X close
X close

क्रिकेटर में आई फुटबॉलर की आत्मा, सचिन तेंदुलकर से लेकर जेम्स नीशम तक सब हुए दीवाने; देखें VIDEO

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ है जिसे देखकर सचिन तेंदुलकर और कीवी स्टार ऑलराउंडर जेम्स नीशम तक हैरान हैं।

Nishant Rawat
By Nishant Rawat February 12, 2023 • 17:49 PM

Cricket Viral Video: सोशल मीडिया पर क्रिकेट से जुड़े अक्सर ही ऐसे वीडियो वायरल होते हैं जो क्रिकेट प्रेमियों को हैरान करके रख देते हैं। हाल ही में भी ऐसा ही देखने को मिला है। दरअसल, एक लोकल क्रिकेट टूर्नामेंट से जुड़ा ऐसा वीडियो सामने आया है जिसे देखकर फैंस ही नहीं बल्कि महान बल्लेबाज़ सचिन तेंदुलकर और कीवी स्टार ऑलराउंडर जेम्स नीशम तक हैरान हैं। इस वीडियो में एक खिलाड़ी ने फील्डिंग करते हुए ऐसा करतब किया है जिसे देखकर आपके भी होश उड़ जाएंगे।

क्रिकेटर में आई फुटबॉलर की आत्मा: वायरल वीडियो में बल्लेबाज़ जोरदार हवाई शॉट लगाता है। गेंद बाउंड्री के बाहर जाने वाली होती है, लेकिन तभी फील्डर हवा में उछलकर गेंद को पकड़ लेता है। यहां उसका बैलेंस नहीं बनता और वह बाउंड्री के बाहर चला जाता है। हालांकि इससे पहले ही वह गेंद को हवा में उछाल देता है। इसके बाद वह किसी फुटबॉलर की तरह गेंद को लात मारकर वापस मैदान के अंदर पहुंचाता है और तभी एक अन्य फील्डर कैच को पूरा करता है।

Trending


यह वीडियो जितना फैंस को पसंद आ रहा है, उतना यह वीडियो देखकर महान बल्लेबाज़ सचिन तेंदुलकर भी प्रभावति हुए हैं। सचिन तेंदुलकर ने यह वीडियो रिट्वीट करते हुए लिखा, 'ऐसा तब होता है जब आप एक ऐसे व्यक्ति को लाते हैं जो फुटबॉल खेलना भी जानता है !!' बता दें कि न्यूजीलैंड के ऑलराउंडर जेम्स नीशम ने भी यह वीडियो शेयर किया है। उन्होंने लिखा, 'बिल्कुल असाधारण।'

यह भी पढ़ें: 'सॉरी सचिन पाजी', 17 साल पुरानी घटना के लिए RP Singh ने गॉड ऑफ क्रिकेट से मांगी माफी

यह भी पढ़ें: मास्टर माइंड बन गए थे मास्टर ब्लास्टर, किया था 100 प्रतिशत दिमाग का इस्तेमाल; लाइन-लेंथ भूल बैठा था गेंदबाज़

बता दें कि हाल ही में ऑस्ट्रेलिया के घरेलू टूर्नामेंट बिग बैश लीग में भी एक ऐसा ही कैच देखने को मिला था। माइकल नेसर ने बाउंड्री के बाहर जाकर गेंद को उछालकर वापस अंदर फेंक दिया था, जिसके बाद कैच पूरा हुआ और बल्लेबाज़ को आउट दिया गया। ऐसे में इस घटना के बाद काफी विवाद हुआ था और क्रिकेटप्रेमी दो गुटों में बंटे नज़र आए थे। एक का मानना था कि इस तरह से किसी भी बल्लेबाज़ को आउट नहीं दिया जाना चाहिए। वहीं दूसरा इसके विपक्ष में था।