X close
X close
Indibet

IND vs AUS: वनडे और टी-20 में भारत का पलड़ा भारी लेकिन टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया को हराना थोड़ा मुश्किल, पूर्व गेंदबाज आरपी सिंह ने दिया बयान

IANS News
By IANS News
November 24, 2020 • 22:00 PM View: 555

पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज रूद्र प्रताप सिंह का मानना है कि वनडे और टी20 में भारत अपने प्रतिद्वंद्वी आस्ट्रेलिया से कहीं आगे है, लेकिन टेस्ट सीरीज में कंगारूओं को हराने के लिए भारत को अपने ख्यालों से बाहर आकर सोचना होगा क्योंकि क्रिकेट सबसे लंबे प्रारुप को मेहमान टीम को मेजबान टीम से टक्कर मिलेगी।

आस्ट्रेलिया दौरे पर गई भारतीय टीम शुक्रवार से वनडे सीरीज की शुरूआत करेगी। इसके बाद वह टी20 और चार मैचों की टेस्ट सीरीज खेलेगी।

Trending


आरपी ने कहा, "वनडे और टी20 में, मुझे नहीं लगता है कि आस्ट्रेलिया की जीत की संभावना है। हमारी टीम बहुत अच्छा कर रही है और इन दोनों प्रारुप में आस्ट्रेलिया से कहीं आगे है। लेकिन टेस्ट सीरीज में भारत को कड़ी टक्कर मिलेगी। यह एक अलग प्रारुप है और इसमें हमें कड़ी मेहनत करनी होगी।"

उन्होंने कहा, " भारत की जीत की संभावना आस्ट्रेलिया से ज्यादा है, लेकिन यह बराबरी का मुकाबला होगा। मुझे लगता है कि दोनों टीमों का गेंदबाजी आक्रमण एक जैसा है क्योंकि आस्ट्रेलिया के पास मिशेल स्टार्क और पैट कमिंस है। लेकिन बल्लेबाजी विभाग में भारत आगे है।"

34 साल के आरपी ने कहा कि भारत के पास ऐसी गेंदबाजी आक्रमण है, जो आस्ट्रेलिया को चौंका सकती है।

उन्होंने कहा, " जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी सहित हमारे पास ऐसी गेंदबाजी आक्रमण है, जो अवश्य आस्ट्रेलिया को चौंकाएगी। यहां तक कि हमारी बेंच भी काफी मजबूत है। अगर आप टीम संतुलन को देखें तो भारत एक बेहतर संतुलित टीम है।"

पूर्व तेज गेंदबाज ने 2007-08 के आस्ट्रेलिया दौरे पर पर्थ में खेले गए टेस्ट मैच में चार विकेट लिए थे। उनका मानना है कि पर्थ की तेज हवाएं गेंदबाजों को मदद करती है।

उन्होंने कहा, " पर्थ में तेज हवाओं के चलते शाम के समय गेंदबाजों को मदद मिलती है। इसलिए वहां खेलते समय आपको इसका ध्यान रखना होगा। पिच पूरी तरह से अलग है। आप वहां परंपरागत क्रिकेट खेलकर जीत नहीं सकते। आस्ट्रेलिया में जीत दर्ज करने के लिए आपको अपने ख्यालों से बाहर सोचना होगा। हमारी बल्लेबाजी विभाग भी काफी अच्छी है। लेकिन जीत दर्ज करने के लिए हमें सामूहिक प्रयास की जरूरत है।"


 
Article