X close
X close

1st Test: गैरी ने बिगाड़ा वेस्टइंडीज का बैलेंस, खराब हालत के बाद कराई जिम्बाब्वे की वापसी

वेस्टइंडीज ने जिम्बाब्वे के खिलाफ बुलावायो के क्वींस स्पोर्ट्स क्लब में खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच के चौथे दिन का खेल खत्म होने तक दूसरी पारी में बिना कोई विकेट गंवाए 21 रन बना लिए हैं। इसके साथ ही

Saurabh Sharma
By Saurabh Sharma February 07, 2023 • 23:35 PM

वेस्टइंडीज ने जिम्बाब्वे के खिलाफ बुलावायो के क्वींस स्पोर्ट्स क्लब में खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच के चौथे दिन का खेल खत्म होने तक दूसरी पारी में बिना कोई विकेट गंवाए 21 रन बना लिए हैं। इसके साथ ही वेस्टइंडीज की कुल बढ़त 89 रन हो गई है। दिन का खेल खत्म होने पर क्रेग ब्रेथवेट (11) औऱ तेजनारायण चंद्रपॉल (10) नाबाद पवेलियन लौटे।

चौथे दिन गैरी बैलेंस के धमाकेदार अर्धशतक के दम पर जिम्बाब्वे ने 9 विकेट के नुकसान पर 379 रन बनाकर पहली पारी घोषित कर दी।  बैलेंस ने 231 गेंदों में 12 चौकों और 2 छक्कों की मदद से नाबाद 137 रन की पारी खेली। इसके अलावा इनोसेंट काइया ने 67 रन और ब्रैंडन मावुता ने 56 रन बनाए। बता दें कि जिम्बाब्वे ने 7 विकेट 192 रन के स्कोर पर गंवा दिए थे। 

Trending


वेस्टइंडीज के लिए अल्जारी जोसेफ ने तीन विकेट, जेसन होल्डर औऱ गुडाकेश मोती ने दो-दो, केमार रोच और कप्तान क्रे ब्रेथवेट ने एक-एक विकेट हासिल किया।

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए वेस्टइंडीज ने 6 विकेट के नुकसान पर 447 रन बनाकर पहली पारी घोषित कर दी थी।  तेजनारायण चंद्रपॉल ने 467 गेंदों में नाबाद 207 रन बनाए, जिसमें उन्होंने 16 चौके और 3 छक्के जड़े। लहीं कप्तान ब्रेथवेट ने 312 गेंदों में 18 चौकों की मदद से 182 रन बनाए।

जिम्बाब्वे के लिए पहली पारी में ब्रैंडन मावुता ने पांच और वेलिंग्टन मसाकाद्जा ने एक विकेट अपने खाते में डाला। 

बैलेंस ऐसा करने वाले दूसरे खिलाड़ी

Also Read: क्रिकेट के अनसुने किस्से

बैलेंस टेस्ट क्रिकेट के 145 सालों के इतिहास में दो देशों के लिए शतक जड़ने वाले दूसरे खिलाड़ी बन गए हैं। करीब 6 साल बाद टेस्ट मैच खेल रहे बैलेंस इससे पहले इंग्लैंड क्रिकेट टीम का हिस्सा थे। वह इंग्लैंड के लिए 23 टेस्ट खेले, जिसमें उन्होंने 4 शतक जड़े। उनसे पहले दो देशों के लिए टेस्ट शतक जड़ने का कारनामा सिर्फ केप्लर वेसल्स ने किया था। वेसल्स ने ऑस्ट्रेलिया और साउथ अफ्रीका के लिए टेस्ट शतक जड़ा था।