Advertisement
Advertisement

प्रदर्शनकारी पहलवानों के समर्थन में आये अभिनव, नीरज, भज्जी, वीरू और निखत

भारत के ओलम्पिक के दो स्वर्ण पदक विजेता अभिनव बिंद्रा और नीरज चोपड़ा की अगुवाई में देश के बड़े खेल सितारों ने यहां जंतर-मंतर पर भारतीय कुश्ती महासंघ के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे पहलवानों के प्रति अपना समर्थन व्यक्त किया है।...

Advertisement
IANS News
By IANS News April 29, 2023 • 10:23 AM
प्रदर्शनकारी पहलवानों के समर्थन में आये अभिनव, नीरज, भज्जी, वीरू और निखत
प्रदर्शनकारी पहलवानों के समर्थन में आये अभिनव, नीरज, भज्जी, वीरू और निखत (Image Source: Google)

भारत के ओलम्पिक के दो स्वर्ण पदक विजेता अभिनव बिंद्रा और नीरज चोपड़ा की अगुवाई में देश के बड़े खेल सितारों ने यहां जंतर-मंतर पर भारतीय कुश्ती महासंघ के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे पहलवानों के प्रति अपना समर्थन व्यक्त किया है।

ओलम्पिक पदक विजेता बजरंग पुनिया और साक्षी मालिक तथा राष्ट्रमंडल खेल पदक विजेता विनेश फोगाट कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृज भूषण शरण सिंह के खिलाफ प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे हैं। बृज भूषण और कुछ कोचों पर यौन शोषण के आरोप लगाए गए हैं।

पहलवानों के समर्थन में आने वाले शीर्ष खिलाड़ियों में मौजूदा विश्व मुक्केबाजी चैंपियन निखत जरीन, क्रिकेटर हरभजन सिंह और वीरेंदर सहवाग, टेनिस स्टार सानिया मिर्जा और पूर्व महिला हॉकी कप्तान रानी रामपाल शामिल हैं।

इन सभी ने पहलवानों के समर्थन में शुक्रवार को ट्वीट किया पहलवानों के साथ खड़े हैं जो दिन भर ट्रेंड करता रहा।

सभी खिलाड़ियों ने दु:ख व्यक्त करते हुए कहा, यह बड़े अफसोस की बात है कि देश को गौरव दिलाने वाले खिलाड़ियों के साथ ऐसा व्यवहार हो रहा है। हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि इस मुद्दे को उचित ढंग से संभाला जाए और पहलवानों को न्याय मिले।

भारत के पहले ओलम्पिक स्वर्ण विजेता अभिनव बिंद्रा ने इस मुद्दे पर सबसे पहले ट्वीट किया। उन्होंने कहा, एक एथलीट के रूप में देश को अंतर्राष्ट्रीय गौरव दिलाने के लिए हम रोजाना कड़ी मेहनत करते हैं। यह शोक की बात है कि हमारे एथलीटों को भारतीय कुश्ती प्रशासन में शोषण के आरोपों के सन्दर्भ में सड़कों पर आकर प्रदर्शन करना पड़ रहा है। मेरा समर्थन उन सभी के साथ है जो प्रभावित हुए हैं।

भारत के दूसरे ओलम्पिक स्वर्ण विजेता नीरज चोपड़ा शुक्रवार को पहलवानों के समर्थन में उतरे। चोपड़ा ने एक ट्वीट में कहा, हमारे एथलीटों को न्याय की मांग करते हुए सड़कों पर देखकर दुख होता है। उन्होंने हमारे महान देश का प्रतिनिधित्व करने और हमें गौरवान्वित करने के लिए कड़ी मेहनत की है।

चोपड़ा ने कहा, जो हो रहा है वह कभी नहीं होना चाहिए। यह एक संवेदनशील मुद्दा है और इससे निष्पक्ष और पारदर्शी तरीके से निपटा जाना चाहिए।

टोक्यो ओलम्पिक के रजत पदक विजेता पहलवान रवि कुमार दहिया ने कहा, सैनिक और खिलाड़ी देश का गौरव हैं और उन्हें सम्मान देना हमारी सभी की जिम्मेदारी है।

निखत जरीन ने ट्वीट में कहा,ओलम्पिक और विश्व पदक विजेताओं को ऐसे प्रदर्शन करते देखना दुखद है। खिलाड़ी देश के लिए सम्मान और गौरव लाते हैं। मैं उम्मीद करती हूं कि उन्हें जल्द न्याय मिलेगा।

पूर्व क्रिकेटर और सांसद हरभजन सिंह ने कहा, साक्षी और विनेश देश का गौरव हैं। एक खिलाड़ी के रूप में मुझे यह देखकर पीड़ा हो रही है कि हमारे देश के गौरव को सड़कों पर आकर प्रदर्शन करना पड़ रहा है। मैं प्रार्थना करता हूं कि उन्हें जल्दी न्याय मिले।

पूर्व भारतीय ओपनर सहवाग ने कहा, यह बहुत निराशाजनक है कि देश के लिए गौरव लाने वाले खिलाड़ी अन्याय के खिलाफ सडकों पर प्रदर्शन कर रहे हैं।

पूर्व ग्रैंड स्लैम चैंपियन सानिया मिर्जा ने कहा, एक खिलाड़ी और एक महिला के तौर पर यह देखना मुश्किल है। अब समय है कि इस संकट के समय उनके साथ खड़े हों। यह एक संवेदनशील मामला है और इसे ध्यान से देखा जाना चाहिए।

पूर्व भारतीय ओपनर और राजनीतिज्ञ नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि यह आश्चर्यजनक है कि नौ महिलाओं ने शिकायत की है लेकिन कोई एफआईआर दर्ज नहीं की गयी है।

विनेश की चचेरी बहन गीता फोगाट ने भारतीय ओलम्पिक संघ (आईओए) की अध्यक्ष पीटी उषा को पहलवानों की आलोचना करने के लिए आड़े हाथों लिया है।

गीता ने कहा, एक व्यक्ति ऐसे गंभीर आरोपों का सामना कर रहा है लेकिन उसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है और आप (पीटी उषा) पहलवानों को अनुशासनहीन बता रही हैं।

Also Read: IPL T20 Points Table

पूर्व महिला हॉकी कप्तान रानी रामपाल ने कहा कि पहलवानों को न्याय मिलना चाहिए।


Advertisement
TAGS
Advertisement
Advertisement
Advertisement