X close
X close

युवा विश्व मुक्केबाजी: रवीना और विश्वनाथ सहित सात भारतीयों ने सेमीफाइनल में पहुंचकर पदक सुरक्षित किया

मौजूदा युवा एशियाई चैंपियन रवीना, विश्वनाथ सुरेश और वंशज ने चार अन्य भारतीयों के साथ स्पेन के ला नूसिया में जारी आईबीए युवा पुरुष और महिला विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप 2022 के सेमीफाइनल में पहुंचकर अपने लिए कम से कम कांस्य पदक पक्का कर लिया है।

IANS News
By IANS News November 22, 2022 • 17:11 PM
Youth World Boxing: Ravina, Vishwanath among seven Indians storm into semifinals, confirm medals
Image Source: IANS

मौजूदा युवा एशियाई चैंपियन रवीना, विश्वनाथ सुरेश और वंशज ने चार अन्य भारतीयों के साथ स्पेन के ला नूसिया में जारी आईबीए युवा पुरुष और महिला विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप 2022 के सेमीफाइनल में पहुंचकर अपने लिए कम से कम कांस्य पदक पक्का कर लिया है।

इन तीनों के अलावा भावना शर्मा (48 किग्रा), कुंजारानी देवी थोंगम (60 किग्रा), लशु यादव (70 किग्रा) और आशीष (54 किग्रा) वो अन्य मुक्केबाज हैं जिन्होंने अंतिम-4 में जगह बनाने के बाद अपने लिए कम से कम कांस्य पदक पक्का कर लिया है।

इस प्रतिष्ठित वैश्विक टूर्नामेंट में अपने शानदार विजयी प्रदर्शन को जारी रखते हुए, सभी चार महिला मुक्केबाजों ने अपने-अपने क्वार्टर फाइनल मुकाबलों में 5-0 के अंतर से जीत दर्ज करके आगे की ओर कदम बढ़ाया। रवीना ने जहां 63 किग्रा भार वर्ग के मुकाबले में रोमानिया की एलेक्जेंड्रा क्रेटू को हराया, वहीं भावना और कुंजरानी देवी ने वेनेजुएला की एविमिर ब्रिटो और कजाकिस्तान की एगेरिम काबोल्डा को मात दी। इसी तरह लाशू मैक्सिकन मुक्केबाज जुजेट हर्नांडेज पर हावी रहीं।

ग्रिविया देवी ह्य्रूडोम (54 किग्रा) सातवें दिन हारने वाली एकमात्र भारतीय मुक्केबाज हैं। ग्रिविया कजाकिस्तान की एलिना बाजारोवा से 0-5 से एकतरफा तौर पर हार गईं।

इस बीच, पुरुष वर्ग में भारत के लिए मिलाजुला दिन रहा। पांच मुक्केबाजों में से तीन पदक दौर में जाने में सफल रहे। विश्वनाथ (48 किग्रा) और वंशज (63.5 किग्रा) ने क्रमश: ऑस्ट्रेलिया के जे केर और किर्गिस्तान के उमर लिवाजा को सर्वसम्मत फैसले के आधार पर हराया। दूसरी ओर, आशीष को स्कॉटलैंड के आरोन कुलेन के खिलाफ जीत के लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ी। जजों ने बाउट की समीक्षा के बाद परिणाम आशीष के पक्ष में 4-3 घोषित किया।

दीपक (75 किग्रा) और मोहित (86 किग्रा) क्वार्टर फाइनल में हारने वाले दो भारतीय पुरुष मुक्केबाज हैं।

इस टूर्नामेंट में 73 देशों के करीब 600 मुक्केबाज हिस्सा ले रहे हैं। अंतिम-8 दौर के लिए 17 भारतीयों ने क्वालीफाई किया है। यह सबसे बड़ी संख्या है। इस फेहरिस्त में कजाकिस्तान (16) और उज्बेकिस्तान (13) क्रमश: दूसरे और तीसरे स्थान पर हैं।

ऐसे में जबकि सात पदक भारत के नाम पहले ही पक्के हो चुके हैं, अब तमन्ना (50 किग्रा), प्रीति दहिया (57 किग्रा), देविका घोरपड़े (52 किग्रा), मुस्कान (75 किग्रा) और कीर्ति (81 किग्रा से अधिक) आठवें दिन पदकों की संख्या को आगे ले जाने का प्रयास करेंगी। इन महिलाओं के अलावा रिदम (प्लस 92) और जादूमणि सिंह मांडेंगबम (51 किग्रा) पुरुष वर्ग के अंतिम-8 दौर के मुकाबलों में अपनी चुनौती पेश करेंगे।

सेमीफाइनल बुधवार को जबकि फाइनल शुक्रवार और शनिवार को होगा।

ऐसे में जबकि सात पदक भारत के नाम पहले ही पक्के हो चुके हैं, अब तमन्ना (50 किग्रा), प्रीति दहिया (57 किग्रा), देविका घोरपड़े (52 किग्रा), मुस्कान (75 किग्रा) और कीर्ति (81 किग्रा से अधिक) आठवें दिन पदकों की संख्या को आगे ले जाने का प्रयास करेंगी। इन महिलाओं के अलावा रिदम (प्लस 92) और जादूमणि सिंह मांडेंगबम (51 किग्रा) पुरुष वर्ग के अंतिम-8 दौर के मुकाबलों में अपनी चुनौती पेश करेंगे।

Also Read: क्रिकेट के अनोखे किस्से

This story has not been edited by Cricketnmore staff and is auto-generated from a syndicated feed