X close
X close
Indibet

महान कैप्टन तो ठीक है, लेकिन रिकी पोंटिंग के ये तीन रिकॉर्ड नहीं तोड़ पाए एमएस धोनी

महेंद्र सिंह धोनी भारत के सफलतम कप्तान रहे लेकिन रिकी पोंटिंग के तीन ऐसे रिकॉर्ड भी हैं जो वो नहीं तोड़ पाए।

Shubham Yadav
By Shubham Yadav September 16, 2022 • 10:59 AM

दुनिया के सबसे सफल कप्तानों की जब-जब बात होती है तो दो नाम अक्सर लबों पर आ जाते हैं। वो दो नाम हैं महेंद्र सिंह धोनी और रिकी पोंटिंग। ये दोनों कप्तान सभी प्रमुख खिताब जीतकर अपनी योग्यता साबित कर चुके हैं। एमएस धोनी ने एशिया कप, आईपीएल और अब समाप्त हो चुके चैंपियंस लीग टी 20 के साथ सभी आईसीसी ट्राफियां जीती हैं, लेकिन इसके बावजूद वो रिकी पोंटिंग की कप्तानी के कुछ रिकॉर्ड हैं जिन्हें नहीं तोड़ पाए। आइए देखते हैं कि रिकी पोंटिंग के वो तीन रिकॉर्ड कौन से हैं, जो धोनी कप्तान के रूप में नहीं तोड़ पाए।

1. कुल मिलाकर कप्तानी का रिकॉर्ड

Trending


जहां तक ​​धोनी के कप्तानी करियर का सवाल है तो, एमएस धोनी का कप्तान के रूप में जीत प्रतिशत 53.78% है। उनकी कप्तानी में, भारतीय टीम ने 2007 से 2016 के बीच अपने 331 मैचों में से 178 जीते। वहीं, रिकी पोंटिंग की बात करें तो, पोंटिंग की कप्तानी में, ऑस्ट्रेलियाई टीम ने 2002 से 2012 के बीच अपने 324 मैचों में से 220 में जीत हासिल करके 67.90 का जीत प्रतिशत हासिल किया।

2. 50 ओवर का वर्ल्ड कप रिकॉर्ड

अगर वनडे वर्ल्ड कप में इन दोनों कप्तानों के रिकॉर्ड की बात करें तो रिकी पोंटिंग धोनी से काफी आगे हैं। एमएस धोनी के नेतृत्व में भारत ने 2011 और 2015 वर्ल्ड कप के बीच अपने 17 में से 14 मुकाबलों में जीत हासिल की और इस दौरान जीत का प्रतिशत 85.29% रहा। इस बीच, रिकी पोंटिंग के नेतृत्व में आस्ट्रेलियाई टीम ने 29 में से 26 मैचों में 92.85 के शानदार जीत प्रतिशत के साथ जीत हासिल की है। इस दौरान ऑस्ट्रेलिया 2003 और 2007 के वर्ल्ड कप में एक भी मैच नहीं हारा था।

3. विदेशी टेस्ट रिकॉर्ड

विदेशी टेस्ट रिकॉर्ड की बात करें तो कप्तान एमएस धोनी रिकी पोंटिंग के करीब भी नहीं आते हैं। धोनी यकीनन भारत के अब तक के सर्वश्रेष्ठ सफेद गेंद वाले कप्तान हैं, लेकिन वो सबसे लंबे प्रारूप में उतनी सफलता हासिल नहीं कर सके, भले ही भारत दिसंबर 2009 में उनके अधीन आईसीसी टेस्ट रैंकिंग के शिखर पर पहुंच गया था लेकिन धोनी कभी भी विदेशी सरज़मीं पर अपना टेस्ट रिकॉर्ड याद नहीं रखना चाहेंगे।

2009 और 2014 के बीच विदेशों में एमएस धोनी की कप्तानी में 30 टेस्ट मैचों में, भारत ने 24 के जीत प्रतिशत के साथ केवल छह में जीत हासिल की। ​​वहीं, पोंटिंग की बात करें तो 2004 से 2010 के बीच विदेशों में रिकी पोंटिंग के नेतृत्व में 38 मैचों में, ऑस्ट्रेलियाई टीम ने 19 मैचों में जीत हासिल की। इस दौरान पोंटिंग की कप्तानी में ऑस्ट्रेलिया का जीत प्रतिशत 50 का रहा।


Win Big, Make Your Cricket Prediction Now