X close
X close
Indibet

भारत को 'कुलचा' को वापस लाने की जरूरत : हरभजन सिंह

पूर्व क्रिकेटर हरभजन सिंह ने मंगलवार को कहा कि भारत के स्पिनर्स वनडे क्रिकेट में बीच के ओवरों में बेहतर नहीं कर पा रहे हैं। उन्होंने आगे कहा कि 50 ओवर प्रारूप में आर अश्विन से आगे देखने और युजवेंद्र

By IANS News January 25, 2022 • 21:44 PM View: 1400

पूर्व क्रिकेटर हरभजन सिंह ने मंगलवार को कहा कि भारत के स्पिनर्स वनडे क्रिकेट में बीच के ओवरों में बेहतर नहीं कर पा रहे हैं। उन्होंने आगे कहा कि 50 ओवर प्रारूप में आर अश्विन से आगे देखने और युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव के संयोजन को वापस लाने का समय है। जिन्हें 'कुलचा' (कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल) के नाम से जाना जाता है।

हाल ही में समाप्त हुई तीन मैचों की वनडे सीरीज में भारत को 0-3 से हार का सामना करना पड़ा, ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन और लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल की तुलना में दक्षिण अफ्रीका के स्पिनरों, तबरेज शम्सी, केशव महाराज और अंशकालिक एडेन मार्करम की तिकड़ी ने ज्यादा विकेट लिए।

Trending


2017 के बाद पहली बार वनडे टीम में वापसी करने वाले 35 वर्षीय अश्विन ने दो मैचों में केवल एक विकेट लिया। वहीं तीसरे मैच में उनकी जगह जयंत यादव को टीम में शामिल किया गया। दूसरी ओर, युजवेंद्र चहल ने भी केवल दो विकेट चटकाए।

भारत के पूर्व ऑफ स्पिनर को लगता है कि अश्विन और युजवेंद्र चहल दोनों ने दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाजों के खिलाफ रक्षात्मक रुख अपनाया और कहा कि चहल और कुलदीप को फिर से वनडे में आजमाने में कोई बुराई नहीं है, जो 2019 विश्व कप के बाद से एक साथ नहीं खेले हैं।

हरभजन ने इंडिया टुडे को बताया, "मुझे लगता है कि इन दो लोगों (ईशांत शर्मा और अश्विन) ने टीम इंडिया के लिए वास्तव में अच्छा प्रदर्शन किया है, चाहे आप टेस्ट क्रिकेट की बात करें या वनडे की। आर अश्विन के लिए पूरे सम्मान के साथ, मुझे लगता है कि वह एक चैंपियन गेंदबाज है, लेकिन वनडे क्रिकेट में, अब समय आ गया है कि भारत एक विकल्प की तलाश करे, जो और ज्यादा बेहतर कर सके ।"

उन्होंने कहा, "कुलदीप यादव जैसा कोई खिलाड़ी एक अच्छा विकल्प हो सकता है। हम 'कुलचा' संयोजन पर वापस क्यों नहीं जाते और देखते हैं कि वे तालिका में क्या ला सकते हैं? उन्होंने भारत के लिए कई मैच जीते हैं। उनके पास वापस जाना अच्छी बात होगी।"

उन्होंने कहा, "आर अश्विन और चहल दक्षिण अफ्रीका सीरीज में खेले। उन्होंने गेंद के साथ बहुत अधिक अवसर नहीं बनाए, वे अपने दृष्टिकोण से थोड़े रक्षात्मक थे। कई बार वे एक और स्लिप लगाकर विपक्ष पर हमला कर सकते थे, लेकिन ऐसा देखने को नहीं मिला।"

Also Read: टॉप 10 लेटेस्ट क्रिकेट न्यूज

हरभजन ने स्वीकार किया कि दक्षिण अफ्रीका सीरीज में पिच स्पिन के अनुकूल नहीं थी, लेकिन उनका मानना है कि गेंदबाजों को बीच के ओवरों में विकेट लेने के लिए अवसर पैदा करने की जरूरत है।
 

IB

Win Big, Make Your Cricket Prediction Now