X close
X close

Cricket Flashback - 2016 में इंग्लैंड को हराकर वेस्टइंडीज दूसरी बार बनी थी टी-20 वर्ल्ड चैंपियन

टी-20 वर्ल्ड कप का छठा एडिशन साल 2016 में भारत की मेजबानी में खेला गया। जिसमें डैरेन सैमी की कप्तानी वाली वेस्टइंडीज क्रिकेट टीम फाइनल में इंग्लैंड को हराकर दूसरी बार टी-20 वर्ल्ड चैंपियन बनी।

Saurabh Sharma
By Saurabh Sharma October 20, 2022 • 09:03 AM

टी-20 वर्ल्ड कप का छठा एडिशन साल 2016 में भारत की मेजबानी में खेला गया। जिसमें डैरेन सैमी की कप्तानी वाली वेस्टइंडीज क्रिकेट टीम फाइनल में इंग्लैंड को हराकर दूसरी बार टी-20 वर्ल्ड चैंपियन बनी।

टूर्नामेंट में कुल 16 टीमों ने हिस्सा लिया। जिसमें से 10 टीमों को रैंकिंग के आधार पर जगह मिली और 6 टीमों ने क्वालीफायर खेलकर टूर्नामेंट में अपनी जगह बनाई। रैंकिंग की टॉप 8 टीमें सीधे सुपर 10 स्टेज के लिए क्वालीफाई कर गई। जबकि 8 टीमों के बीच पहले राउंड के मुकाबले खेले गए। पहले राउंड के दोनों ग्रुप में टॉप रही बांग्लादेश और अफगानिस्तान ने सुपर 10 में एंट्री मारी।

Trending


सुपर 10 स्टेज में पांच-पांच टीमों के दो ग्रुप बने। जिसमें ग्रुप 1 में वेस्टइंडीज, इग्लैंड, साउथ अफ्रीका,श्रीलंका और अफगानिस्तान और ग्रुप 2 में न्यूजीलैंड, भारत, ऑस्ट्रेलिया, पाकिस्तान और बांग्लादेश की टीम शामिल थी। पहले ग्रुप में से वेस्टइंडीज औऱ इंग्लैंड औऱ दूसरे ग्रुप से न्यूजीलैंड औऱ भारत ने समीफाइनल में जगह बनाई। 

दिल्ली का फिरोजशाह कोटला स्टेडियम जो अब अरूण जेटली स्टेडियम बन गया हैं, वहां इंग्लैंड औऱ न्यूजीलैंड के बीच पहला सेमीफाइनल खेला गया। जिसमें इंग्लैंड ने धमाकेदार जीत दर्ज की। दूसरा सेमीफाइनल मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में हुआ, जहां वेस्टइंडीज 7 विकेट से जीत दर्ज कर मेजबान भारत का सफर खत्म किया। 

फाइनल की टक्कर

36 साल बाद किसी भी फॉर्मेट के वर्ल्ड कप फाइनल में वेस्टइंडीज औऱ इंग्लैंड की टीमें आमनें-सामनें थी। दोनों ही टीमों का यह दूसरा टी-20 वर्ल्ड कप फाइनल था। 

कोलकाता के एतेहासिल ईडन गार्डन्स में डैरेन सैमी ने टॉस जीतकर इंग्लैंड को पहले बल्लेबाजी का न्यौता दिया। इंग्लैंड ने 9 विकेट के नुकसान पर 155 रनों का सम्मानजनक स्कोर बनाया, जिसमें जो रूट ने 36 गेंदों में 54 रन की पारी खेली औऱ जोस बटलर ने 22 गेंदों में 36 रन बनाए। वेस्टइंडीज ने लिए गेंदबाजी में कार्लोस ब्रैथवेट और ड्वेन ब्रावो ने 3-3 और सैमुएल बद्री ने एक विकेट चटकाया।

Samuels

लक्ष्य का पीछा करने उतरी वेस्टइंडीज की शुरूआत खराब रही औऱ कुल 11 रन पर क्रिस गेल, जॉनसन चार्ल्स और लेंडल सिंमस आउट हो गए। इसके बाद मार्लो सैमुअल्स ने ड्वेन ब्रावो के साथ मिलकर चौथे विकेट के लिए 75 रन जोड़े। लेकिन ब्रावो के आउट होने के बाद अगले 20 रन के अंदर दो विकेट और गिर गए।

वेस्टइंडीज को आखिरी ओवर में जीत के लिए 19 रनों की दराकर थी और गेंद थी बेन स्टोक्स के हाथों में। स्ट्राइक पर मौजूद कार्लोस ब्रैथवेट ने स्टोक्स के खिलाफ लगातार 4 गेंद पर 4 छक्के छक्के जड़े वेस्टइंडीज को जीत दिलाई और अपना नाम इतिहास के पन्नों में दर्ज करा दिया।

ब्रैथवेट ने 10 गेंदों में चार चौकों और एक छक्के की बदौलत नाबाद 34 रन की एतेहासिक पारी खेली। वहीं प्लेयर ऑफ द मैच रहे मार्लोन सैमुअल्स ने 66 गेंदों में नौ चौकों औऱ दो छक्कों की मदद से नाबाद 85 रन की पारी खेली थी।

Also Read: Live Cricket Scorecard