Advertisement
Advertisement

ये पहली बार नहीं हो रहा कि क्रिकेटर के रिकॉर्ड से बनाए रन ही निकाल दे आईसीसी

ICC ने हाल में दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाज़ जुबैर हमजा को डोपिंग उल्लंघन के आरोप में सस्पेंड किया और उनके रिकॉर्ड से कुछ रन भी काटे, लेकिन ऐसा पहली बार नहीं हुआ है।

Charanpal Singh Sobti
By Charanpal Singh Sobti June 06, 2022 • 12:40 PM
Cricket Image for ये पहली बार नहीं हो रहा कि क्रिकेटर के रिकॉर्ड से बनाए रन ही निकाल दे आईसीसी
Cricket Image for ये पहली बार नहीं हो रहा कि क्रिकेटर के रिकॉर्ड से बनाए रन ही निकाल दे आईसीसी (Image Source: Google)
Advertisement

दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाज जुबैर हमजा को डोपिंग उल्लंघन के आरोप में आईसीसी ने सस्पेंड कर दिया है। टाइम लाइन देखिए :

-  17 जनवरी, 2022 को पार्ल, दक्षिण अफ्रीका में उनका आउट-ऑफ-कॉम्पिटिशन सैंपल लिया।
-  इसमें फ़्यूरोसेमाइड मिला जो 2022 वाडा लिस्ट में प्रतिबंधित ड्रग है।
-  22 मार्च 2022 को हमजा ने अंतरिम सस्पेंड के फैसले को माना।
-  आईसीसी ने जुबैर हमजा को 9 महीने के लिए क्रिकेट में सस्पेंड किया। ये 9 महीने 22 मार्च 2022 से शुरू होंगे और वह 22 दिसंबर 2022 को क्रिकेट में वापसी कर सकेंगे।
-  इसके अतिरिक्त सजा : 17 जनवरी से 22 मार्च 2022 के बीच हमजा के सभी व्यक्तिगत प्रदर्शन 'अयोग्य' घोषित और उनके रिकॉर्ड से निकाल दिए। इसका मतलब है जो 31 रन (25+6) इस दौर में क्राइस्टचर्च में न्यूजीलैंड के विरुद्ध टेस्ट में बनाए, वे उनके रिकॉर्ड से निकाल दिए- जो रिकॉर्ड 6 टेस्ट में 212 रन था उसे 5 टेस्ट में 181 रन कर दिया।

Trending


बड़ा अजीब लगता है कि खिलाड़ी का रिकॉर्ड ही बदल दो। ये अजीब तो है पर मजेदार बात ये है कि आईसीसी ने इस तरह का फैसला पहली बार नहीं लिया है। भारत के संदर्भ में देखें तो इसकी एक गजब की मिसाल मौजूद है।

1992 -93 की सीरीज खेलने इंग्लैंड की टीम भारत आई। मेहमान टीम के कप्तान थे ग्राहम गूच। वैसे तो इंग्लैंड के लिए भारत का ये टूर कतई यादगार नहीं रहा पर ग्राहम गूच के लिए तो ख़ास तौर पर तरस खाने वाला टूर था। मजे की बात ये है कि टूर के दौरान वे दो बड़े रिकॉर्ड बनाने के कगार पर थे- तब भी उनकी ये हालत हुई। ये रिकॉर्ड थे- अपना 100 वां टेस्ट खेलना और 100 फर्स्ट क्लास क्रिकेट शतक बनाना।

टूर का पहला दिन : कप्तान गूच ने घोषणा की कि उनकी शादी टूट गई है।
विरुद्ध इंडिया अंडर 25 इलेवन : ग्राहम गूच ने शतक बनाया। जिस तरह से इस शतक का सेलिब्रेशन किया- ये उनके लिए ख़ास था क्योंकि 100 शतक पूरे हो गए। अगले दिन अख़बारों में इस शतक की रिपोर्टिंग उनके 100वें शतक के तौर पर ही थी। रिकॉर्ड बुक में नाम आ गया। 

उसके बाद : मार्च 1993 में आईसीसी ने उनका नाम, उन बल्लेबाज की लिस्ट से बाहर कर दिया जो फर्स्ट क्लास क्रिकेट में 100 शतक बना चुके हैं। 
वजह : 1982 के इंग्लैंड रिबेल टीम के दक्षिण अफ्रीका टूर में जो एक शतक बनाया था उस पर विवाद। आईसीसी ने उस टूर मैच को फर्स्ट क्लास मानने से इंकार कर दिया। जब मैच फर्स्ट क्लास नहीं तो उसमें बनाया शतक कैसे फर्स्ट क्लास होगा ? नतीजा-  वह शतक लिस्ट से बाहर और ग्राहम गूच के रिकॉर्ड में शतक 100 से घटकर 99 रह गए।  

ये तो अच्छा हुआ कि उसी साल इंग्लिश क्रिकेट सीजन शुरू होते ही ग्राहम गूच ने, मई में कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी के विरुद्ध शतक बनाकर 100 शतक का रिकॉर्ड बना लिया अन्यथा एक शतक के लिए तरसना क्या होता है- इसकी विराट कोहली के तौर पर मिसाल सामने है। गूच शायद अकेले ऐसे बल्लेबाज हैं जिसने 100 शतक के रिकॉर्ड की सेलिब्रेशन दो बार की।  

टूर की गूच के लिए और याद : 100 वां टेस्ट खेला पर लगभग पूरे टेस्ट के दौरान, फिट नहीं थे। उसमें भी बड़ी बात कि अजीब अंदाज में स्टंप हुए- ध्यान कहीं और था। उसके बाद 'स्वाद-स्वाद' में ऐसे प्रॉन खाए कि अगले टेस्ट में खेल ही नहीं पाए। ये एक अलग किस्सा है।

ये भी पढ़े: क्या आप जानते हैं एंड्रयू साइमंड्स Bigg Boss के घर में भी रहे थे?

Advertisement

Cricket Scorecard

Advertisement