X close
X close
Indibet

हरलीन देओल: बचपन में लड़कों के साथ खेलती थीं क्रिकेट, आसपास नहीं था कोई खेलने वाला

Prabhat  Sharma
By Prabhat Sharma
July 10, 2021 • 18:06 PM View: 3379

India Women vs England Women: भारतीय महिला क्रिकेट टीम और इंग्लैंड महिला टीम के बीच खेले गए पहले टी-20 मुकाबले के दौरान मैदान पर एक हैरान कर देने वाला दृश्य देखने को मिला। हरलीन देओल (Harleen Deol) ने बाउंड्री लाइन के पास शानदार कैच लपककर सभी को अपना दीवाना बना दिया है।

हरलीन देओल ने महज 8 साल की उम्र से क्रिकेट खेलना शुरू कर दिया था। हरलीन देओल के बारे में यह बात बहुत कम लोग जानते हैं कि क्रिकेट में हरलीन की इतनी ज्यादा रूची थी कि बचपन में वह लड़कों के साथ क्रिकेट खेलती थीं।

Trending


हरलीन देओल के साथ आसपास कोई खेलने वाला नहीं था। इस कारण वह अपनी गली के लड़कों के साथ ही खेलने लगी थीं। गली क्रिकेट में उनके भाई ने भी उनका साथ दिया। जब वह 13 साल की हुईं तो उन्होंने हिमाचल से क्रिकेट के लिए प्रोफेशनल ट्रेनिंग लेना शुरू कर दिया था। हरलीन देओल अपने स्कूल टाइम में बेस्ट एथलीट रह चुकी हैं और क्रिकेट के अलावा हॉकी, फुटबॉल और बास्‍केटबॉल में भी उन्हें रूची है।

हरलीन देओल के कैच की बात करें तो इंग्लैंड की पारी के 19वें ओवर के दौरान बाउंड्री लाइन पर फील्डिंग के दैरान उन्होंने यह करिश्मा किया था जिसकी शायद ही किसी ने कल्पना की हो। एमी जोन्स (Ami Jones) ने शिखा पांडे की गेंद पर शानदार शॉट लगाया और एक पल को ऐसा लगा कि गेंद आसानी से बाउंड्री पार कर जाएगी।

बाउंड्री लाइन पर फील्डिंग कर रहीं हरलीन देओल ने हवा में छलांग लगाई और गोता लगाते हुए शानदार कैच लपक लिया। बाउंड्री रोप उनके बेहद करीब था। ऐसे में हरलीन ने गेंद को हवा में बाउंड्री के अंदर की ओर उछाला और खुद बाउंड्री के बाहर कूद गईं। हरलीन देओल की इस फील्डिंग को देखकर क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर ने इस कैच को साल का सबसे बेहतरीन कैच बताया है। 

वहीं अगर मैच की बात करें तो इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में 7 विकेट खोकर 177 रन बनाए थे। बारिश से प्रभावित इस मैच में डकवर्थ लुईस नियम के अनुसार टीम इंडिया के  8.4 ओवर में 73 रन होने चाहिए थे लेकिन भारतीय टीम इतने ओवर में 3 विकेट खोकर 54 रन ही बना सकी थी जिसके चलते इंग्लैंड ने यह मुकाबला 18 रनों से जीत लिया।


Win Big, Make Your Cricket Prediction Now

Koo