Advertisement
Advertisement

'हमें टर्निंग पिचों की जरूरत नहीं', क्या सौरभ गांगुली के बयान से सहमत हैं आप?

जसप्रीत बुमराह ने VIZAG टेस्ट में घातक गेंदबाजी की जिसे देखकर सौरव गांगुली ने ये साफ कर दिया है कि घरेलू टेस्ट जीतने के लिए भारत को स्पिन पिच बनाने की जरूरत नहीं है।

Nishant Rawat
By Nishant Rawat February 03, 2024 • 18:01 PM
'हमें टर्निंग पिचों की जरूरत नहीं', क्या सौरभ गांगुली के बयान से सहमत हैं आप?
'हमें टर्निंग पिचों की जरूरत नहीं', क्या सौरभ गांगुली के बयान से सहमत हैं आप? (Image Source: Google)
Advertisement

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सौरभ गांगुली (Sourav Ganguly) ने घरेलू पिचों को लेकर अपनी नाराजगी जाहिर की है। दरअसल, सौरभ गांगुली का मानना है कि मौजूदा समय में इंडियन टीम का पेस अटैक बेहद मजबूत है जिस वजह से अब भारतीय टीम को टेस्ट सीरीज जीतने के लिए एक स्पिन ट्रैक की कोई भी जरूरत नहीं है। उनका मानना है कि भारतीय गेंदबाज़ों में वो दम है कि वो किसी भी पिच पर विपक्षी टीम को घुटने पर झुकने के लिए मजबूर कर सकते हैं।

पूर्व कप्तान ने VIZAG टेस्ट के दूसरे दिन अपने एक्स अकाउंट से एक ट्वीट किया। उन्होंने लिखा, 'जब मैं बुमराह, शमी, सिराज और मुकेश को गेंदबाजी करते देखता हूं। मुझे आश्चर्य होता है कि हमें भारत में टर्निंग ट्रैक तैयार करने की आवश्यकता क्यों है?'

Trending


उन्होंने आगे लिखा, 'अच्छे विकेटों पर खेलने का मेरा विश्वास हर मैच के साथ मजबूत होता जा रहा है। अश्विन, जडेजा, कुलदीप और अक्षर के साथ वो किसी भी सतह पर 20 विकेट चटका सकते हैं। पिछले 6-7 सालों से पिचों के कारण भारत में बल्लेबाजी की गुणवत्ता गिर रही है। अच्छे विकेट बहुत जरूरी हैं। भारत फिर भी 5 दिनों में जीतेगा।'

Also Read: Live Score

आपको बता दें कि सौरभ गांगुली का ये बयान कहीं ना कहीं बिल्कुल सही लगता है। ऐसा इसलिए क्योंकि बुमराह की अगुवाई में बीते समय में भारतीय पेस अटैक ने बहुत अच्छा काम किया। विदेशी जमीन पर भी टीम का प्रदर्शन शानदार रहा है और विशाखापट्टनम टेस्ट में भी बुमराह के दम पर मेजबानों ने इंग्लिश टीम को महज 253 रनों पर सिमेट दिया। बुमराह ने 15.5 ओवर में सिर्फ 45 रन देकर 6 विकेट झटके। ऐसे में ये कहना बिल्कुल गलत नहीं लगता कि भारतीय पेसर अपने दम पर कभी भी मैच पलटने का दम रखते हैं। 

Advertisement

Cricket Scorecard

Advertisement
Advertisement