X close
X close
Indibet

गांगुली के जन्मदिवस पर बधाइयों का तांता

Saurabh Sharma
By Saurabh Sharma
July 08, 2016 • 20:05 PM View: 1478

कोलकाता, 8 जुलाई (CRICKETNMORE): दुनिया के सबसे सफल कप्तानों में शुमार भारत के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली शुक्रवार को 44 साल के हो गए हैं। सोशल नेटवर्किं ग साइट ट्विटर पर प्रिंस ऑफ कोलकाता के नाम से मशहूर गांगुली को बधाई देने का तांता लगा हुआ है। 

पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने 2002 नेटवेस्ट ट्रॉफी के दौरान लॉर्ड्स मैदान पर बालकनी में गांगुली द्वारा टी-शर्ट लहराने वाले वाकये को याद किया। 

Trending


उन्होंने ट्वीट किया, "जन्मदिन मुबारक हो दादा। उम्मीद है, आप भारत के झंडे को हमेशा ऊंचा लहराएंगे, जैसा कि आपने शर्ट को लॉर्ड्स में लहराया था।"

भारतीय टीम के नए मुख्य कोच और गांगुली की टीम का हिस्सा रहे अनिल कुंबले ने भी ट्विटर के माध्यम से अपने कप्तान को बधाई दी। 

कुंबले ने लिखा, "जन्मदिन मुबारक हो। भगवान आप पर हमेशा प्यार और आर्शीवाद बनाए रखे।"

महेंद्र सिंह धौनी से पहले गांगुली भारत के सबसे सफल कप्तान रहे हैं। 

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ऑफ इंडिया (बीसीसीआई) ने भी इस बाएं हाथ के बल्लेबाज को ट्विटर के माध्यम से बधाई दी। 

बीसीसीआई ने लिखा, "भारत के पूर्व कप्तान को जन्मदिन मुबारक।"

गांगुली को शुभकामनाएं देने में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री भी पीछे नहीं रहीं। ममता बनर्जी ने लिखा, "गांगुली को जन्मदिन की शुभकामनाएं। आप जीवन में सफलता और खुशी हासिल करें।"

गांगुली ने 1996 में लॉर्ड्स मैदान पर खेले गए मैच से अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में पर्दापण किया था और उन्होंने इस मैच में शतक भी जमाया था। भारतीय क्रिकेट को नए मुकाम तक पहुंचाने वाले इस खिलाड़ी ने लगातार दो शतक मारने के बाद अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया था। 

उन्होंने 1999 विश्व कप में श्रीलंका के खिलाफ 183 रनों की पारी खेली थी जो उनका एकदिवसीय क्रिकेट में सर्वाधिक स्कोर भी है। 

गांगुली ने उस समय टीम की कमान संभाली थी, जब भारतीय क्रिकेट मैच फिक्सिंग से घिरा हुआ था और इस मामले में टीम के तत्कालिन कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन का नाम भी उछला था। इसके बाद उन्हें कप्तानी छोड़नी पड़ी थी। 

गांगुली के कप्तान रहते भारत ने विदेशों में खेले गए 28 टेस्ट मैचों में से 11 में जीत हासिल की थी। यह रिकार्ड अभी तक कायम है। 

ऑफ साइड के भगवान कहे जाने वाले गांगुली ने 113 टेस्ट मैचों में 7,213 रन बनाए हैं। उनके नाम 311 एकदिवसीय मैचों में 11,363 रन दर्ज हैं। 

गांगुली की कप्तानी में ही भारत 2003 विश्व कप के फाइनल में पहुंचा था। 

इस सफल कप्तान ने 2008 में आस्ट्रेलिया के खिलाफ घरेलू श्रृंखला के बाद संन्यास ले लिया था। वह इस समय बंगाल क्रिकेट संघ (सीएबी) के अध्यक्ष हैं। 

उनके समर्थकों ने भी उनका जन्मदिन उनके घर के बाहर खड़े होकर मनाया। उनके समर्थक घर के बाहर उनके पोस्टर्स और केक लेकर खड़े थे।

एजेंसी


Win Big, Make Your Cricket Prediction Now

Koo
TAGS