Advertisement
Advertisement

विश्व रैंकिंग हमारे लिए मायने नहीं रखती: हॉकी कप्तान हरमनप्रीत सिंह

राउरकेला, 16 मार्च हॉकी प्रो लीग 2022-23 में लगातार चार प्रभावशाली जीतों के बाद भारतीय पुरुष हॉकी टीम ताजा विश्व रैंकिंग में चौथे स्थान पर पहुंच गयी है लेकिन कप्तान हरमनप्रीत सिंह का कहना है कि खिलाड़ियों की प्राथमिकता अपने मौकों को भुनाना और विपक्षी टीम पर दबाव बनाना है ना कि रैंकिंग के बारे में सोचना।

Advertisement
IANS News
By IANS News March 16, 2023 • 17:04 PM
Harmanpreet Singh.
Harmanpreet Singh. (Image Source: IANS)

हॉकी प्रो लीग 2022-23 में लगातार चार प्रभावशाली जीतों के बाद भारतीय पुरुष हॉकी टीम ताजा विश्व रैंकिंग में चौथे स्थान पर पहुंच गयी है लेकिन कप्तान हरमनप्रीत सिंह का कहना है कि खिलाड़ियों की प्राथमिकता अपने मौकों को भुनाना और विपक्षी टीम पर दबाव बनाना है ना कि रैंकिंग के बारे में सोचना।

जीत की हैट्रिक के बाद, भारतीय टीम ने प्रो लीग के आखिरी घरेलू मैच में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बुधवार रात शानदार प्रदर्शन किया और 2-2 (4-3 शूट आउट) की जीत हासिल की।

इससे पहले भारत ने मौजूदा विश्व चैंपियन जर्मनी को 3-2 और 6-3 से तथा ऑस्ट्रेलिया को 5-4 से हराया था।

भारत के इस प्रदर्शन ने उसे प्रो लीग की पूल तालिका में आठ मैचों में 19 अंकों के साथ शीर्ष स्थान पर पहुंचा दिया है। स्पेन आठ मैचों में 17 अंकों के साथ दूसरे, अर्जेंटीना 13 अंकों के साथ तीसरे और विश्व चैंपियन जर्मनी 11 अंकों के साथ चौथे स्थान पर है।

इन परिणाम से भारत विश्व रैंकिंग में ऊपर आ गया है क्योंकि उसने रैंकिंग में अपने से ऊपर की टीमों को हराया है। भारत ने घर में जब अपना अभियान शुरू किया था तो वह विश्व रैंकिंग में छठे स्थान पर था जबकि जर्मनी पहले और ऑस्ट्रेलिया चौथे स्थान पर था। भारत अब रैंकिंग में चौथे स्थान पर आ गया है जबकि जर्मनी तीसरे स्थान पर खिसक गया है।

प्रो लीग में 11 गोल के साथ शीर्ष स्कोरर हरमनप्रीत ने कहा,मुझे लगता है कि ये चीजें (विश्व रैंकिंग) हमारे लिए ज्यादा मायने नहीं रखती है। जब हम खेलते हैं तो हम इसका ध्यान नहीं रखते हैं। हमारी एकमात्र प्राथमिकता मौकों को भुनाना और विपक्षी टीम पर दबाव बनाना है। कुछ युवा खिलाड़ी, जिन्हे अपनी प्रतिभा दिखाने का मौका मिला है, ने अपने और टीम के लिए अच्छा प्रदर्शन किया है।

प्रमुख ड्रैग फ्लिकर ने साथ ही कहा कि विश्व का सबसे ज्यादा सीटों वाला बिरसा मुंडा हॉकी स्टेडियम भारत के लिए भाग्यशाली रहा है क्योंकि यहां भारत कभी एक मैच नहीं हारा है।

भारतीय टीम अब राउरकेला से नई दिल्ली रवाना होगी जहां वह पांचवें हॉकी इंडिया वार्षिक पुरस्कारों में हिस्सा लेगी जो 17 मार्च को होगा। इसके बाद उन्हें दो सप्ताह का ब्रेक मिलेगा। टीम इसके बाद राष्ट्रीय कोचिंग शिविर में इकठ्ठा होगी।

प्रमुख ड्रैग फ्लिकर ने साथ ही कहा कि विश्व का सबसे ज्यादा सीटों वाला बिरसा मुंडा हॉकी स्टेडियम भारत के लिए भाग्यशाली रहा है क्योंकि यहां भारत कभी एक मैच नहीं हारा है।

Also Read: IPL के अनसुने किस्से


Advertisement
TAGS
Advertisement
Advertisement
Advertisement