X close
X close

'मैं पाकिस्तान के लिए दो टीमें बनाना चाहता हूं', टीम इंडिया की कॉपी करने चल पड़े हैं शाहिद अफरीदी

जिस तरह से भारतीय टीम ने अपनी बेंच स्ट्रेंथ को मजबूत करके एक ही समय में दो इंडियन टीमें तैयार कर ली हैं उसी तरह पाकिस्तान भी नकल करने की राह पर चल पड़ा है।

Shubham Yadav
By Shubham Yadav January 01, 2023 • 12:28 PM

जब से भारतीय क्रिकेट टीम ने अपनी बेंच स्ट्रेंथ का इस्तेमाल करते हुए एक ही समय पर दो इंडियन टीमें तैयार की हैं, उसने बाकी देशों के लिए भी एक मिसाल पेश कर दी है और यही कारण है कि बाकी देशों की टीमें भी बीसीसीआई की राह पर चल पड़ी हैं। अब इसी कड़ी में पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) भी भारतीय टीम की कॉपी करने की राह पर चल पड़ा है।

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड की अंतरिम चयन समिति के अध्यक्ष शाहिद अफरीदी ने कहा है कि बेंच स्ट्रेंथ में सुधार के लिए वो पाकिस्तान के लिए दो टीमें बनाना चाहते हैं। एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बोलते हुए, अफरीदी ने कहा, "बेंच स्ट्रेंथ में सुधार के लिए मैं अपना कार्यकाल समाप्त होने से पहले पाकिस्तान के लिए दो टीमें बनाना चाहता हूं। मुझे लगता है कि अतीत में कम्युनिकेशन की कमी थी। मैंने खिलाड़ियों से व्यक्तिगत रूप से बात करके उनकी समस्याओं के बारे में जाना है।”

Trending


अफरीदी का ये बयान तब आया जब पाकिस्तान के तेज गेंदबाज शाहीन अफरीदी और हारिस रऊफ की अनुपस्थिति में घर में ही वो टेस्ट सीरीज 0-3 से हार गए। न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले टेस्ट में पाकिस्तानी तेज गेंदबाज एक बार फिर विफल रहे और एक समय पाकिस्तानी टीम ये मैच भी हारती हुई दिख रही थी लेकिन लोअर मिडल ऑर्डर ने पाकिस्तान की लाज बचा ली।

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान ने ये भी बताया कि वो खिलाड़ियों और अधिकारियों के बीच कम्युनिकेशन की खाई को खत्म करना चाहते हैं। इसके अलावा अफरीदी ने न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज के लिए फखर जमान और हारिस सोहेल के चयन को भी सही ठहराया। उन्होंने कहा, “मैंने सीधे हारिस और फखर से बात की और उनका टेस्ट लिया गया। जहां वो फिट दिखे और मेरा मानना है कि खिलाड़ियों और चयन समिति के बीच सीधा कम्युनिकेशन होना चाहिए।"

Also Read: SA20, 2023 - Squads & Schedule

आपको बता दें कि अफरीदी के अलावा पीसीबी के चयन पैनल में संयोजक के रूप में हारून राशिद के साथ अब्दुल रज्जाक और राव इफ्तिखार अंजुम भी शामिल हैं। ऐसे में ये देखना दिलचस्प होगा कि रमीज राजा के जाने के बाद क्या पाकिस्तान क्रिकेट में कुछ बदलाव देखने को मिलता है।