X close
X close

रणजी ट्रॉफी राउंडअप: जीवनजोत, अनमोलप्रीत व गुरकीरत के शतकों से पंजाब मजबूत

by Saurabh Sharma Oct 26, 2017 • 00:13 AM

नई दिल्ली, 26 अक्टूबर (CRICKETNMORE)| जीवनजोत सिंह (238) के दोहरे शतक के बाद अनमोलप्रीत सिंह (113) और गुरकीरत सिंह (114) के शतकों की बदौलत पंजाब ने रणजी ट्ऱॉफी के ग्रुप-डी के मैच में गोवा के खिलाफ पहली पारी में 635 रनों का विशाल स्कोर खड़ा कर अपनी स्थिति मजबूत कर ली है। पोरवोरियम में खेले जा रहे इस मैच के दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक गोवा ने सधी हुई शुरुआत करते हुए एक विकेट के नुकसान पर 94 रनों के स्कोर के साथ दिन का अंत किया। 

पंजाब ने पहले दिन का अंत दो विकेट के नुकसान पर 396 रनों के स्कोर के साथ किया। मंगलवार को 215 रनों के स्कोर पर नाबाद लौटने वाले जीवनजोत दूसरे दिन अपने खाते में सिर्फ 23 रनों का इजाफा कर पाए और 238 के निजी स्कोर पर आउट हो गए। उन्होंने अपनी पारी में 30 चौकों के साथ एक छक्का लगाया। उनसे पहले अनमोलप्रीत अपने स्कोर मे सिर्फ 10 रन जोड़कर पवेलियन लौट गए थे। 

यहां से गुरकीरत ने जिम्मा संभाला और अभिषेक गुप्ता (25), तरुवर गोहली (28), विनय चौधरी (23) के साथ छोटी-छोटी साझेदारियां करते हुए टीम को 635 के स्कोर तक पहुंचाने में अहम भूमिका निभाई। भारतीय क्रिकेटर दिनेश कार्तिक की वाइफ है बेहद खूबसूरत, जरूर देखें  

गोवा के लिए शादाब जकाती ने पांच विकेट लिए 

विशाल स्कोर के सामने अपनी पहली पारी खेलने उतरी गोवा को स्वप्निल असनोदकर (नाबाद 28) और सुमिरन अमोनकर (30) ने अच्छी शुरुआत देने की कोशिश की। 49 के कुल स्कोर पर सिद्धार्थ कौल ने अमोनकर को पवेलियन भेज अपनी टीम को पहली सफलता दिलाई। दिन का खेल खत्म होने तक असनोदकर के साथ कप्तान सगुन कामत 32 रन बनाकर खेल रहे हैं। 

वहीं मुंबई में खेले जा रहे ग्रुप-सी के मैच में बाबा इंद्रजीत (नाबाद 105) ने तमिलनाडु को संभाले रखा है। मुंबई के पहली पारी के स्कोर 374 के सामने तमिलनाडु ने दूसरे दिन बुधवार का खेल खत्म होने तक 239 रनों पर अपने पांच विकेट खो दिए हैं। 

मुंबई ने पहले दिन का अंत सात विकेट के नुकसान पर 314 के कुल स्कोर के साथ किया था। दूसरे दिन वह अपने स्कोर में 60 रन जोड़ पाई। पहले दिन 20 रनों पर नाबाद लौटने वाले अभिषेक नायर दूसरे दिन एक भी रन नहीं बना सके। बुधवार को आकाश पारकर नाबाद 33 ने मुंबई के 350 के पार पहुंचाने में अहम भूमिका निभाई। तमिलनाडु के लिए विजय शंकर ने चार विकेट लिए। 

तमिलनाडु की शुरुआत अच्छी नहीं रही। उसने 69 के कुल स्कोर तक कप्तान अभिनव मुकुंद (9), मुरली विजय (11), कौशिक गांधी (6) और शंकर (18) के रूप में अपने चार मुख्य बल्लेबाजों को खो दिया था। यहां से इंद्रजीत और वॉशिंगटन सुंदर (69) ने टीम को संभाला और स्कोर 226 रनों तक ले गए। सुंदर को धवल कुलकर्णी ने पवेलियन भेजा। 

तमिलनाडु की उम्मीद अब इंद्रजीत पर टिकी हैं। उनके साथ रविचंद्रन अश्विन आठ रन बनाकर खेल रहे हैं। वह मुंबई से अभी भी 135 रन पीछे है। 

 भारतीय क्रिकेटर दिनेश कार्तिक की वाइफ है बेहद खूबसूरत, जरूर देखें  

वहीं शिमोगा में ग्रुप-सी में कर्नाटक और हैदराबाद के बीच रोमांचक मुकाबला देखने को मिल रहा है। कर्नाटक पहले ही दिन अपनी पहली पारी में 183 रनों पर ही ढेर हो गई थी। पहले दिन का खेल खत्म होने तक उसने हैदराबाद के 51 रनों पर ही तीन विकेट चटका दिए थे। 

हैदराबाद हालांकि दूसरे दिन भी कर्नाटक के गेंदबाजों के सामने टिक नहीं सकी और पहली पारी में 136 रनों पर सिमट गई। कर्नाटक के लिए श्रेयस गोपाल ने पांच विकेट लिए। कर्नाटक ने पहली पारी के आधार पर 48 रनों की बढ़त ले ली थी। 

दूसरे दिन अपनी दूसरी पारी खेलने उतरी कर्नाटक ने दिन का अंत होने तक चार विकेट के नुकसान पर 127 रन बनाते हुए अपनी बढ़त को 174 रनों तक पहुंचा दिया है। कर्नाटक ने रवि कुमार समर्थ (29), लोकेश राहुल (23), मयंक अग्रवाल (0) और कृष्णप्पा गौतम (0) के रूप में अपने चार विकेट खो दिए हैं। यह चारों विकेट मेहेदी हसन ने लिए। 

कप्तान करुण नायर 37 और स्टुअर्ट बिन्नी 26 रन बनाकर विकेट पर खड़े हुए हैं। 


TAGS