X close
X close
Indibet

सचिन तेंदुलकर हमेशा रहेंगे महान बल्लेबाज

Saurabh Sharma
By Saurabh Sharma
April 23, 2016 • 21:29 PM View: 6120

24 अप्रैल, नई दिल्ली (CRICKETNMOPE)। भारतीय क्रिकेट में महानतम बल्लेबाज की बात की जाएगी तो सचिन तेंदुलकर का नाम सबसे पहले क्रिकेट के दिग्गजों से लेकर क्रिकेट प्रेमियों के जुबान पर होगा।

ऐसा इसलिए नहीं कि सचिन ने कई रिकॉर्ड अपने करियर में बनाए हैं बल्कि ऐसा इसलिए  है क्योंकि सचिन ने जिस अंदाज के साथ पूरे करियर में बल्लेबाजी करी वो हमेशा किसी महान बल्लेबाज की निशानी होती है। इसलिए तो क्रिकेट के सबसे बड़े महान बल्लेबाज डॉन ब्रेडमैन ने सचिन के खेलने के स्टाइल को अपने जैसा कहा था।

Trending


इंटरनेशनल क्रिकेट में सचिन ऐसे एक मात्र बल्लेबाज हैं जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में कल्पानओं की सिमाओं को पार करते हुए 100 शतक जमाए है। सचिन ने वनडे के अपने करियर में 49 शतक और टेस्ट में 51 शतक जमाकर इस अनोखे कारनामें को पूरा किया था।

साल 1989 में इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू किया उस वक्त सचिन केवल 16 साल के थे उसके बाद अपने उम्र के 41वें पड़ाव पर क्रिकेट को अलविदा कहा।

किसी भी खिलाड़ी के लिए इतने लंबे समय तक एक समान फिटनेस बनाकर खेलते रहना सचिन के महान बननें की झलक को दर्शाता है। सचिन ने अपने पूरे करियर में ऐसे – ऐसे गेंदबाजों का सामना किया जो अपने समय में बेहद ही खतरनाक थे। मसलन इमरान खान, कर्टली एम्ब्रोस, कर्टनी वाल्श, एलन डोनाल्ड, शोएब अख्तर, शेन वार्न, मुथ्थैया मुरलीधरन के अलावा ब्रेट ली, ग्लेन मैक्ग्राथ, वसीम अकरम औऱ वकार यूनुस जैसे बेहतरीन गेंदबाजों के समक्ष सचिन ने अपने बल्लेबाजी से जो पारियां खेली वो आजतक बेहतरीन पारियों में गिना जाता है।

सचिन ने ना सिर्फ इन गेंदबाजों का सामना घरेलू मैदान पर किया बल्कि उन विदेशी मैदानों पर भी कर अपनी धाक जमाई जहां किसी भी बल्लेबाजों के द्वारा रन बनाना टेढ़ी खीर साबित होता था। सचिन तेंदुलकर औसतन दुनिया के 90 से अधिक क्रिकेट मैदानों पर खेल चुके हैं।

सचिन अपने खेल से तो क्रिकेट प्रेमियों का दिल जीतने में कामयाब रहे ही थे ब्लकि मैदान के बाहर और अंदर अपने व्यवहार से खुद को महान बना लिया था।

शायद इसलिए ऑस्ट्रेलिया के मैथ्यू हेडन ने सचिन को क्रिकेट का भगवान कहकर पुकारा था।

सचिन हमेशा से टेस्ट क्रिकेट में अव्वल रहे । यही कारण था कि जब तेंदुलकर 79 वनडे खेलने के बाद अपना पहला शतक जमाने में कामयाब हुए तो इससे पहले सचिन टेस्ट क्रिकेट में 7 शतक जमा चुके थे। क्रिकेट में हमेशा कहा जाता है जो बल्लेबाज टेस्ट क्रिकेट में अच्छी बल्लेबाजी कर सकता है वहीं बल्लेबाज सही मायने में एक बेहतरीन बल्लेबाज है।

सचिन की बल्लेबाजी का खौफ इतना रहता था कि विरोधी टीम के गेंदबाज विशेष तौर पर सचिन के लिए मैच से पहले से ही रणनीति बनातें थे। यही कारण था कि शेन वार्न के सपनों में सचिन तेंदलुकर छक्के लगाते हुए नजर आने लगे थे, खुद वार्न ने इस बात को कबुला था।

सचिन के जबरा फैन है तो ये विडियो आपके लिए है-

 

विशाल भगत


Win Big, Make Your Cricket Prediction Now

Koo
TAGS