X close
X close

मिस्बाह-उल-हक ने पाकिस्तान क्रिकेट टीम के मुख्य चयनकर्ता पद से इस्तीफे का किया ऐलान

By IANS News
Oct 14, 2020 • 21:30 PM

पाकिस्तान क्रिकेट टीम के मुख्य चयनकर्ता और मुख्य कोच की दोहरी भूमिका निभा रहे मिस्बाह उल हक ने मुख्य चयनकर्ता पद से इस्तीफा देने की घोषणा की है। हालांकि वह मुख्य कोच के पद पर बने रहेंगे। मिस्बाह सितंबर 2019 से ही दोनों पदों पर अपनी भूमिका निभा रहे हैं। मिस्बाह ने कहा है कि उन्होंने अगले दो साल में आगे आने वाले काम के दबाव को देखते हुए मुख्य चयनकर्ता के पद से हटने का फैसला किया है और अब वह मुख्य कोच की भूमिका पर अधिक ध्यान लगाना चाहते हैं।

मिस्बाह ने बुधवार को संवाददाता सम्मेलन में कहा, "कोचिंग मेरा जुनून है और मेरा अंतिम उद्देश्य खिलाड़ियों के विकास में योगदान देना और टीम को बड़ी सफलता हासिल करने में मदद करना है। जब मुझे पिछले साल नियुक्त किया गया था, तो मुझे पहले कोचिंग की भूमिका की पेशकश की गई थी और फिर चयन समिति के प्रमुख का भी विकल्प दिया गया था, जिसे मैंने विनम्रतापूर्वक स्वीकार कर लिया था।"

Also Read: IPL 2020: दिल्ली कैपिटल्स ने राजस्थान के खिलाफ टॉस जीतकर लिया बल्लेबाजी का फैसला, देखें दोनों टीमों का प्लेइंग XI

उन्होंने कहा, "पूर्ण प्रवाह में नई क्रिकेट एसोसिएशन प्रणाली के साथ, मुख्य चयनकर्ता को जितना संभव हो उतना घरेलू क्रिकेट देखने में सक्षम होना चाहिए। 24 महीने के बाद अब बड़े होने के साथ, हम पारस्परिक रूप से सहमत हुए हैं कि अब मेरे लिए पूरी तरह से एक भूमिका पर केंद्रित होने की जरूरत है।"

मिस्बाह हालांकि एक दिसंबर से नए मुख्य चयनकर्ता के कार्यभार संभालने तक अपनी भूमिका को जारी रखेंगे।

मिस्बाह ने कहा, "मैंने इस दोहरी भूमिका का बखूबी आनंद लिया, लेकिन पिछले 12 महीने की समीक्षा के बाद और अगले 24 महीने के अपने कार्यकाल को देखते हुए मैंने यह फैसला लिया है।"

इस बीच, पीसीबी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी वसीम खान ने कहा कि बोर्ड 'मिस्बाह के फैसले का तहे दिल से सम्मान करता है।'

पीसीबी ने एक बयान में कहा, "जब उन्होंने राष्ट्रीय मुख्य कोच की भूमिका निभाई, तो उस समय की परिस्थितियों के कारण हमें मुख्य चयनकर्ता की भूमिका निभाने की भी जरूरत थी।"

बोर्ड ने कहा, "पाकिस्तान के पास तीन वैश्विक कार्यक्रम हैं, जिनमें दो एशिया कप और आईसीसी टी 20 विश्व कप 2021 हैं। साथ ही अगले 24 वर्षो में 10 फ्यूचर टूर प्रोग्राम प्रतिबद्धताएं हैं। राष्ट्रीय टीम के मुख्य कोच के रूप में उन्होंने अपनी प्राथमिकताओं पर भरोसा किया है कोचिंग पर पूरी तरह से ध्यान केंद्रित करके वांछित परिणाम उत्पन्न करने का एक बेहतर मौका। हम इस पर उनकी सोच का समर्थन करके बहुत खुश हैं।"

मिस्बाह के मुख्य चयनकर्ता और मुख्य कोच रहते पाकिस्तान ने सिर्फ दो सीरीज खेली है जहां उसे मिलीजुली सफलता मिली थी।

पाकिस्तान ने इस साल जनवरी में बांग्लादेश के साथ सीरीज खेली थी, जहां उसे तीन टी-20 मैचों की सीरीज में 2-0 से हार का सामना करना पड़ा था, जबकि पहले टेस्ट मैच के बाद कोरोना के कारण यह सीरीज बीच में ही रोकनी पड़ी थी। पहले टेस्ट में हालांकि पाकिस्तान को जीत मिली थी।