Advertisement
Advertisement

आईपीएल की चमक और ग्लैमर से ऑस्ट्रेलिया से वनडे सीरीज की हार की कसक कम नहीं होगी: गावस्कर

महान सलामी बल्लेबाज सुनील गावस्कर का कहना है कि आईपीएल के आगामी सत्र की चमक और ग्लैमर से इस महीने के शुरू में ऑस्ट्रेलिया से वनडे सीरीज में मिली 1-2 की हार की कसक कम नहीं होगी।

IANS News
By IANS News March 30, 2023 • 19:14 PM
Hope glitz and glamour of IPL will not erase India's ODI series loss to Australia: Sunil Gavaskar
Hope glitz and glamour of IPL will not erase India's ODI series loss to Australia: Sunil Gavaskar (Image Source: IANS)
Advertisement

महान सलामी बल्लेबाज सुनील गावस्कर का कहना है कि आईपीएल के आगामी सत्र की चमक और ग्लैमर से इस महीने के शुरू में ऑस्ट्रेलिया से वनडे सीरीज में मिली 1-2 की हार की कसक कम नहीं होगी।

भारत में अक्टूबर-नवम्बर में होने वाले वनडे विश्व कप की तैयारी के लिए भारत ने मुम्बई में पहला वनडे पांच विकेट से जीत लिया था लेकिन अगले दो वनडे विशाखापत्तनम और चेन्नई में क्रमश: 10 विकेट और 21 रन से गंवा दिए। भारत इस तरह चार साल बाद घर में वनडे सीरीज हार गया।

Trending


गावस्कर ने कहा, भारत का चार साल बाद घर में वनडे सीरीज हारना सुर्खियां बनानी चाहिए थीं। लेकिन ऐसा नहीं हुआ क्योंकि सबका ध्यान आगामी इंडियन प्रीमियर लीग पर लगा हुआ था।

उन्होंने कहा, शायद सभी नहीं, क्योंकि भारतीय टीम का सपोर्ट स्टाफ -कोच राहुल द्रविड़ और उनके सहयोगी जो किसी आईपीएल फ्रेंचाइजी से जुड़े नहीं हैं -के पास सुधार देखने के लिए पूरा आईपीएल रहेगा।

गावस्कर ने गुरूवार को स्पोर्ट्सस्टार में अपने कालम में लिखा, उम्मीद है कि दुनिया की बेहतरीन टी20 लीग की चमक और ग्लैमर से सीरीज हार की कड़वी यादें नहीं मिटेंगी। इस हार से खिलाड़ियों को अपना सर्वश्रेष्ठ हासिल करने के लिए प्रेरित होना चाहिए।

1983 की वनडे विश्व कप विजेता टीम के सदस्य गावस्कर ने भारतीय बल्लेबाजी के पतन पर भी चिंता जताई। मुंबई में 189 का पीछा करते हुए भारत एक समय 83/5 पर संघर्ष कर रहा था लेकिन केएल राहुल और रवींद्र जडेजा ने भारत को जीत की मंजिल पर पहुंचा दिया।

भारत विशाखापत्तनम में दूसरे मैच में 117 रन पर लुढ़क गया और चेन्नई में धीमी पिच पर 270 का पीछा करते हुए 49.1 ओवर में 248 रन पर लुढ़क गया।

गावस्कर ने कहा, इस हार से पता चलता है कि बल्लेबाजी में सुधार करने की जरूरत है। भारतीय बल्लेबाजी पहले जैसी भरोसेमंद नहीं रही है। गेंदबाजी ठीक है और फील्डिंग में भी सुधार देखने को मिला है।

भारत विशाखापत्तनम में दूसरे मैच में 117 रन पर लुढ़क गया और चेन्नई में धीमी पिच पर 270 का पीछा करते हुए 49.1 ओवर में 248 रन पर लुढ़क गया।

Also Read: IPL के अनसुने किस्से

Advertisement

Cricket Scorecard

Advertisement
Advertisement