X close
X close
Indibet

'16 साल की उम्र से ही मैं उसे हर साल इंग्लैंड ले जाता था और वो लगभग हर मैचों में शतक जमाता था'

Shubham Shah
By Shubham Shah
October 17, 2021 • 10:06 AM View: 2903

आईपीएल 2021 खत्म हो चुका है और इस साल कई युवा खिलाड़ियों ने न सिर्फ फैंस बल्कि क्रिकेट दिग्गजों को भी खुश किया है। वेंकटेश अय्यर से लेकर अर्शदीप सिंह और कार्तिक त्यागी से लेकर आवेश खान ने यह दिखा दिया है कि कैसे वो आने वाले भविष्य में और भी बेहतरीन प्रदर्शन करके सभी को उत्साहित होने का मौका देंगे।

हालांकि एक ऐसा खिलाड़ी जिसने सभी को अपने प्रदर्शन से सबसे ज्यादा प्रभावित किया है वो कोई और नहीं बल्कि चेन्नई सुपर किंग्स के स्टार ओपनिंग बल्लेबाज रुतुराज गायकवाड़ है।

Trending


भारत के पूर्व बल्लेबाज और चेयरमैन दिलीप वेंगसरकर ने गायकवाड़ के बारे में बात करते हुए कहा," जब वो 10 साल का था तब वो हमारे पुणे वाली एकेडमी में आया था। हम खिलाडियों को अपनी एकेडमी में उनकी प्रतिभा के हिसाब से चुनते हैं, हम किसी को ऐसे ही नहीं ले लेते। उनके अंदर शानदार कला थी इसलिए उस चुन लिया।"

वेंगसरकर ने आगे बात करते हुए,"जब वो 16 साल के थे तब उन्हें इंग्लैंड भी ले गया था। मैं अपनी एकेडमी के बच्चों को हर साल लंकाशायर ले जाता हूं। हम वहां हर साल 10 मैच खेलते हैं। वो ज्यादातर मैचों में शतक जमाता था वो 160 और 170 के करीब वाले बड़े शतक जमाता था।"

आईपीएल में गायकवाड़ के प्रदर्शन के बारे में बात करते हुए वेंगसरकर ने कहा कि वो सिर्फ अर्धशतक जमा रहे थे इसलिए उन्होंने गायकवाड़ को मैसेज भेजा कि वो 20 ओवर तक खेलें। उसके बाद राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ उन्होंने शानदार शतक जमाया था। वेंगसरकर ने आगे बात करते हुए कहा कि सेलेक्टर्स को इस खिलाड़ी पर ध्यान देना चाहिए। पूर्व क्रिकेटर ने कहा कि जब कोई खिलाड़ी फॉर्म में होता है तो उसे तभी मौका देना चाहिए और इससे टीम को बेहद फायदा होता है।

Also Read: T20 World Cup 2021 Schedule and Squads

आईपीएल 2021 में गायकवाड़ के बल्ले से कुल 635 रन निकले थे जिसके बाद उन्हें ऑरेंज कैप से भी नवाजा गया।


Win Big, Make Your Cricket Prediction Now

Koo