X close
X close
टॉप 10 क्रिकेट की ख़बरे

कार्यक्रम की घोषणा के साथ बजा आईपीएल के 12वें संस्करण का बिगुल

by Sahir Usman Feb 19, 2019 • 19:21 PM

नई दिल्ली, 19 फरवरी - विश्व क्रिकेट की सबसे बड़ी और धनी घरेलू टी-20 लीग इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) का 13वां संस्करण 23 मार्च से शुरू हो रहा है। इस साल कई अनिश्चिताओं के बीच लीग का आयोजन होना है। लोकसभा चुनावों के बीच आईपीएल खेला जाएगा। ऐसे में मैचों के स्थलों को लेकर स्थिति साफ नहीं है और इसी को देखते हुए बीसीसीआई ने भी सिर्फ शुरुआती दो सप्ताहों का कार्यक्रम ही घोषित किया है। 

बीसीसीआई चुनावों के कारण होम एंड अवे प्रारूप को भी हटा सकती है और तटस्थ स्थानों पर लीग के मैचों का आयोजन हो सकता है। पहले ऐसी भी खबरें थीं कि चुनावों के कारण आईपीएल दुबई या दक्षिण अफ्रीका में खेला जा सकता है। 2009 और 2014 में ऐसा हो चुका है लेकिन भारतीय सरकार से बात होने के बाद बीसीसीआई ने इसे भारत में ही आयोजित कराने का फैसला किया। 

इस सीजन के पहले मैच में मौजूदा चैम्पियन चेन्नई सुपर किंग्स 23 मार्च को बेंगलुरु में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर से भिड़ेगी। 23 मार्च से पांच अप्रैल तक 8 स्थानों पर कुल 17 मैच खेले जाएंगे। 

इस दौरान सभी टीमें कम से कम चार मैच खेलेंगी, जिसमें दो अपने घर में और दो घर के बाहर के मैच होंगे। वहीं, दिल्ली केपिटल्स और बेंगलोर पांच मैच खेलेंगी। दिल्ली घर में तीन और बेंगलोर घर के बाहर तीन मैच खेलेगी। 

यह आईपीएल इस लिहाज से भी खास है क्योंकि 12 मई को खत्म होने वाले इस टूर्नामेंट के बाद 30 मई से इंग्लैंड में क्रिकेट के महाकुंभ की भी शुरुआत हो रही है। ऐसे में हर देश आईपीएल में अपने खिलाड़ियों पर विशेष निगाहें रखेगा ताकि विश्व कप जैसे अहम टूर्नामेंट से पहले उसके मुख्य खिलाड़ी चोट से बचे रहें। 

भारतीय कप्तान विराट कोहली और बीसीसीआई ऐसे संकेत दे चुके हैं कि आईपीएल में वह अपने खिलाड़ियों के कामकाज पर ध्यान देंगे। ऐसे में देखना होगा कि हर टीम के बड़े नाम इस साल आईपीएल में खेलते हैं या नहीं और खेलते भी हैं तो उनकी हिस्सेदारी कितनी होगी। 

इस साल कुछ टीमें भी नए अंदाज में दिखेगी। बीते 12 संस्करणों में दिल्ली डेयरडेविल्स के नाम से खेलने वाली दिल्ली फ्रेंचाइजी इस साल दिल्ली कैपिटल्स के नाम से उतरेगी और अपना पहला मैच मुंबई इंडियंस के खिलाफ खेलेगी। 

आईपीएल में दिल्ली का प्रदर्शन बेहद खराब रहा है और वह अभी तक एक भी बार फाइनल में नहीं पहुंची है। इस बार बदले नाम से उतरने वाली यह टीम उम्मीद करेगी कि वह अपनी खिताबी जीत का सूखा खत्म करे। 

वहीं, किंग्स इलेवन पंजाब ने भी अपने टीम प्रबंधन में बदलाव किया है और न्यूजीलैंड के पूर्व कोच माइक हेसन को अपना नया मुख्य कोच नियुक्त किया है। वह वीरेंद्र सहवाग का स्थान लेंगे। हेसन ने आते ही अपने पसंदीदा सहयोगी स्टाफ की भर्ती की है। पंजाब को भी उम्मीद होगी कि वह नए टीम प्रबंधन के मार्गदर्शन में पहली बार खिताब जीते। 

पंजाब को अपना पहला मैच 25 मार्च को राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ खेलना है। राजस्थान ने चेन्नई के साथ बीते सीजन दो साल बाद वापसी की थी और टीम बेहद करीब आकर प्लेऑफ में जाने से चूक गई थी। इस बार राजस्थान उस कमी को पूरा करने की कोशिश करेगी। 

राजस्थान में स्टीवन स्मिथ की वापसी हो सकती है जो बीते साल बॉल टेम्परिंग विवाद के बाद टीम से बाहर कर दिए गए थे। स्मिथ पर क्रिकेट आस्ट्रेलिया ने एक साल का प्रतिबंध लगाया था जो 28 मार्च को समाप्त हो रहा है। 

2008 में पहली बार आयोजित आईपीएल का खिताब जीतने वाली राजस्थान की टीम इस साल नई जर्सी में दिखाई देगी। अभी तक वह नीले रंग की जर्सी में खेला करती थी लेकिन इस सीजन वह गुलाबी रंग की जर्सी में दिखाई देगी। 

स्मिथ के साथ ही उनके हमवतन डेविड वार्नर भी इसी कारण पिछले साल आईपीएल में नहीं खेले थे। उनका प्रतिबंध भी 28 मार्च को खत्म हो रहा है। वार्नर ने अपनी कप्तानी में हैदराबाद को 2016 में खिताब दिलाया था। इस साल वह कप्तान के रूप में वापसी करेंगे या नहीं यह देखना होगा। 

मुंबई चौथे खिताब की दौड़ में होगी। उसने इस साल अपने अधिकतर खिलाड़ियों को बनाए रखा था और नीलामी में उसने ज्यादा खिलाड़ी खरीदने पर जोर नहीं दिया। रोहित शर्मा की कप्तानी वाली इस टीम का अहम हिस्सा भारत के प्रमुख तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह हैं। ऐसी अटकलें हैं कि बुमराह इस सीजन आराम फरमा सकते हैं। मुंबई ने इस साल युवराज सिंह को अपने नाम किया है। 

दिनेश कार्तिक की कप्तानी वाली कोलकाता नाइट राइडर्स अपना तीसरा खिताब हासिल करना चाहेगी। इस सीजन वह वेस्टइंडीज के कार्लोस ब्राथवेट को पांच करोड़ की कीमत अदा कर अपने साथ लेकर आई है। 


आईएएनएस


TAGS IPL 2019