X close
X close
Indibet

'KKR में आया तब लोगों को पता चला कि मैं पिछले दो सालों से घर बैठकर सिर्फ रोटियां नहीं तोड़ रहा था'

उमेश यादव ने भारतीय सेलेक्टर्स को इशारों ही इशारों में घेरा है। उनका मानना है कि बीते समय में वह अच्छा क्रिकेट खेल रहे थे, लेकिन इस दौरान उन पर किसी ने ध्यान नहीं दिया।

Nishant Rawat
By Nishant Rawat September 19, 2022 • 12:40 PM

गन गेंदबाज़ उमेश यादव 43 महीनों के बाद ब्लू जर्सी में वापसी करने जा रहे हैं। भारत ऑस्ट्रेलिया के बीच तीन मैचों की टी-20 सीरीज खेली जानी है जिसके लिए उमेश यादव को मोहम्मद शमी की रिप्लेसमेंट के तौर पर टीम के साथ जुड़ा गया है। इसी बीच अब 34 साल के भारतीय गेंदबाज़ ने एक बड़ा खुलासा किया है। दरअसल, उमेश यादव का मानना है आईपीएल 2020 के बाद भी वह अच्छी गेंदबाज़ी कर रहे थे लेकिन सेलेक्टर्स ने उन पर बिल्कुल भी गौर नहीं किया और इसी कारण उन्हें वाइट बॉल क्रिकेट में मौके नहीं मिले।

उमेश यादव ने पत्रकार विमल कुमार से बातचीत करते हुए अपने कठिन दिनों को याद किया। वह बोले, 'आईपीएल 2020 के बाद से ही मैंने वाइट बॉल क्रिकेट नहीं खेला है। मैं अच्छी गेंदबाज़ी कर रहा था, मैं प्रैक्टिस भी अच्छी कर रहा था, लेकिन मुझे मौके नहीं मिल रहे थे। इस दौरान किसी को ये पता ही नहीं था कि मैंने नेट्स में प्रैक्टिस में कैसा प्रदर्शन किया, किसी को भी मेरे बारे में कुछ नहीं पता था।'

Trending


34 साल के गन गेंदबाज़ ने अपना बयान आगे रखा। वह बोले, 'मैं जब आईपीएल 2022 में कोलकाता में आया तब लोगों को मेरी मेहनत दिखी। मेरा फोक्स मेरी मेहनत आईपीएल में लोगों ने देखी। आईपीएल में जब लोगों ने मुझे देखा तब सभी को यह पता चला कि उमेश पिछले दो सालों से घर पर बैठकर सिर्फ रोटियां नहीं खा रहा था। मैंने काफी मेहनत की, मुझे मैच नहीं मिले लेकिन इस दौरान मैंने खुद पर काफी काम किया।'

Also Read: Live Cricket Scorecard

बता दें कि टी-20 वर्ल्ड कप से कुछ महीनों पहले उमेश यादव की इंडियन टीम में वापसी से सब हैरान हैं। उमेश ने टीम के लिए आखिरी टी-20 मुकाबला 24 फरवरी 2019 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेला था। आईपीएल 2022 में उमेश यादव का प्रदर्शन शानदार रहा था, इस सीज़न उन्होंने केकेआर के लिए कुल 12 मुकाबले खेले थे जिसके दौरान गेंदबाज़ ने 7.06 की औसत के साथ 16 विकेट अपने नाम किए थे।


Win Big, Make Your Cricket Prediction Now