X close
X close
Indibet

सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ हम अपना सर्वश्रेष्ठ देने पर ध्यान देंगे : अमित मिश्रा

Shubham Shah
By Shubham Shah
September 28, 2020 • 18:56 PM View: 657

दिल्ली कैपिटल्स के अनुभवी लेग स्पिनर अमित मिश्रा का मानना है कि इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 13वें सीजन में मंगलवार को जब उनकी टीम सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ मैदान पर उतरेगी, तो दबाव विपक्षी टीम पर होगा। दिल्ली कैपिटल्स की टीम लगातार दो जीत के साथ अंकतालिका में टॉप पर है जबकि हैदराबाद अब तक अपने शुरुआती दोनों मुकाबले हार चुकी है और इस सीजन में उसे अभी पहली जीत की दरकार है।

मिश्रा ने मैच की पूर्वसंध्या पर सोमवार को वर्चुअल प्रेस कान्फ्रेंस के दौरान कहा, "पहले दो मैच हारने के बाद टीम पर दबाव होता है। हालांकि यह अभी केवल टूर्नामेंट की शुरुआत है, इसलिए इससे ज्यादा फर्क नहीं पड़ेगा। लेकिन हम अपने ड्रेसिंग रूम में इस तरह की बातें नहीं करते हैं। हम खुद पर अपना ध्यान देते हैं।"

Trending


उन्होंने कहा, "अपने मैच को लेकर हमारे पास एक अच्छी लय है और हमारा आत्मविश्वास काफी ऊंचा है। इसका मतलब यह नहीं है कि हम अपने प्रदर्शन से संतुष्ट हैं। हमारा पूरा ध्यान अपनी योजनाओं पर और मैदान पर अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन देने पर है। निश्वित रूप से हम उन्हें हलके में नहीं ले रहे हैं।"

मिश्रा ने केन विलियम्सन की सनराइजर्स हैदराबाद टीम में वापसी को लेकर कहा कि उनकी टीम ने इस चुनौती का सामना करने के लिए अच्छी तैयारी है।

लेग स्पिनर ने कहा, " हमारे पास पूरी टीम को लेकर हमेशा से एक योजना रहती है। जैसा कि मैंने पहले ही कहा कि हम किसी को भी हलके में नहीं लेते है। हमारे पास बल्लेबाज और गेंदबाज, दोनों के लिए ही रणनीति है और यही रणनीति विलियम्सन के लिए भी होगी।"

37 वर्षीय मिश्रा आईपीएल में सर्वाधिक विकेट लेने वाले दूसरे गेंदबाज है। उन्होंने 148 मैचों में अब तक 157 विकेट चटकाए हैं।

उन्होंने साथ ही अपनी टीम के कोच रिकी पोंटिंग के बारे में कहा, " वह काफी लंबे समय तक खेले हैं, इसलिए उन्हें खिलाड़ियों की मनोदशा के बारे में पता है। किसी में आत्मविश्वास की कमी या अति आत्मविश्वास है तो उन्हें पता है कि क्या कहना है। वह हमेशा सकारात्मक बातें करते हैं और उनसे खिलाड़ियों के साथ तालमेल के बारे में काफी कुछ सीखा है।"

मिश्रा ने श्रेयस अय्यर की कप्तानी को लेकर कहा, "मुझे उनमें काफी सकारात्मक बातें नजर आती है। मेरे लिए अच्छी बात यह है कि वह मुझे मेरे अनुसार ही फील्ड लगाने की आजादी देते हैं। वह हमेशा खिलाड़ियों का समर्थन करते हैं और मुझे विश्वास है कि बतौर कप्तान वह काफी आगे जाएंगे।"


 
Article