Advertisement
Advertisement

पहली 10 गेंदों में गेंदबाजों को नेस्त-ए-नाबूद करने की है आदत, 6 साल दूसरे देश में रहकर सीखा क्रिकेट

Netherlands vs England: इंग्लैंड के 25 साल के खिलाड़ी फिल साल्ट ने नीदरलैंड के खिलाफ वनडे क्रिकेट का अपना पहला शतक बनाया। फिल साल्ट पहली 10 गेंदों पर गेंदबाजों का काल बन जाते हैं।

Prabhat  Sharma
By Prabhat Sharma June 17, 2022 • 19:26 PM
Cricket Image for पहली 10 गेंदों में गेंदबाजों को नेस्त-ए-नाबूद करने की है आदत, 6 साल दूसरे देश में
Cricket Image for पहली 10 गेंदों में गेंदबाजों को नेस्त-ए-नाबूद करने की है आदत, 6 साल दूसरे देश में (ENG vs NED Phil Salt)
Advertisement

ENG vs NED: क्रिकेट का खेल पूरी तरह से बदल चुका है। टी-20 हो या वनडे बल्लेबाज खासतौर से सलामी बल्लेबाज तूफान की रफ्तार से रन बनाने की कोशिश करता है। वीरेंद्र सहवाग को छोड़ दें तो चाहे अन्य कोई बल्लेबाज कितना भी तूफानी क्यों न हो, उसे अपने पैर जमाने में थोड़ा समय जरूर लगता है। बल्लेबाज कुछ गेंदें देखता है और फिर आंखें जमने के बाद अटैक करता है। सहवाग के बाद एक और बल्लेबाज है जो पहली ही गेंद से विपक्षी टीम पर अटैक करने के लिए जाना जाता है।

इस खिलाड़ी का नाम है फिल साल्ट अगर इस खिलाड़ी के पहली 10 गेंदों की स्ट्राइक देखें तो किसी भी गेंदबाज के होश उड़ सकते हैं। इंग्लैंड और नीदरलैंड के खिलाफ खेले जा रहे मैच में एकबार फिर इस बल्लेबाज ने गेंदबाजों को कूटा है। 

Trending


सहवाग की ही तरह पहली गेंद पर चौका मारने की है आदत
पहली गेंद पर चौका मारने की आदत के लिए फिल साल्ट अपने दोस्तों के बीच मशहूर है। ल्यूक राइट ने एक बार साल्ट के बारे में कहा था, 'विपक्षी टीम के लिए फिल साल्ट बहुत खतरनाक और डरावने हैं। वो पहली गेंद पर चौका लगाने की कोशिश करते हैं और ज्यादातर बार वो ऐसा करने में कामयाब भी होते हैं। अगर फिल साल्ट खड़े रहते हैं तो वह ज्यादा गेंदे नहीं लेते।'

पहली 10 गेंदों पर है सबसे ज्यादा स्ट्राइक रेट
2019 से खेले गए सभी टी20 मैचों के आंकड़ों पर नजर डालें तो फिल साल्ट की दहशत का पता चलता है। फिल साल्ट का पहली 10 गेंदों में स्ट्राइक रेट सबसे ज्यादा है। पहली 10 गेंदों के दौरान फिल साल्ट का स्ट्राइक रेट 149.30 है। ये आंकड़े बताते हैं कि फिल साल्ट शुरुआत में कितने खतरनाक होते हैं।

वेस्टइंडीज में सीखी क्रिकेट की बारीकियां
फिल साल्ट ने इंग्लैंड में नहीं बल्कि वेस्ट इंडीज में क्रिकेट की बारीकियां सीखी हैं। फिल साल्ट का जन्म वेल्स में हुआ था लेकिन 9 साल की उम्र में पिता के काम की वजह से वो बारबाडोस चले गए और 15 साल की उम्र तक वहीं रहे। वहां जाकर उनका फोकस क्रिकेट पर शिफ्ट हुआ और यहीं से साल्ट ने क्रिकेटर बनने का फैसला किया। 

यह भी पढ़ें: इंडिया का वो क्रिकेटर जिसे विज़्डन मरा हुआ मानती है, 37 सालों से नहीं मिला शरीर

डेविड मलान के साथ जोड़े 222 रन
फिल साल्ट ने नीदरलैंड के खिलाफ 122 रन बनाए। इस पारी में उन्होंने 93 गेंदों का सामना किया जिसमें 14 चौके और तीन छक्के शामिल हैं। 131.18 के स्ट्राइक रेट से बल्लेबाजी करते हुए साल्ट की ये पारी तब आई जब इंग्लैंड को इसकी जरूरत थी। इंग्लैंड ने दूसरे ओवर में जेसन रॉय का विकेट गंवा दिया था। डेविड मलान के साथ मिलकर साल्ट ने दूसरे विकेट के लिए 222 रन जोड़े और टीम को मजबूत स्थिति में पहुंचा दिया।

Advertisement

Cricket Scorecard

Advertisement
Advertisement