X close
X close
टॉप 10 क्रिकेट की ख़बरे

अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने किया ऐलान, स्पिनरों के बाद अब दिग्गज तेज गेंदबाजों की तलाश शुरू

by Vishal Bhagat May 10, 2019 • 17:12 PM

10 मई। अफगानिस्तान क्रिकेट टीम अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में अब तक के अपने सफर में स्पिनरों के दम पर कमाल करती आई है लेकिन अब हालात बदलने वाले हैं क्योंकि अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड (एसीबी) ने देश में तेज गेंदबाज विकसित करने के लिए रणनीति बना ली है।

अफगानिस्तान ने विश्व क्रिकेट को राशिद खान और मुजीब-उर-रहमान जैसे नायाब स्पिनर दिए हैं और इनकी बदौलत अफगान टीम लम्बे समय से बड़ी-बड़ी टीमों को पानी पिलाती रही है। एसीबी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी की मानें तो अब हालात बदलने वाले हैं क्योंकि उनका पूरा ध्यान अब देश में तेज गेंदबाजों की खेप पैदा करने पर है।

एसीबी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी असदुल्लाह खान ने यहां आयोजित एक कार्यक्रम से इतर आईएएनएस के साथ विशेष बातचीत में कहा कि उनके देश की घरेलू क्रिकेट बेहद मजबूत है और इसलिए राशिद, मुजीब, नबी जैसे खिलाड़ी निकले और अब उनका ध्यान अगले दो साल में अच्छे तेज गेंदबाज तैयार करने पर है। 

असदुल्लाह ने कहा, "देखिए क्रिकेट या कोई भी खेल दिलचस्पी से होता है। अगर आप दिलचस्पी से खेलेंगे तो जगह वगैरह का कोइ मतलब नहीं बनता। अगर आपको शौक है। आपके अंदर जुनून है तो आप कहीं भी कुछ भी सीख सकते हैं।"

उन्होंने कहा, "हमारी घरेलू क्रिकेट मजबूत नहीं होती तो हमारे पास नबी, राशिद और मुजीब जैसे खिलाड़ी नहीं होते। हमारी घरेलू क्रिकेट काफी मजबूत है। हम उसमें हर साल बदलाव करते रहते हैं। हम जरूरत के हिसाब से बदलाव करते हैं। जैसे कि अब हमारी अगली रणनीति ज्यादा से ज्यादा तेज गेंदबाजों को तैयार करने की है। अगले दो साल में हमारे पास अच्छे तेज गेंदबाज होंगे।"

अफगानिस्तान 30 मई से इंग्लैंड में विश्व कप में शिरकत करेगी और एक जून को उसके सामने आस्ट्रेलिया की चुनौती होगी। असदुल्लाह ने माना कि उनके सामने यह विश्व कप चुनौती है लेकिन सिर्फ उनकी टीम के लिए नहीं, सभी टीमों के लिए यह टूर्नामेंट चुनौती से भरा है। 

उन्होंने कहा, "चुनौती तो हमेशा रहती है। विश्व कप में सभी फुल मेम्बर्स हैं। वहां खेलना चुनौती तो होगी, लेकिन वह सिर्फ हमारे लिए ही नहीं बल्कि सभी टीमों के लिए चुनौती है। वहां गलती करने के मौके कम होंगे। जितनी कम गलतियां करोगे उतने ही मैच जीतोगे।"

इंग्लैंड की परिस्थतियों में खेलने को लेकर असदुल्लाह ने कहा, "हम बीते चार महीनों से अलग-अलग परिस्थितियों में अभ्यास कर रहे हैं। हमने दक्षिण अफ्रीका में भी अभ्यास किया। हमारी टीम स्कॉटलैंड गई हुई है। इसके बाद हम आयरलैंड से खेलेंगे तो हम विश्व कप के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।"

अफगानिस्तान इस समय विश्व क्रिकेट में एक ऐसी टीम है जो सीमित ओवरों में किसी भी टीम को कभी भी हराने का माद्दा रखती है। सीईओ ने कहा कि सिर्फ क्रिकेट में ही नहीं अफगानिस्तान का इतिहास गवाह है कि अफगानी कुछ भी कर सकते हैं।

उन्होंने कहा, "पहले हमारी सोच सिर्फ यह रहती थी कि हम खेलने जा रहे हैं लेकिन इस बार हम जीतने के लिए जा रहे हैं। अफगानिस्तान का इतिहास उठा के देख लें तो इस देश ने हमेशा ऐसा ही किया। आप किसी भी क्षेत्र में हमारा इतिहास उठा के देख लें। क्रिकेट में बीते 10 साल से हमने जो सुधार किया है, वो दुनिया के सामने है। हम किसी भी टीम को हरा सकते हैं और हराएंगे भी।"

बीते महीने एसीबी ने कप्तानी में बदलाव करते हुए असगर स्टानिकजाई को हटा गुलबदीन नैब को टीम की कप्तान नियुक्त किया था। जिसके बाद टीम के दो अहम खिलाड़ियों राशिद और नबी ने सोशल नेटवर्किं ग साइट्स पर इसे लेकर अपना गुस्सा जाहिर किया था। इस विवाद पर असदुल्लाह ने कहा, "यह हर किसी की अपनी राय है कि वो किस तरीके से इसे देखते हैं। हमारी चयन समिति ने भी इसे देखा है तो जो कमी थी उसे पूरा करने की कोशिश की है। अब इस मसले को सुलझा लिया गया है।"