Advertisement
Advertisement

खेल मंत्री मनोज तिवारी का धमाका, 36 साल की उम्र में भी नहीं बुझी है प्यास

बंगाल के खेल मंत्री मनोज तिवारी ने रणजी ट्रॉफी के क्वार्टरफाइनल में शतक जड़कर अपनी टीम को सेमीफाइनल में पहुंचा दिया।

Shubham Yadav
By Shubham Yadav June 10, 2022 • 17:05 PM
Cricket Image for खेल मंत्री मनोज तिवारी का धमाका, 36 साल की उम्र में भी नहीं बुझी है प्यास
Cricket Image for खेल मंत्री मनोज तिवारी का धमाका, 36 साल की उम्र में भी नहीं बुझी है प्यास (Image Source: Google)
Advertisement

रणजी ट्रॉफी 2022 के पहले क्वार्टफाइनल में झारखंड के खिलाफ ड्रा के बाद बंगाल ने सेमीफाइनल के लिए क्वालीफाई कर लिया है। ये मैच ड्रॉ हुआ लेकिन पहली पारी में बढ़त के चलते बंगाल की टीम सेमीफाइनल तक पहुंचने में सफल रही। बेंगलुरु में पहले क्वार्टर फाइनल में अपनी दूसरी पारी में सात विकेट खोकर बंगाल की टीम ने 318 रन बनाए थे लेकिन परिणाम की कोई संभावना न होने पर मैच को ड्रॉ घोषित कर दिया गया।

मनोज तिवारी, जो आखिरी दिन से पहले 12 रन बनाकर नाबाद थे, ने रन आउट होने से पहले 185 गेंदों में 136 रनों की शतकीय पारी खेली। तिवारी के अलावा पारी का सातवां शिकार बनने से पहले शाहबाज अहमद ने 51 रनों की तेज 46 रनों का योगदान दिया। इससे पहले बंगाल ने पहली पारी में सात विकेट खोकर 773 रनों का विशाल स्कोर बनाया था।

Trending


इस मैच में कई खिलाड़ियों ने शानदार खेल दिखाया लेकिन मैच खत्म होते-होते बंगाल के खेल मंत्री मनोज तिवारी लाइमलाइट लूटने मं सफल रहे। तिवारी ने पहली पारी में ही झलकी दिखा दी थी कि वो इस मुकाबले में कुछ बड़ा करेंगे। झारखंड के खिलाफ पहली पारी  में 173 गेंदों में 73 रन बनाने वाले मनोज तिवारी ने दूसरी पारी में शतक ठोककर ये दिखा दिया कि बेशक वो खेल मंत्री बन गए हों लेकिन अभी भी उनमें काफी क्रिकेट बाकी है।

दूसरी पारी में मनोज तिवारी ने 185 गेंदों में 136 रनों की पारी खेली और ये सुनिश्चित किया कि बंगाल की टीम इस मैच में झारखंड को वापसी का मौका ना दे। उन्होंने अपनी इस पारी में 19 चौके और 2 छक्के लगाए। तिवारी की इस पारी के बाद सोशल मीडिया पर भी उनकी जमकर तारीफ हो रही है। हालांकि, अब सेमीफाइनल में देखना दिलचस्प होगा कि बंगाल के लिए वो कितना बड़ा योगदान दे पाते हैं।

Advertisement

Cricket Scorecard

Advertisement
Advertisement