X close
X close
टॉप 10 क्रिकेट की ख़बरे

विजय हजारे ट्रॉफी में महाराष्ट्र, हिमाचल, बड़ौदा को मिली जीत

by Vishal Bhagat Sep 20, 2018 • 20:11 PM

20 सितंबर। विजय हजारे ट्रॉफी के दूसरे दिन गुरुवार को यहां खेले गए तीनों मैच बारिश के कारण पूरे नहीं हो सके और वीजेडी प्रणाली के इस्तेमाल से महाराष्ट्र, हिमाचल प्रदेश और बड़ौदा की टीमें अपने-अपने मैच जीतने में सफल रहीं। बड़ौदा ने जस्ट क्रिकेट अकादमी मैदान पर खेले गए मैच में विदर्भ को वीजेडी प्रणाली के तहत 37 रनों से मात दी।  स्कोरकार्ड

विदर्भ ने पहले बल्लेबाजी करते हुए अर्थव ताइदे के 57, कप्तान फैज फजल के 56 रनों की मदद से निर्धारित 50 ओवरों में सभी विकेट खोकर 254 रन बनाए थे। 

बड़ौदा की टीम लक्ष्य का अच्छे से पीछा कर रही थी। उसने 29 ओवरों में दो विकेट खोकर 151 रन बना लिए थे तभी बारिश आ गई और मैच रोक दिया गया। इसके बाद वीजेडी प्रणाली का इस्तेमाल करते हुए बड़ौदा को विजेता घोषित कर दिया गया था।  स्कोरकार्ड

बड़ौदा की तरफ से आदित्य वाघमोड़े ने 71 गेंदों में छह चौकों की मदद से 50 रन बनाए। आदित्य के सलामी जोड़ीदार केदार देवधर ने 39 गेंदों में छह चौके और दो चौकों की मदद से 46 रनों की पारी खेली। 

बारिश जब आई तब क्रूणाल पांड्या 34 और कप्तान दीपक हुड्डा 13 रन बनाकर खेल रहे थे। 

एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेले गए इसी ग्रुप के एक और मैच में महाराष्ट्र ने कर्नाटक को 57 रनों से मात दी। महाराष्ट्र ने अंकित बवाने की 104 रनों की शतकीय पारी और कप्तान राहुल त्रिपाठी की 70 रनों की पारी के दम पर 50 ओवरों में आठ विकेट के नुकसान पर 245 रन बनाए थे। 

लक्ष्य का पीछा करते हुए कर्नाटक ने 22.4 ओवरों में छह विकेट के नुकसान पर 107 रन बना लिए थे। श्रेयस गोपाल और विनय कुमार क्रमश: सात और एक रन बनाकर खेल रहे थे। तभी बारिश आ गई और मैच रोक दिया गया और दोनों टीमों के बीच वीजेडी प्रणाली का इस्तेमाल करते हुए महाराष्ट्र को विजेता घोषित कर दिया गया। 

वहीं अलुर में खेले गए मैच में भी बारिश ने खलल डाला और हिमाचल प्रदेश ने रेलवे को वीजेडी प्रणाली से मात दे दी। रेलवे ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 187 रन बनाए थे। मयंक डागर ने चार विकेट लेकर रेलवे को बड़ा स्कोर बनाने नहीं दिया।  रेलवे के लिए कर्ण शर्मा ने सबसे अधिक 33 रन बनाए। हर्ष त्यागी ने 29 रनों का योगदान दिया। 

लक्ष्य का पीछा करने उतरी हिमाचल प्रदेश के लिए कप्तान प्रशांत चोपड़ा ने 93 गेंदों में आठ चौके और एक छक्के की मदद से 77 रनों की पारी खेली। निखिल गंगता ने 91 गेंदों में चार चौकों की मदद से 50 रन बनाए।