गेंदबाज रजनीश गुरबानी की घातक गेंदबाजी के बल पर विदर्भ की टीम पहुंची रणजी ट्रॉफी के फाऩइल में
X close
X close
टॉप 10 क्रिकेट की ख़बरे

गेंदबाज रजनीश गुरबानी की घातक गेंदबाजी ने विदर्भ को पहुंचाया रणजी ट्रॉफी के फाइनल में, कर्नाटक को मिली करारी हार

by Vishal Bhagat Dec 21, 2017 • 14:44 PM

कोलकाता, 21 दिसंबर| रजनीश गुरबानी (7/68) की शानदार गेंदबाजी के दम पर विदर्भ ने रणजी ट्रॉफी के दूसरे सेमीफाइनल में गुरुवार को आठ बार की विजेता टीम कर्नाटक को हराकर पहली बार फाइनल में प्रवेश किया है। ईडन गार्डन्स मैदान पर खेले गए इस मैच में विदर्भ ने कर्नाटक को पांच रनों से हराया। विदर्भ का सामना अब फाइनल में दिल्ली से होगा। 

साउथ अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज के लिए सुरेश रैना की वापसी भारतीय टीम में

विदर्भ और कर्नाटक का मुकाबला रोमांचक मोड़ पर था। कर्नाटक को जीत के लिए केवल 87 रनों की जरूरत थी, वहीं विदर्भ को तीन विकेट हासिल करने थे। इन तीन विकेट को विदर्भ ने गुरबानी की बदौलत हासिल कर जीत पाई।  अपनी दूसरी पारी में विदर्भ ने 313 रन बनाकर कर्नाटक को 198 रनों का लक्ष्य दिया। 

इस लक्ष्य को हासिल करने उतरी कर्नाटक ने बुधवार को दिन का खेल समाप्त होने तक सात विकेट के नुकसान पर 111 रन बना लिए थे। उसे अब केवल जीत के लिए 87 रन चाहिए थे। हालांकि, गुरबानी ने स्टम्प्स तक सबसे अधिक चार विकेट लिए थे। 

WOW मनोज तिवारी की वाइफ है बला की खूबसूरत, देखकर दंग रह जाएगें

कर्नाटक गुरुवार को लक्ष्य हासिल करने के लिए मैदान पर उतरी। पिछले दिन के नाबाद बल्लेबाजों श्रेयस गोपाल (नाबाद 24) और कप्तान विनय कुमार (36) ने 30 रन जोड़कर टीम को 141 के स्कोर तक पहुंचाया।

इसी स्कोर पर गुरबानी ने विनय को विकेट के पीछे खड़े अक्षय वाडकर के हाथों कैच आउट करवाकर पवेलियन का रास्ता दिखाया और इस साझेदारी को मजबूत नहीं होने दिया।  इसके बाद गोपाल के साथ मिलकर अभिमन्यु मिथुन (33) के साथ मिलकर 48 रनों की साझेदारी की और टीम को लक्ष्य के करीब पहुंचाया, लेकिन एक बार फिर गुरबानी कर्नाटक की परेशानी बन गए। गुरबानी ने इस साझेदारी को भी जमने नहीं दिया और 189 के स्कोर पर मिथुन उनकी गेंद पर सारवाते के हाथों लपके गए।  कर्नाटक को जीत के लिए केवल नौ रन चाहिए थे और उसके पास केवल एक विकेट बाकी था, लेकिन गुरबानी अब भी मुसीबत बनकर खड़े थे। WOW मनोज तिवारी की वाइफ है बला की खूबसूरत, देखकर दंग रह जाएगें

पहली बार फाइनल में प्रवेश की उम्मीद लिए खड़ी विदर्भ की आंखों में उस समय चमक आ गई, जब गुरबानी ने 192 के कुल स्कोर पर कर्नाटक की आखिरी उम्मीद को भी तोड़ दिया। उन्होंने श्रीनाथ अरविंद (2) को वानखाड़े के हाथों कैच आउट करवाकर विदर्भ को पांच रनों की जीत देकर रणजी ट्रॉफी के फाइनल में पहुंचा दिया।  सेमीफाइनल में विदर्भ के के लिए कुल 12 विकेट लेने वाले गुरबानी को प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया।  विदर्भ और दिल्ली के बीच अब खिताबी भिड़ंत इंदौर के होल्कर स्टेडियम में 29 दिसंबर से होगी।