X close
X close
Indibet

धोनी या किसी खिलाड़ी को नहीं, रविंद्र जडेजा ने कप्तान के तौर पर पहली जीत इस शख्स को समर्पित की

चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) के नए कप्तान रविंद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) ने मंगलवार को आईपीएल 2022 में टीम की पहली जीत के बाद स्वीकार किया कि वह अभी भी टीम का अच्छे से नेतृत्व करने के लिए कुछ कदम दूर

By IANS News April 13, 2022 • 13:05 PM View: 465

चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) के नए कप्तान रविंद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) ने मंगलवार को आईपीएल 2022 में टीम की पहली जीत के बाद स्वीकार किया कि वह अभी भी टीम का अच्छे से नेतृत्व करने के लिए कुछ कदम दूर हैं। उन्होंने आगे यह भी कहा कि वे वरिष्ठ खिलाड़ियों के साथ प्रत्येक खेल की बारीकियों को अच्छे से सीख रहे हैं। आईपीएल 2022 में लगातार चार हार के बाद जडेजा की कप्तानी को लेकर काफी आलोचना की गई। आलोचकों का कहना है कि महेंद्र सिंह धोनी द्वारा चार बार की आईपीएल चैंपियन टीम की कप्तानी छोड़ने के बाद सीएसके ने अपनी जीत का रास्ता खो दिया है।

हालांकि, मंगलवार को सीएसके ने पांच मैचों में अपनी पहली जीत दर्ज की, टीम ने रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (आरसीबी) को एक उच्च स्कोरिंग मैच में 23 रन से हराया, जिसमें रॉबिन उथप्पा और शिवम दुबे ने क्रमश: 88 और नाबाद 95 रन की शानदार पारी खेली।

Trending


उथप्पा और दुबे के तेज अर्धशतकों की बदौलत, दोनों ने न केवल सीएसके की पारी को संभाला, बल्कि जब सलामी बल्लेबाज रुतुराज गायकवाड़ (17) और मोइन अली (3) आउट हो गए तब टीम ने 20 ओवरों में चार विकेट खोकर 216 रन बनाए और फाफ डू प्लेसिस के नेतृत्व वाली टीम को सीएसके ने 20 ओवर में नौ विकेट लेकर 193 रन पर रोक दिया।

मैच के बाद जडेजा ने कहा, "एक कप्तान के रूप में, मैं अभी भी वरिष्ठ खिलाड़ियों से सीख ले रहा हूं। धोनी भाई से मैं हमेशा कप्तानी के बारे में चर्चा करता हूं। मैं अभी भी सीख रहा हूं और हर खेल के साथ बेहतर होने की कोशिश कर रहा हूं।"

हालांकि, जडेजा ने आरसीबी के खिलाफ चार ओवर में 39 रन देकर तीन विकेट चटकाए। उन्होंने आगे कहा, हमारे पास अनुभव है और अनुभव खेल से आता है, हम जल्दी घबराते नहीं हैं। हम खुद को शांत रखने की कोशिश करते हैं, हम शानदार तरीके से क्रिकेट खेलना चाहते हैं।

उन्होंने कहा, "मैं इस जीत को अपनी पत्नी को समर्पित करना चाहूंगा क्योंकि पहली जीत हमेशा खास होती है। एक बल्लेबाजी के रूप में, सभी ने अच्छा खेला, जिसमें रॉबिन उथप्पा और शिवम दुबे ने शानदार बल्लेबाजी की। वहीं, गेंदबाजों ने गेंद के साथ भी योगदान दिया।"

दुबे ने मैच के बाद कहा, "हम पहली जीत की तलाश में थे और मैं वास्तव में खुश हूं कि मैंने टीम के लिए योगदान दिया। जीत में योगदान देना मेरे लिए सम्मान की बात है। मैं इस बार खेल में और अधिक ध्यान केंद्रित करूंगा। माही भाई ने भी मुझे खेल में सुधार करने में मदद की। उन्होंने कहा, खेल में बस अपना ध्यान केंद्रित करो।"

दुबे ने कहा कि भारत के पूर्व क्रिकेटर युवराज सिंह उनके आदर्शो में से एक थे और उन्होंने कहा कि वह टीम की किसी भी स्थिति में हमेशा बल्लेबाजी करने के लिए तैयार हैं।

उथप्पा ने 73 गेंदों में 165 रन की रिकॉर्ड साझेदारी के दौरान अपनी रणनीति के बारे में बताते हुए कहा, "दुबे के साथ मेरी ज्यादा बातचीत नहीं हुई, वह गेंद को अच्छी तरह से हिट कर रहे थे, इस दौरान मैंने उनके साथ एक अच्छी साझेदारी निभाई। जब मैक्सवेल अपना तीसरा ओवर फेंकने आए, तो मुझे लगा कि यह रन बनाने का समय है और हम दोनों ने वही किया।"

Also Read: आईपीएल 2022 - स्कोरकार्ड

उन्होंने आगे कहा, "जब स्पिनर गेंदबाजी कर रहे थे, मैंने दुबे को जितना संभव हो सका उतना स्ट्राइक दिलाने की कोशिश की क्योंकि वह गेंद को छक्के में तब्दील करने की कोशिश कर रहे थे। जब तेज गेंदबाज वापस आ गए, तो मैंने उनसे स्ट्राइक वापस ले ली।"
 

IB

Win Big, Make Your Cricket Prediction Now