X close
X close
Indibet

भारत में मौजूद अपने खिलाड़ियों से फीडबैक ले रहा है क्रिकेट आस्ट्रेलिया,कई और खिलाड़ी छोड़ सकते हैं IPL

IANS News
By IANS News
April 27, 2021 • 08:33 AM View: 1298

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) ने कहा है कि वे भारत में जारी आईपीएल के 14वें सीजन में खेल रहे अपने तीन खिलाड़ियों के लीग से बाहर होने और स्वदेश लौटने के बाद अपने क्रिकेटरों के संपर्क में हैं। आईपीएल 14 में भाग ले रहे आस्ट्रेलिया के 17 क्रिकेटरों में से एडम जाम्पा और केन रिचर्डसन इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) बीच में ही छोड़कर व्यक्तिगत कारणों से घर लौट रहे हैं। जोड़ी की फ्रेंचाइजी रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (आरसीबी) ने सोमवार को एक बयान में इसकी पुष्टि की।

माना जा रहा है कि ऑस्ट्रेलिया के कई और खिलाड़ी आईपीएल छोड़कर अपने वतन लौट सकते हैं। 

Trending


सीए ने एक बयान में कहा, "इंडियन प्रीमियर लीग में भाग लेने वाले ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों, कोचों और कमेंटेटरों के साथ क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया और ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर्स एसोसिएशन नियमित संपर्क में हैं, जो कि सख्त बायो सिक्योर बबल प्रोटोकॉल के तहत आयोजित किया जा रहा है।"

सीए ने आगे कहा, "हम भारत और ऑस्ट्रेलियाई सरकार की सलाह के बारे में प्रतिक्रिया सुनना जारी रखेंगे। हमारे विचार इस कठिन समय में भारत के लोगों के साथ हैं।"

ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज एंड्र्यू टाई ने 'व्यक्तिगत कारणों' से अपने फ्रेंचाइजी राजस्थान रॉयल्स (आरआर) को छोड़ दिया। यह मामला रविवार को सामने आया, जब साथी आरआर खिलाड़ी इंग्लैंड के लियाम लिविंगस्टोन ने कुछ दिनों पहले बायो-बबल थकान' का हवाला देते हुए आईपीएल छोड़ दिया था।

सिडनी मॉर्निग हेराल्ड ने सोमवार को बताया कि कई ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी स्कॉट मॉरिसन सरकार (ऑस्ट्रेलियाई सरकार) द्वाराोरत से आने वाले यात्रियों की संख्या को कम करने के बाद घबरा गए हैं।

भारत लगभग 3.5 लाख दैनिक कोविड -19 मामलों और अपर्याप्त चिकित्सा सुविधाओं के कारण महामारी के कठिन चरण से गुजर रहा है। 

स्टीव स्मिथ (दिल्ली कैपिटल्स), डेविड वार्नर (सनराइजर्स हैदराबाद), पैट कमिंस (कोलकाता नाइट राइडर्स), ग्लेन मैक्सवेल (रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर) आईपीएल में हिस्सा लेने वाले 17 ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों में शामिल हैं। टाय, जाम्पा और रिचर्डसन की रवानगी से लीग में 13 ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी बचे हैं।


Win Big, Make Your Cricket Prediction Now