X close
X close

Chokers: बड़े मैचों में साउथ अफ्रीका को क्या हो जाता है? उनके हाथ-पांव क्यों फूल जाते हैं?

नीदरलैंड के हाथों 13 रन से हारने के बाद साउथ अफ्रीका टीम वर्ल्ड कप सेमीफाइनल की रेस से बाहर हो गई है। साउथ अफ्रीका को वर्ल्ड क्रिकेट में चोकर्स कहा जाता है।

Prabhat  Sharma
By Prabhat Sharma November 06, 2022 • 12:54 PM

Chokers: नीदरलैंड से मिली 13 रनों की हार से एक बार फिर ये बात साबित हो गई है कि साउथ अफ्रीका क्रिकेट टीम वर्ल्ड क्रिकेट में सबसे बड़ी चोकर है। रबाडा, नॉर्खिया  से सजी पेस बैटरी और डिकॉक, मिलर जैसे बल्लेबाजों के होने के बावजूद साउथ अफ्रीका को एसोसिएट नेशन नीदरलैंड के हाथों शिक्सत का सामना करना पड़ा। अपने खेल के दम पर पूरी दुनिया में छा जाने वाली साउथ अफ्रीका के पास शायद विश्व खिताब जीतने का नसीब ही नहीं है।

विश्व की टॉप टीमों को बड़े आसानी से हराने वाली साउथ अफ्रीका टीम आईसीसी के इवेंट में हमेशा ही फीकी रही है। साउथ अफ्रीका को दुनिया की सबसे मज़बूत टीम माना जाता है। एबी डिविलयर्स, शॉन पॉलक, डेल स्टेन, ग्रीम स्मिथ, मखाया एंटिनी जैसे दिग्गजों के टाइम पर भी साउथ अफ्रीका टीम वर्ल्ड कप जीतने में नाकाम रही थी।

Trending


90 के दशक में था साउथ अफ्रीका का परचम: 90 के दशक में गौर करें तो पाएंगे कि उस टाइम हैंसी क्रोनिये, एलन डोनाल्ड, शॉन पोलॉक, गैरी कर्स्टन, जैक कैलिस, जोंटी रोड्स जैसे खिलाड़ी टीम में शामिल थे लेकिन, इतिहास में इस टीम को भी अंडर अचीवर या चोकर ही लिखा जाएगा।

यह भी पढ़ें: भारत-पाकिस्तान के बीच फाइनल होना लगभग तय, समझें पूरा गणित

चोकर बोले जाने पर क्या बोले थे शॉन पॉलक: एक इंटरव्यू के दौरान शॉन पोलॉक से सवाल पूछा गया, 'बड़े मैचों में साउथ अफ्रीका को क्या हो जाता है? टीम के हाथ-पांव क्यों फूल जाते हैं? उन्हें चोकर के नाम से क्यों जाना जाता है?' इस सवाल के जवाब में शॉन पॉलक ने कहा था, 'हम जी-जान लगाकर खेलते हैं। क्रिकेट का नतीजा ज़िंदगी नहीं। क्रिकेट में दो टीमें खेलती हैं और जो टीम उस दिन बेहतर होती है वह जीतती है। हम जानते हैं कि हमारी टीम अच्छी है और हम कभी वर्ल्ड कप ज़रूर जीतेंगे। यह अगले साल भी हो सकता है या कुछ वर्षों बाद भी।'