X close
X close

IND vs AUS: भारत-ऑस्ट्रेलिया सीरीज में किस टीम का पलड़ा रहेगा ज्यादा भारी,BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली ने रखी अपनी राय

By Shubham Shah
Nov 03, 2020 • 11:17 AM

आईपीएल के 13 वें सीजन के बाद भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया दौरे पर जा रही है जहां टीम को 4 मैचों की टेस्ट सीरीज, 3 मैचों की वनडे तथा 3 ही मैचों की टी-20 सीरीज भी खेलनी है। दौरे की शुरूआत 27 नवंबर को वनडे सीरीज से होगी। इस ऑस्ट्रलियाई दौरे के लिए भारतीय टीम की घोषणा हो चुकी है और सबसे हैरान कर देने वाली बात ये रही की भारतीय विस्फोटक ओपनर रोहित शर्मा को किसी भी सीरीज के लिए टीम में शामिल नहीं किया गया है।

इस दौरे को लेकर पहले से ही दोनों देश के दिग्गजों कर तरफ से बयान आने शुरू हो गए है। कुछ दिनों पहले पूर्व ऑस्ट्रलियाई तेज गेंदबाज जेसन गिलेस्पी ने कहा था कि भुवनेश्वर कुमार और ईशांत शर्मा के ना होने से टेस्ट सीरीज में ऑस्ट्रेलिया का पलड़ा बहुत भारी है।

Also Read: पूर्व कप्तान कपिल देव ने कहा, अगर धोनी सिर्फ IPL खेलेंगे तो उनके लिए अच्छा प्रदर्शन कर पाना असंभव

अब बीसीसीआई अध्य्क्ष और पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने इसे लेकर अपनी राय रखी है। 

गांगुली ने कहा कि भारत के लिए यह ऑस्ट्रेलिया दौरा हमेशा की तरह बहुत मुश्किल होगा और टीम में स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर की वापसी ऑस्ट्रेलियाई टीम में चार चांद लगाएगी।

गांगुली ने एक इंटरव्यू में कहा,"ऑस्ट्रेलिया को ऑस्ट्रेलिया में हराना हमेशा कठिन रहा है। स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर के साथ होने से वह और भी मजबूत नजर आ रहे है। मार्नस लाबुशेन जैसे युवा खिलाड़ियों ने भी टीम के लिए बेहतरीन प्रदर्शन किया है। यह भारत के लिए एक अच्छी सीरीज होगी और वो जितने का दमखम भी रखते है।"

गांगुली ने कहा कि दोनों ही टीमों के लिए यह एक बेहतरीन सीरीज रहेगी और दोनों के पास सीरीज जीतने का 50-50 मौका होगा। साथ में उन्होंने यह भी कहा कि दोनों ही टीमों के बल्लेबाजों को रन बनाने होंगे और वहां जिस टीम की बल्लेबाजी अच्छी होगी, उसके जीतने के मौके बने रहेंगे।

साथ ही उन्होंने कहा कि इशांत शर्मा और रोहित शर्मा ऑस्ट्रेलिया दौरे से पूरी तरह बाहर नहीं हुए है और उनके स्वास्थ्य पर ध्यान दिया जा रहा है। ईशांत शर्मा अगर फिट हो जाते हैं त वह टेस्ट सीरीज का हिस्सा होंगे। 

रोहित के बारे में बात करते हुए गांगुली ने कहा कि उनका फिटनेस टेस्ट होगा और जैसे ही वो फिट होते है तो उनके नाम पर विचार किया जाएगा।