X close
X close
Indibet

शर्मनाक! बंगाल के राज्यपाल ने किया सुनील छेत्री का अपमान, आकाश चोपड़ा भी हुए बोलने पर मज़बूर

डूरंड कप फुटबॉल टूर्नामेंट के फाइनल में सुनील छेत्री की टीम बेंगलुरू एफसी ने खिताब जीत लिया लेकिन इसके बाद पुरस्कार वितरण समारोह में छेत्री के साथ जो हुआ उससे पूरे देश में आक्रोश फैल चुका है।

Shubham Yadav
By Shubham Yadav September 19, 2022 • 20:09 PM

हमारे देश में खेल के रूप में क्रिकेट को जितनी तवज्जो दी जाती है, उतनी किसी भी दूसरे खेल को नहीं दी जाती। यही कारण है कि बाकी खेलों में हमारा देश पिछड़ता जा रहा है और क्रिकेट छोड़कर बाकी खेल खेलने वाले खिलाड़ियों को उतनी इज्ज़त और अहमियत नहीं दी जाती। इसका एक और हाल ही में देखने को मिला जब बेंगलुरू एफसी ने मुंबई सिटी एफसी को 2-1 से हराकर रविवार (18 सितंबर) को सॉल्ट लेक स्टेडियम में अपना पहला डूरंड कप फुटबॉल टूर्नामेंट खिताब जीता।

बेंगलुरू एफसी की कप्तानी भारतीय फुटबॉल टीम के कप्तान सुनील छेत्री कर रहे थे और खिताब जीतने के बाद उनके चेहरे पर खुशी देखने लायक थी। हालांकि, खिताब जीतने के बाद छेत्री का अपमान भी हुआ जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर काफी तेज़ी से वायरल हो रहा है और इसी वीडियो के चलते पूरे देश में आक्रोश फैल चुका है।

Trending


दरअसल, हुआ ये कि जीत के बाद जब सुनील छेत्री ट्रॉफी लेने के लिए स्टेज पर पहुंचे तो पश्चिम बंगाल के राज्यपाल ला गणेशन उनके साथ खड़े थे और उन्होंने फोटो खिंचवाने के चक्कर में छेत्री को धक्का देते हुए पीछा कर दिया। ये घटना ऐसी थी जिसने ये हर भारतीय को दिखा दिया कि क्रिकेटर्स को छोड़कर बाकी खेल खेलने वालों की जगह इस देश में कहां है और इनके साथ कैसा व्यवहार किया जाता है। पूरे देश में इस शर्मनाक घटना की आलोचना की जा रही है।

इस वीडियो पर पूर्व क्रिकेटर और मौजूदा कमेंटेटर आकाश चोपड़ा ने भी अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए सिर्फ एक शब्द में अपना गुस्सा जाहिर किया है। उन्होंने इस वीडियो पर कमेंट करते हुए लिखा, 'शर्मनाक।'

Also Read: Live Cricket Scorecard

इस घटना के बाद अभी तक पश्चिम बंगाल के गवर्नर की तरफ से कोई भी रिएक्शन नहीं आया है। ऐसे में ये देखना दिलचस्प होगा कि उनकी तरफ से क्या अपनी गलती की माफी मांगी जाती है या नहीं।


Win Big, Make Your Cricket Prediction Now