X close
X close

BCCI vs Kohli : दानिश कनेरिया ने कोहली को दिए अपने सुझाव

पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर दानिश कनेरिया ने गुरुवार को कहा है कि भारत के टे

IANS News
By IANS News December 23, 2021 • 16:11 PM

पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर दानिश कनेरिया ने गुरुवार को कहा है कि भारत के टेस्ट कप्तान विराट कोहली को अनावश्यक विवाद में पड़ने के बजाय अपने खेल पर ध्यान देना चाहिए।

कनेरिया ने लंदन से आईएएनएस से कहा, 'दो साल से विराट ने कोई शतक नहीं बनाया है। इसलिए उन्हें अपने खेल पर ध्यान देने की जरूरत है। सौरव गांगुली जैसे दिग्गजों या किसी और के खिलाफ बोलने से उनके खेल में कोई सुधार नहीं होगा।'

Trending


उन्होंने कहा, 'विराट को अनिल कुंबले से समस्या थी, अब उन्हें गांगुली से समस्या है। कुंबले और गांगुली ने खुद को साबित किया है, वे खेल के असली हीरो हैं। विराट गांगुली के खिलाफ बोल रहे हैं, जिन्होंने भारतीय क्रिकेट को बदल दिया और फिर एमएस धोनी ने इसे आगे बढ़ाया। अब इस विवाद को आगे बढ़ाने की वाकई जरूरत नहीं है।'

तेज गेंदबाजों वसीम अकरम, वकार यूनिस और इमरान खान के बाद कनेरिया पाकिस्तान के लिए सबसे अधिक टेस्ट विकेट लेने वाले गेंदबाजों की सूची में चौथे स्थान पर हैं। उन्होंने एक विशेष साक्षात्कार में आईएएनएस को बताया, 'विराट टेस्ट और टी20 में रन बनाने के लिए संघर्ष कर रहे हैं और एक कप्तान के रूप में उन्होंने कोई भी आईसीसी ट्रॉफी नहीं जीती है, इसलिए सब कुछ उनके खिलाफ जा रहा है। इसलिए मुझे नहीं लगता कि विवाद को आगे बढ़ाकर उन्हें कोई फायदा होने वाला है।'

पूर्व लेग स्पिनर ने कहा, 'जहां तक रोहित शर्मा की बात है तो वह एक शानदार खिलाड़ी हैं, उन्होंने पांच आईपीएल ट्राफियां जीती हैं। वह एक बेहतरीन कप्तान हैं। राहुल द्रविड़ के साथ उनका सौहार्द अद्भुत है। मुझे नहीं लगता कि विराट कोहली का द्रविड़ के साथ लंबे समय तक अच्छा संबंध होगा। विराट को अनिल कुंबले के साथ भी समस्या थी। कुंबले और द्रविड़ दोनों दक्षिण भारत से आते हैं और उनका क्रिकेट में बड़ा स्थान है। मैं उन दोनों के खिलाफ खेला और मुझे पता है कि वे किस तरह के खिलाड़ी रहे हैं।'

61 टेस्ट के अनुभवी कनेरिया ने कहा कि भारत के पास अच्छे क्रिकेटर मौजूद हैं। रोहित शर्मा, केएल राहुल, रुतुराज गायकवाड़, मयंक अग्रवाल और यहां तक कि प्रियांक पांचाल भी अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। भारत के पास प्रत्येक स्थान के लिए बैकअप खिलाड़ी हैं। अगर ऋषभ पंत जैसे खिलाड़ी बेहतर नहीं करेंगे, तो केएस भरत और रिद्धिमान साहा तैयार हैं। कनेरिया ने कहा, 'इसलिए अगर कोई मध्य में अच्छा नहीं करने के बावजूद टीम में अपनी स्थिति को लेकर संतुष्ट और आश्वस्त है, तो उन्हें दो बार सोचना होगा।'

पाकिस्तान सुपर लीग और इंडियन प्रीमियर लीग की तुलना करने पर कनेरिया ने तुरंत जवाब दिया कि दोनों अलग-अलग लीग हैं।

उन्होंने कहा, "एक बहुत ही बड़ी लीग होने के नाते, आईपीएल भारतीय क्रिकेट को बहुत सारी प्रतिभाएं प्रदान कर रहा है और यह हर गुजरते सत्र के साथ बेहतर और बेहतर हो रहा है, जबकि पीएसएल पाकिस्तान के क्रिकेट के लिए शायद ही कुछ कर रहा है। अगर कोई खिलाड़ी पीएसएल में अच्छा प्रदर्शन करता है तो पाकिस्तान का गैर-पेशेवर दृष्टिकोण क्रिकेट बोर्ड ने उनके राष्ट्रीय टीम में आने की संभावना को कम कर दिया है।'

लेग स्पिनर ने स्वीकार किया कि द्रविड़, वीवीएस लक्ष्मण और विस्फोटक सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग जैसे भारतीय बल्लेबाजों के खिलाफ गेंदबाजी करते समय उन्हें कठिनाइयों का सामना करना पड़ा था।

Also Read: Ashes 2021-22 - England vs Australia Schedule and Squads

सोशल प्लेटफॉर्म कू का इस्तेमाल कर रहे कनेरिया ने कहा, 'द्रविड़ और लक्ष्मण तकनीकी रूप से काफी मजबूत थे, जबकि सहवाग के पास किसी भी गेंदबाज के आत्मविश्वास को खत्म करने की क्षमता थी। उनके लिए गेंदबाजी करना बहुत मुश्किल था।'