X close
X close

कपिल देव ने फिर कसा कोहली पर तंज़, कहा- 'सेलेक्टर्स अगर इज्जत देने के लिए 'रेस्ट' नाम का इस्तेमाल कर रहे हैं तो इसमें कोई बुराई नहीं है'

भारत के पूर्व महान कप्तान कपिल देव ने एक बार फिर से विराट कोहली को लेकर एक बयान दिया है जो चर्चा का केंद्र बना हुआ है।

Shubham Yadav
By Shubham Yadav July 16, 2022 • 20:25 PM

टीम इंडिया के स्टार बल्लेबाज़ विराट कोहली हाल के दिनों में अपने सबसे खराब दौर से गुजर रहे हैं और कई लोगों ने सुझाव दिया है कि पूर्व कप्तान टेस्ट और वनडे मैचों पर ध्यान केंद्रित करने के लिए सबसे छोटे प्रारूप (टी-20) से बाहर हो सकते हैं और कुछ ने ये भी कहा है कि वो जिस फॉर्म में हैं, वो अब T20 लाइन-अप में जगह नहीं बना सकते हैं।

कोहली ने मौजूदा इंग्लैंड दौरे पर 5 पारियों में सिर्फ 59 रन बनाए हैं और कई लोगों ने कहा है कि फॉर्म में वापस आने के लिए खेलना उनके लिए सबसे अच्छा होगा। हालांकि, कोहली को वेस्टइंडीज दौरे के लिए आराम दिया गया है लेकिन भारत के पूर्व ऑलराउंडर कपिल देव ने कहा कि ये संभावना हो सकती है कि शायद सेलेक्टर्स ने उन्हें ड्रॉप ही किया है लेकिन  'ड्रॉप्ड' शब्द का इस्तेमाल नहीं करके उन्होंने रेस्ट शब्द का इस्तेमाल किया है क्योंकि वो कोहली को सम्मान देना चाहते थे।

Trending


एबीपी न्यूज पर बोलते हुए, कपिल ने कहा, "मैं ये नहीं कह सकता कि विराट कोहली जैसे खिलाड़ी को बाहर कर दिया जाना चाहिए। वो एक बड़ा खिलाड़ी है। अगर आप कहते हैं कि सम्मान के तौर पर उन्हें आराम दिया गया है तो इसमें कोई बुराई नहीं है। सबसे महत्वपूर्ण बात ये है कि कोहली जैसा खिलाड़ी फॉर्म में कैसे लौट सकता है। वो कोई साधारण क्रिकेटर नहीं है। उसे और अभ्यास करना चाहिए, अपने पुराने फॉर्म में वापस आने के लिए अधिक मैच खेलने चाहिए। मुझे नहीं लगता कि अभी टी20 में कोहली से बड़ा खिलाड़ी है लेकिन जब आप अच्छा नहीं कर रहे हों तो चयनकर्ता उनका फैसला ले सकते हैं।"

आगे बोलते हुए पूर्व कप्तान ने कहा,  "मेरी सोच ये है कि अगर कोई अच्छा नहीं कर रहा है तो उसे आराम दिया जा सकता है या हटाया जा सकता है।" आपको बता दें कि कपिल ने इससे पहले भी कोहली को लेकर एक बयान दिया था जिसे लेकर काफी बवाल मचा था ऐसे में ये देखना दिलचस्प होगा कि उनके इस बयान का क्या असर पड़ता है। फिलहाल कई अन्य वरिष्ठ खिलाड़ियों की तरह कपिल ने भी सुझाव दिया है कि कोहली को पुराने आत्मविश्वास को वापस पाने के लिए रणजी ट्रॉफी या किसी अन्य घरेलू टूर्नामेंट खेलने के लिए वापस जाना पड़ सकता है।"