X close
X close

'360 डिग्री छोड़ो, क्या ये लोग 180 डिग्री भी खेल सकते हैं?', वसीम अकरम ने पाकिस्तान बल्लेबाज़ों को सुनाई खरी-खोटी

इंग्लैंड के खिलाफ खेली गई टी-20 सीरीज में पाकिस्तानी बल्लेबाज़ों का प्रदर्शन देखकर पाकिस्तानी फैंस और दिग्गज काफी निराश हैं। इसी कड़ी में वसीम अकरम ने भी अपनी भड़ास निकाली है।

Shubham Yadav
By Shubham Yadav October 03, 2022 • 19:46 PM

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान वसीम अकरम ने पाकिस्तान के बल्लेबाजों के कौशल पर सवाल उठाया है। इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज हारने के बाद फैंस और पूर्व क्रिकेटर्स ने खुलकर इस टीम की आलोचना शुरू कर दी है और इसी कड़ी में अकरम का नाम भी शामिल है। अकरम का कहना है कि पाकिस्तानी बल्लेबाज़ 360 तो भूल ही जाएं अगर वो 180 डिग्री भी खेल लें तो बहुत बड़ी बात होगी।

पाकिस्तान को सातवें और निर्णायक टी-20 में जीत के लिए 210 रनों का लक्ष्य मिला था लेकिन पाकिस्तानी बल्लेबाज़ कभी भी इस लक्ष्य के आसपास नजर नहीं आए और आखिरकार धीमी गति से खेलते हुए पाकिस्तानी टीम 20 ओवर में सिर्फ 142 रन ही बना पाई। ऐसे में वसीम अकरम का बल्लेबाज़ी पर ये तंंज कसना लाज़मी है कि बल्लेबाज़ चारों ओर शॉट नहीं लगा पाते हैं।

Trending


वसीम ने एक टीवी चैट में पाकिस्तान के बल्लेबाजी कोच मोहम्मद युसूफ से पूछा, "360 को भूल जाओ, क्या वो 180 डिग्री भी खेल सकते हैं?" 

“बेन डकेट गेंदबाज को, विशेष रूप से स्पिनरों को सेट होने देता ही नहीं। वो हर जग शॉट्स मरता है। अगर मैं पाकिस्तान के खिलाफ खेलो, तो मुझे पता होगा किधर शॉट्स मरनी है। वो वर्सेटाइल नहीं है। कोई कोषिश भी नहीं करता। 360 पूछने के लिए बहुत है, 180 हाय कर लें। ये अभ्यास करते हो आप, और तो लागू क्यों नहीं करते। बेन डकेट को देखें, वो गेंदबाजों को, खासकर स्पिनरों को जमने नहीं देता है। वो मैदान के सभी दिशाओं में शॉट खेलता है। अगर मैं पाकिस्तान के खिलाफ खेलता हूं, तो मुझे पता है कि वे अपने शॉट कहां खेलेंगे, वो बहुमुखी नहीं हैं और कोई कोशिश भी नहीं करता। 360 डिग्री तो दूर की बात है, कम से कम उन्हें 180 खेलने की कोशिश करनी चाहिए। आप इस तरह का अभ्यास करते हैं? और यदि आप करते हैं तो वो मैच में अप्लाई क्यों नहीं करते हैं?"

Also Read: Live Cricket Scorecard

वसीम के सवाल का जवाब देते हुए यूसुफ ने कहा, 'मैं एक सचेत प्रयास कर रहा हूं। मैं इस बारे में सकलैन भाई (पाकिस्तान के हेड कोच सकलैन मुश्ताक) से बात करता हूं। जब वो (पाकिस्तान के बल्लेबाज) स्पिनर खेलते हैं, तो मैं पीछे खड़ा होता हूं और अपने बल्लेबाजों को सुझाव देता हूं कि इस शॉट को इस गेंद पर खेलना चाहिए या नहीं।"