X close
X close

IPL 2020 Final: श्रेयस अय्यर-ऋषभ पंत के दम पर दिल्ली कैपिटल्स ने मुंबई इंडियंस को दिया 157 रनों का लक्ष्य

By IANS News
Nov 10, 2020 • 21:39 PM

अपने पांचवें आईपीएल खिताब की जद्दोजहद कर रही मौजूदा विजेता मुंबई इंडियंस को आईपीएल-13 की ट्रॉफी उठाने के लिए मंगलवार को 157 रन बनाने हैं। कप्तान श्रेयस अय्यर (नाबाद 65) और ऋषभ पंत (56) के बीच हुई अहम साझेदारी के कारण दिल्ली कैपिटल्स ने दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम में मुंबई के खिलाफ अपने पहले फाइनल में 20 ओवरों में सात विकेट खोकर 156 रन बनाए हैं।

पहले खिताब के लिए बेसब्र दिल्ली को वो शुरुआत तो नहीं मिली जो उसे इस मैच में चाहिए थे। ट्रेंट बाउल्ट ने पहली ही गेंद पर मार्कस स्टोइनिस को आउट कर दिया। बाउल्ट ने फिर अजिंक्य रहाणे को भी 16 के कुल स्कोर पर पवेलियन भेज दिया। रहाणे ने दो ही रन बनाए।

Also Read: BCCI ने सिलेक्टर्स के 3 पदों के लिए मांगे आवेदन, संविधान को दरकिनार कर बदला ये नियम

इस सीजन अपना पहला मैच खेल रहे जयंत यादव ने फॉर्म में चल रहे बाएं हाथ के अनुभवी बल्लेबाज शिखर धवन को अपनी तीसरी ही गेंद पर बोल्ड कर दिल्ली को तीसरा झटका दिया। धवन ने 15 रन बनाए।

चार ओवर भी पूरे नहीं हुए थे कि दिल्ली ने अपने तीन अहम विकेट खो दिए थे। कप्तान अय्यर मैदान पर थे और उनके ऊपर टीम को बचाने का दबाव भी। कप्तान ने अपनी जिम्मेदारी को बूखबी निभाया और इसमें युवा पंत ने उनका अच्छा साथ दिया।

दोनों ने मुश्किल समय में विकेट पर खड़े होकर चौथे विकेट के लिए 96 रनों की साझेदारी की। पंत ने इस दौरान इस सीजन का अपना पहला अर्धशतक पूरा किया। 15वें ओवर की तीसरी गेदं पर पंत ने चौका मार अपने पचास रन पूरे किए। इसी ओवर में हालांकि नाथन कुल्टर नाइल ने पंत की पारी का अंत कर दिया। पंत ने 38 गेंदों की पारी में चार चौके और दो छक्के मारे।

पंत के जाने के बाद अय्यर ने भी अपना अर्धशतक पूरा किया। टीम को मजबूत स्कोर तक पहुंचाने के लिए अय्यर को अंत के ओवरों में एक ऐसे बल्लेबाज के साथ की जरूरत थी जो तेजी से रन बना सके। यह काम शिमरन हेटमायर कर सकते थे लेकिन बाउल्ट ने उन्हें पांच के निजी स्कोर पर आउट कर दिया।

अक्षर पटेल भी नौ रन ही बना सके। अय्यर हालांकि अंत तक टिके रहे और टीम को सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया। उन्होंने अपनी पारी में 50 गेंदों का सामना किया और छह चौके तथा दो छक्के लगाए।

मुंबई के लिए बाउल्ट ने तीन, नाइल ने दो, जयंत ने एक विकेट लिया। जसप्रीत बुमराह एक भी विकेट नहीं ले पाए। उनकी इस नाकामी का मतलब यह है कि दिल्ली के कगीसो रबाडा को पर्पल कैप मिलना तय हो गया है।