X close
X close
टॉप 10 क्रिकेट की ख़बरे

जेसन होल्डर बोले,2020 के अंत में इंग्लैंड का विंडीज दौरा हमारे लिए वित्तीय तौर पर मददगार रहेगा

By Saurabh Sharma Jul 29, 2020 • 22:37 PM

मैनचेस्टर, 29 जुलाई| वेस्टइंडीज के कप्तान जेसन होल्डर ने कहा है कि अगर इंग्लैंड की टीम इस साल के अंत से पहले उनके देश का दौरा करती है तो उससे उन्हें वित्तीय तौर पर काफी मदद मिलेगी। होल्डर ने इंग्लैंड के हाथों तीन मैचों की सीरीज में 1-2 से मिली हार के बाद यह बात कही। होल्डर ने बताया कि क्रिकेट वेस्टइंडीज (सीडब्ल्यूआई) को फायदा तभी मिलेगा जब इंग्लैंड या भारत की टीमें उनके देश का दौरा करें। होल्डर ने कहा कि इससे वेस्टइंडीज को काफी फायदा होगा।

क्रिकबज ने होल्डर के हवाले से लिखा है, "मैं मुख्य कार्यकारी जॉनी ग्रेव से मिला था जिन्होंने मुझे बताया कि हम तभी पैसा बना सकते हैं जब भारत और इंग्लैंड की टीमें हमारे देश का दौरा करें। हम हो सकता है कि आस्ट्रेलिया और पाकिस्तान के साथ खेलते हुए भी पैसा कमा लें लेकिन बाकी टीमों के खिलाफ हमें नुकसान ही होगा।"

होल्डर ने कहा, "हमें नहीं पता कि अंतर्राष्ट्रीय कैलेंडर में इस सीरीज के बाद क्या होना है, लेकिन इंग्लैंड इस साल के अंत से पहले वेस्टइंडीज आ सकती है तो इसका हमारे लिए काफी महत्व होगा।"

टेस्ट टीम के कप्तान ने कहा, "हमारे लिए बीते कुछ साल आर्थिक तौर पर काफी मुश्किल रहे हैं। हालात के कारण हमें वेतन में भी कटौती करनी पड़ी है। अगर संभव हो सका तो यह दौरा हमें स्थिर करने में मदद करेगा।"

होल्डर ने बताया कि कैसे छोटी टीमें कोविड-19 के कारण इस दौर में संघर्ष कर रही हैं। उन्होंने साथ ही कहा कि सिर्फ तीन बड़े देश ही इस मुश्किल समय में संभले हुए हैं क्योंकि उनके पास पैसा है।

उन्होंने कहा, "अब इस समय अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में रेवेन्यू में अंतर साफ देखा जा सकता है। इंग्लैंड को बड़ी रकम मिलती है। आस्ट्रेलिया अपने दोनों पैरों पर खड़ा हो सकता है, भारत पावरहाउस है। इन तीन देशों के अलावा, लगभग हर देश संर्घष कर रहा है। हमें अपनी क्रिकेट को फंड करने में बड़ी परेशानी आ रही है, सिर्फ अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट ही नहीं बल्कि आयु वर्ग क्रिकेट, ए टीम की क्रिकेट, हमारे विकास कार्यक्रम को चलाने में भी हमें परेशानी आ रही है।"

उन्होंने कहा, "रेवेन्यू किस तरह बांटा जाता है इसे देखना होगा। मुझे नहीं लगता कि कोई और सीरीज कोविड-19 के दौरान खेली जा सकती थी। सीरीज की मेजबानी को लेकर जो अतिरिक्त लागत आई है वो बहुत ज्यादा है। बिना वित्तीय सहायता के हम कैरिबिया में किसी भी टीम की मेजबानी करने में संघर्ष करते।"