X close
X close
टॉप 10 क्रिकेट की ख़बरे

ENG v WI: नासिर हुसैन ने इस भारतीय बल्लेबाज का उदाहरण देकर जोए डेनले से तकनीक सुधारने को कहा

By Saurabh Sharma Jul 10, 2020 • 22:42 PM

साउथैम्पटन, 10 जुलाई| इंग्लैंड के पूर्व कप्तान नासिर हुसैन ने कहा है कि टीम के मौजूदा बल्लेबाज जोए डेनले को अगर बड़ा स्कोर करना है तो उन्हें अपनी तकनीक में बदलाव करना होगा नहीं तो वह टीम में से अपनी जगह गंवा सकते हैं।

डेनले ने वेस्टइंडीज के खिलाफ खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच में 58 गेंदों का सामना किया और सिर्फ 18 रन बनाकर शैनन गैब्रिएल का शिकार हो गए।

हुसैन ने डेली मेल में अपने कॉलम में लिखा है, "वो इस मैच में अपने कप्तान बेन स्टोक्स का उदाहरण ले सकते हैं। बेन स्टोक्स ने 2019 में शानदार प्रदर्शन करने के बाद अपनी तकनीक में बदलाव किए हैं।"

उन्होंने लिखा, "उन्होंने अपने स्टांस को खोला है और वह अब ऑफ साइड में अच्छी तरह से मूव कर रहे हैं। मुझे नहीं पता कि उन्होंने ऐसा क्यों किया।"

हुसैन ने भारतीय कप्तान विराट कोहली का भी उदाहरण दिया है।

उन्होंने लिखा, "एक और उदाहरण कोहली का है। जब वह 2014 में यहां आए थे, वह जेम्स एंडरसन की गेंद पर बार-बार बल्ले का किनारा देकर आउट हो रहे थे। दो साल पहले, वह अपनी क्रीज के बाहर खड़े हुए और गेंद को स्विंग होने से पहले ही खेलने लगे। इसका परिणाम शानदार रहा और उन्होंने एजबेस्टन में शतक जमाया।"

उन्होंने कहा, "डेनले को मानना पड़ेगा कि बदलाव करना होगा, चाहे इसके साथ थोड़ा जोखिम क्यों नहीं आए।"कोहली का उदाहरण देकर हुसैन ने डेनले से तकनीक सुधारने को कहा
 (18:08) 
साउथैम्पटन, 10 जुलाई (आईएएनएस)| इंग्लैंड के पूर्व कप्तान नासिर हुसैन ने कहा है कि टीम के मौजूदा बल्लेबाज जोए डेनले को अगर बड़ा स्कोर करना है तो उन्हें अपनी तकनीक में बदलाव करना होगा नहीं तो वह टीम में से अपनी जगह गंवा सकते हैं।

डेनले ने वेस्टइंडीज के खिलाफ खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच में 58 गेंदों का सामना किया और सिर्फ 18 रन बनाकर शैनन गैब्रिएल का शिकार हो गए।

हुसैन ने डेली मेल में अपने कॉलम में लिखा है, "वो इस मैच में अपने कप्तान बेन स्टोक्स का उदाहरण ले सकते हैं। बेन स्टोक्स ने 2019 में शानदार प्रदर्शन करने के बाद अपनी तकनीक में बदलाव किए हैं।"

उन्होंने लिखा, "उन्होंने अपने स्टांस को खोला है और वह अब ऑफ साइड में अच्छी तरह से मूव कर रहे हैं। मुझे नहीं पता कि उन्होंने ऐसा क्यों किया।"

हुसैन ने भारतीय कप्तान विराट कोहली का भी उदाहरण दिया है।

उन्होंने लिखा, "एक और उदाहरण कोहली का है। जब वह 2014 में यहां आए थे, वह जेम्स एंडरसन की गेंद पर बार-बार बल्ले का किनारा देकर आउट हो रहे थे। दो साल पहले, वह अपनी क्रीज के बाहर खड़े हुए और गेंद को स्विंग होने से पहले ही खेलने लगे। इसका परिणाम शानदार रहा और उन्होंने एजबेस्टन में शतक जमाया।"

उन्होंने कहा, "डेनले को मानना पड़ेगा कि बदलाव करना होगा, चाहे इसके साथ थोड़ा जोखिम क्यों नहीं आए।"