर्ड्स के बारे में कभी बात करना पसंद करेंगे। आइए जानते हैं माही के वो तीन शर्मनाक रिकॉर्ड जिन्हें वो कभी याद नहीं रखना चाहेंगे।

1. बांग्लादेश में सीरीज हारने वाले पहले भारतीय कप्तान

Trending


2015 में, भारत ने बांग्लादेश के दौरे की शुरुआत की, जिसमें एक टेस्ट मैच और तीन वनडे मैच खेले गए। इस दौरे का एकमात्र टेस्ट मैच तो अंतिम समय पर ड्रा हो गया था लेकिन तीन मैचों की वनडे सीरीज में टीम इंडिया को 1-2 से हार मिली थी। सीरीज के पहले मैच में 79 रनों से हारने के बाद माही की कप्तानी में टीम इंडिया को दूसरे वनडे में भी 6 विकेट से हार का सामना करना पड़ा था। हालांकि, टीम इंडिया ने अपनी इज्जत बचा ली और तीसरा मैच 77 रन से जीत लिया। इस तरह एमएस धोनी बांग्लादेश में सीरीज हारने वाले टीम इंडिया के पहले कप्तान बन गए।

2. एशिया के बाहर कभी शतक नहीं बनाया

एमएस धोनी ने घर में बल्लेबाजी करते हुए कई कारनामे किए थे, लेकिन विदेशी जमीन पर उनका बल्ला शांत रहा। शतकों के मामले में धोनी के नाम इंटरनेशनल क्रिकेट में कुल 16 शतक हैं, जिसमें दोहरा शतक भी शामिल है। इन 16 शतकों में से धोनी ने वनडे क्रिकेट में 10 शतक और टेस्ट क्रिकेट में 6 शतक बनाए लेकिन उन्होंने अपने शतक केवल भारत, बांग्लादेश, पाकिस्तान और श्रीलंका जैसे देशों में बनाए हैं। धोनी एशिया के बाहर शतक लगाने में नाकाम रहे जो कि उनके करियर पर सवालिया निशान रहा।

3. वनडे में किसी भी भारतीय द्वारा दूसरा सबसे धीमा अर्धशतक

भारतीय क्रिकेट टीम का सामना 3 जुलाई, 2017 को वेस्टइंडीज से हुआ। एमएस धोनी ने इस मैच में वेस्टइंडीज की गेंदबाजी के खिलाफ 114 गेंदों में 54 रन बनाए। इस मैच में उन्होंने 108 गेंदों में अर्धशतक पूरा किया था। हालांकि, उस मैच में परिस्थितियाँ गंभीर थीं क्योंकि भारत ने केवल 47 रन पर तीन बड़े विकेट खो दिए थे, इसलिए धोनी को तेजी से खेलने के बजाय अपना विकेट बचाना था। माही के नाम पर एक वनडे में किसी भी भारतीय द्वारा दूसरा सबसे धीमा अर्धशतक लगाने का रिकॉर्ड है।

Advertisement

Cricket Scorecard

TAGS ms dhoni
Advertisement