X close
X close
Indibet

वनडे क्रिकेट में दुनिया के सबसे सफल कप्तान धोनी नहीं बन पाएगें

Saurabh Sharma
By Saurabh Sharma
June 12, 2016 • 19:31 PM View: 33103

12 जून, हरारे (CRICKETNMORE)। हरारे स्पोर्ट्स क्लाब में खेले जा रहे जिम्बाब्वे के खिलाफ 3 मैचों की सीरीज में पहले मैच में भारत ने जिम्बाब्वे को 9 विकेट से हराकर सीरीज में 1- 0 की बढ़त बना ली है। जिससे धोनी ने कप्तान के रूप में वनडे क्रिकेट में 192 मैचों में कप्तानी करते हुए 105 मैच जीत चुके हैं। जिससे धोनी दुनिया के सबसे सफलतम कप्तान बननें से महज 2 कदम पीछे हैं।

पहले नंबर पर ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोटिंग है जिन्होंने अपने करियर में ऑस्ट्रेलियाई टीम को 165 वनडे मैच में जीत दिलाई है तो दूसरे नंबर पर इस मामले में सबसे सफल कप्तान ऑस्ट्रेलिया के लिए एलन बॉर्डर हैं जिन्होंने अपने वनडे करियर में ऑस्ट्रेलिया की कप्तानी करते हए कंगारू टीम को 107 मैच जीताया है। ये भी पढ़ें: कप्तानी छोड़ने के मामले पर एमएस धोनी ने दिया बड़ा बयान

Trending


ऐसे में भारत के कप्तान धोनी बॉर्डर के रिकॉर्ड की बराबरी जिम्बाब्वे सीरीज में कर सकते हैं यदि भारत की टीम अपने बचे दोनों वनडे जीत जाती है तो। लेकिन अगर वनडे में सबसे सफल कप्तान धोनी को बनना है तो  कम- से कम 60 वनडे मैच जरूर खेलने हैं और साथ ही सभी 60 वनडे मैच जीतने होगें, जो आंकड़ों के लिहाज से नामूमकिन लगता है। ऐसा इसलिए क्योंकि धोनी को कम- कम इतने वनडे मैच खेलने के लिए 3 साल का वक्त लग सकता है। साल 2016 की बात की जाए तो भारत की टीम को ज्यादा वनडे मैच नहीं खेलने हैं जिससे धोनी रिकी पोटिंग के रिकॉर्ड के करीब भी नहीं पहुंच सकते।

जिम्बाब्वे सीरीज के बाद धोनी के पास 5 वनडे मैच न्यूजीलैंड के खिलाफ खेलने हैं तो फिर इंग्लैंड के खिलाफ 5 वनडे मैच यानि साल 2016 में जिम्बाब्वे दौरे को मिलाकर धोनी 13 वनडे मैच ही खेल पाएगें। इसके बाद साल 2017 में भारत को चैंपियंस ट्रॉफी खेलना है जहां लीग मैच में भारत को 3 वनडे मैच खेलने हैं। इससे इस बात पर मोहर लग जाती है कि धोनी के लिए पोटिंग के रिकॉर्ड के करीब पहुंचना बेहद ही मुश्किल है।

इसके अलावा अभी साल 2017 के लिए भारत का क्रिकेट कार्यक्रम पूरी तरह से स्पष्ट नहीं है यदि धोनी को पोटिंग के रिकॉर्ड को अपने नाम करना है को लगभग 3 साल तक लगातार भारत के लिए वनडे क्रिकेट खेलनी होगी।

अभी वर्तमान में धोनी की उम्र 35 साल है और धोनी के करीबी सूत्रों से खबर मीडिया में फैली है कि धोनी साल 2019 का वर्ल्ड कप खेलना चाहते हैं। इसके अलावा अपने रिटायरमेंट को लेकर महेंद्र सिंह धोनी ने कहा है कि ‘मैं अभी 35 साल का हूं, जिस दिन मैं अब जितना तेज नहीं दौड़ पाउंगा उस दिन मुझे पता चल जाएगा कि मेरा समय अब पूरा हो गया। मुझे खुद को अधिक फिट रखना होगा। क्रिकेट में फिटनेस काफी अहम है लेकिन मैं तेज गेंदबाज नहीं हूं और मेरे शरीर की मांग अलग है”

“इसके अलावा धोनी ने अपनी कप्तानी के बारे में मीडिया को कहा था कि भविष्य में भारत की कप्तानी करूंगा या नहीं इसका फैसला बीसीसीआई को करना है उन्हें नहीं।“ ये भी पढ़ें रिटायरमेंट को लेकर क्या बोले धोनी

धोनी के इन सभी बातों से धोनी के फैन्स तो खुश हो सकते हैं लेकिन टीम इंडिया के बेहद ही करीबी माने जा रहे रवि शास्त्री ने अपने बयान में यह निश्चित कह दिया था कि विराट कोहली को तीनो फॉर्मेट के लिए कप्तान बना देना चाहिए। यदि आने वाले समय में रवि शास्त्री भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच के रूप में काबिज हो जाते हैं तो इसमें कोई शक नहीं कि धोनी का वनडे और टी- 20 करियर जल्द खत्म हो जाएगा और धोनी वनडे क्रिकेट में वर्ल्ड के सबसे सफल कप्तान बननें की होढ़ में काफी पीछे रह जाएगें।

यह तो तय है कि धोनी का क्रिकेट करियर अपने आखरी पड़ाव पर हैं। 


Win Big, Make Your Cricket Prediction Now

Koo
TAGS