X close
X close
टॉप 10 क्रिकेट की ख़बरे

आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप-2019, देखें किस टीम में है कितना दम ! 

by Saurabh Sharma May 28, 2019 • 11:41 AM

वनडे क्रिकेट का महाकुम्भ आईसीसी वर्ल्ड कप को शुरू होने में सिर्फ 2 दिन का समय रह गया है। इसमें भाग लेने वाली सभी 10 टीमों ने इसके लिए कमर कस ली है। इस साल भारत तथा मेजबान इंग्लैंड को खिताब का प्रबल दावेदार माना जा रहा है। भारत तीसरी बार और इंग्लैंड पहली बार यह प्रतिष्ठित खिताब हासिल करने की कोशिश करेगा। 

इंग्लैंड और वेल्स की संयुक्त मेजबानी में इसी साल 30 मई से 14 जुलाई तक होने वाले आईसीसी वर्ल्ड कप में 10 टीमें भाग ले रही हैं। इनमें मौजूदा चैम्पियन ऑस्ट्रेलिया (1987, 1999, 2003, 2007 और 2015 का विजेता), भारत (1983 और 2011 का विजेता), वेस्टइंडीज (1975 व 1979 का विजेता), पाकिस्तान (1992 का विजेता), श्रीलंका (1996 का विजेता), अफगानिस्तान, बांग्लादेश, इंग्लैंड, न्यूजीलैंड और साउथ अफ्रीका शामिल हैं। 

क्रिकेट की इस सबसे बड़ी प्रतियोगिता को शुरू होने में 100 दिन से भी कम का समय बचा है और विभिन्न देशों के दिग्गजों ने अपनी-अपनी टीम को इसका प्रबल दावेदार बताना भी शुरू कर दिया है, लेकिन यह देखना बड़ा दिलचस्प होगा कि वर्ल्ड कप-2019 के लिए इस बार किस टीम में कितना दम है। 

नजर डालते हैं इस साल वर्ल्ड कप में हिस्सा लेने वाली टीमों पर : 

भारत : (दो बार की चैम्पियन)

वर्ष 1983 और 2011 के वर्ल्ड चैम्पियन भारत को इस बार हर कोई खिताब का प्रबल दावेदार मान रहा है। आक्रामक कप्तान विराट कोहली की कप्तानी वाली भारतीय टीम ने 2018 में एशिया कप जीतने के अलावा साउथ अफ्रीका और वेस्टइंडीज के खिलाफ भी सीरीज जीती है। टीम ने हाल में ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड को उसके घर में ही वनडे सीरीज में मात देकर बता दिया है कि वह सिर्फ कागजों पर ही नहीं बल्कि मैदान में भी खिताब की दावेदार हैं। 

क्रिकेट के तीनों विभागों (बल्लेबाजी, गेंदबाजी और फील्डिंग) में टीम का संतुलित होना, उसके लिए प्लस प्वाइंट माना जा रहा है। रन मशीन कोहली, कलाई के स्पिनर कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल टीम के गेम चेंजर साबित हो सकते हैं। टीम का मध्यक्रम हालांकि उसके लिए चिंता सबब है, लेकिन हालिया सीरीज में टीम इस कमी से पार पाती दिख रही है।

इंग्लैंड : (तीन बार फाइनल)

भारत के साथ अगर किसी को वर्ल्ड कप का दावेदार माना जा रहा है तो वह मेजबान इंग्लैंड हैं। 1975 में वर्ल्ड कप के शुरू होने से लेकर अब तक इंग्लैंड ने हर बार इस टूर्नामेंट में हिस्सा लिया है, लेकिन वह आज तक कभी चैम्पियन बनने के सपने को पूरा नहीं कर पाया है। 

क्रिकेट की जन्मस्थली इंग्लैंड अब तक तीन बार 1979, 1987 और 1992 में फाइनल तक जरुर पहुंचा है लेकिन तीनों बार उसे उप-विजेता के तमगे से ही संतोष करना पड़ा है। 

मेजबान होने के नाते इंग्लैंड को घरेलू परिस्थितियों का फायदा मिलेगा, इसलिए वह इस बार खिताब का प्रबल दावेदार है। लेकिन यह देखना दिलचस्प होगा कि क्या उसे इतना फायदा मिलेगा कि वह इस बार अपने खिताबी सूखे को समाप्त कर पाएगी। 

इयोन मोर्गन की कप्तानी वाली इंग्लैंड मौजूदा समय में वनडे रैंकिंग में नंबर-1 स्थान पर काबिज है। मेजबान टीम के पास जॉनी बेयरस्टो, जोए रूट, मोर्गन और विकेटकीपर जोस बटलर के रूप में कई ऐसे खिलाड़ी हैं जो किसी भी बड़े लक्ष्य का सफलतापूर्वक पीछा कर सकते हैं। उसकी बड़ा लक्ष्य हासिल करने की क्षमता उसकी सबसे बड़ी ताकत है।

ऑस्ट्रेलिया : (पांच बार की चैम्पियन)

वर्ल्डकप के इतिहास की सबसे सफल टीम ऑस्ट्रेलिया के सामने मौजूदा चैम्पियन होने के नाते अपना खिताब बचाने की चुनौती है। पिछले कुछ समय से खराब प्रदर्शन के बाद ऑस्ट्रेलिया ने दमदार वापसी करते हुए भारत और पाकिस्तान को लगातार वनडे सीरीज से मात दी है। 

बीते साल बॉल टेम्परिंग मामले में स्टीवन स्मिथ और डेविड वार्नर पर एक-एक साल का प्रतिबंध झेलने के बाद लौटे हैं और इन दोनों के आने से ऑस्ट्रेलियाई टीम को बहुत मजूबती मिली है। 

वर्ष 1987, 1999, 2003, 2007 और 2015 की चैम्पियन ऑस्ट्रेलिया है। 


Read More